अक्सर कई लोगों की ये समस्या होती है कि उनकी ब्लड रिपोर्ट में यूरिक एसिड बहुत बढ़ा हुआ सा दिखता है। ये यूरिक एसिड शरीर, हड्डियों और न जाने कितने अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है। कई लोग तो इतना दवाएं रोज़ाना खाते हैं जिनका असर ये होता है कि यूरिक एसिड खून में बढ़ जाता है। आजकल कई लोगों को यूरिक एसिड की समस्या होती है जो न सिर्फ खराब लाइफस्टाइल के कारण होता है बल्कि ये बीपी और शुगर जैसी बीमारियों की दवा खाने के कारण भी हो सकता है। 

शरीर में अगर इस तरह की समस्या हो गई है तो ये बहुत परेशान कर सकती है क्योंकि बढ़ा हुआ यूरिक एसिड सीधे तौर पर हड्डियों और किडनी पर असर कर सकता है। अगर शरीर में यूरिक एसिड बढ़ा है इसका मतलब ये है कि शरीर से टॉक्सिन सही तरह से नहीं निकल रहे। हमने आयुर्वेदिक डॉक्टर दीक्षा भावसार से इसके बारे में बात की। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर भी इसके बारे में बात की है और यूरिक एसिड को कम करने के टिप्स बताए हैं। 

uric acid problems

आज हम इस स्टोरी में यूरिक एरिड से जुड़े कुछ अहम सवालों के जवाब देंगे और आपको बताएंगे कि आखिर किस तरह से इसे कम किया जा सकता है परमानेंटली। तो जो सवाल इस स्टोरी में समझाए गए हैं वो हैं-

1. क्या होता है यूरिक एसिड?

2. किन कारणों से शरीर में यूरिक एसिड बढ़ता है?

3. अपने शरीर में यूरिक एसिड को किस तरह से मैं कम कर सकता/सकती हूं?

4. हाई यूरिक एसिड के लक्षण क्या हैं?

5. खाने में क्या खाएं जिससे आपके ब्लड में यूरिक एसिड कम हो?

तो चलिए आपको बताते हैं इन सभी सवालों के जवाब और जानते हैं कि आखिर किस तरह से अपने शरीर से इस यूरिक एसिड को कम किया जा सकता है। 

uric acid in body

इसे जरूर पढ़ें- महिलाओं की खराब किडनी को हेल्‍दी बनाता है ये '1 हर्ब', एक्‍सपर्ट से जानें कैसे 

क्या होता है यूरिक एसिड?

यूरिक एसिड वेस्ट प्रोडक्ट है जो खून में पाया जाता है। ये तब बनता है जब शरीर केमिकल्स को तोड़कर उसे यूरीन के जरिए निकालने की प्रक्रिया करता है। अधिकतर यूरिक एसिड खून में ही घुला हुआ होता है और किडनी के जरिए वो यूरीन की शक्ल में शरीर को छोड़ देता है। खाने और पीने की चीज़ें जिसमें purines नामक केमिकल ज्यादा होता है वो यूरिक एसिड को बढ़ाती हैं। 

किन कारणों से शरीर में यूरिक एसिड बढ़ता है?

शरीर में यूरिक एसिड तब बढ़ता है जब किडनी यूरिक एसिड को सही तरह से शरीर से बाहर नहीं कर पाती है। ऐसे इन कारणों से हो सकता है-

  • ज्यादा वजन बढ़ना
  • डायबिटीज होना
  • डायूरेटिक्स (ज्यादा यूरिन पैदा करने वाली गोलियां) और वाटर पिल्स लेना
  • ज्यादा मात्रा में शराब का सेवन करना
  • लाइफस्टाइल में बिलकुल भी एक्सरसाइज शामिल न करना
  • हेवी, स्टार्च युक्त और कार्बोनेडेट फूड और ड्रिंक्स पीना
  • किडनी की बीमारी होना
  • ज्यादा नॉन वेज और देर से पचने वाला खाना खाना
  • सोने-जाने का कोई रूटीन नहीं बनाना 
uric acid symptoms

अपने शरीर में यूरिक एसिड को किस तरह से मैं कम कर सकता/सकती हूं? 

यूरिक एसिड लेवल को कम करने के लिए आप कुछ खास टिप्स को जरूर आजमा सकती हैं। जैसे - 

  • हर रोज़ एक्सरसाइज करें
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं
  • कुछ दिनों के लिए हेवी प्रोटीन जैसे दाल/बीन्स या गेहूं को रात के खाने में अवॉइड करें और रात का खाना हल्का खाएं (इसे पूरी तरह से नहीं छोड़ना है)
  • रात 8 बजे के पहले खाना खाने की कोशिश करें
  • आंवला, बेरीज जैसे खट्टे फल खाएं
  • मेटाबॉलिज्म बढ़ाने की कोशिश करें
  • स्ट्रेस लेवल को कम करें
  • हर रात अच्छी नींद लें  

हाई यूरिक एसिड के लक्षण क्या हैं? 

अगर शरीर में यूरिक एसिड बढ़ रहा है तो वो आपको शुरुआत में कुछ पता नहीं चलेगा, लेकिन बाद में गाउट (Gout) या किडनी स्टोन जैसी समस्या हो सकती है। इनके लक्ष्ण हैं- 

गाउट- 

  • जोड़ों में दर्द
  • जोड़ों में अकड़न
  • चलने-फिरने में तकलीफ
  • जोड़ों में सूजन और लालिमा
  • जोड़ों का शेप बदलना 

किडनी स्टोन- 

  • लोअर बैक, साइड, पेट या पिंडली में दर्द होना
  • जी मिचलाना
  • बार-बार यूरिन आने का अहसास होना
  • यूरिन करने में दिक्कत होना, खून आना या दर्द होना
  • यूरिन से बदबू आना 

इसे जरूर पढ़ें- Health Tips: किडनी की बीमारी का आयुर्वेद में मिलता है अचूक इलाज, एक्‍सपर्ट से जानें कैसे 

खाने में क्या खाएं जिससे आपके ब्लड में यूरिक एसिड कम हो? 

एक दवा जो डॉक्टर दीक्षा के मुताबिक यूरिक एसिड को ठीक करने के लिए गुडुची या गिलोय सबसे बेस्ट और असरदार आयुर्वेदिक औषधी हो सकती है।  

कैसे इस्तेमाल करना है गिलोय? 

अगर आपके घर में गिलोय का पौधा है तो आप इसे बहुत ही आसानी से इस्तेमाल कर सकती हैं।  

1. ताज़ा पत्तियों का इस्तेमाल- 

इन्हें रात भर पानी में भिगो कर रखें। इसके बाद इसे क्रश कर उबाल लें और इसके बाद इसे छानकर पी जाएं। इसे उबालते समय आप तुलसी, लौंग आदि भी डाल सकते हैं।  

2. काढ़ा बनाकर खाएं- 

10 ग्राम गिलोय को 400 मिली पानी में रखें इसे सुबह उबालें और इसे छानकर पी जाएं। आप इसमें स्वाद के लिए थोड़ा सा गुड़ भी मिला सकते हैं।  

3. गिलोय पाउडर का इस्तेमाल- 

आप 1 चम्मच गिलोय पाउडर को गुनगुने पानी और शहद में मिलाकर पिएं। 

नोट: हर किसी पर देसी तरीके और आयुर्वेदिक नुस्खे अलग तरह से असर करते हैं। अगर आपको किडनी की कोई बड़ी समस्या है, या आयुर्वेदिक नुस्खे असर नहीं करते तो आप पहले डॉक्टर से सलाह लें और उसके बाद इन्हें ट्राई करें। 

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।