इन दिनों घर का स्वच्छ और स्वस्थ पर्यावरण होना बहुत जरूरी है इसलिए प्लांटिंग करना अधिक घरों में पसंद किया जाने लगा है। प्लांटिंग के जरिए घर को ना सिर्फ फ्रेश हर्ब्स मिलती हैं, बल्कि यह होम डेकोर का भी एक अहम हिस्सा बन गए हैं, जो आपके घर को ब्यूटीफुल बनाते हैं। इसके अलावा, घर में प्लांटिंग करने के लिए बहुत अधिक पैसे भी खर्च नहीं होते हैं, इसलिए प्लांट्स को हर वर्गीय परिवार प्राथमिकता देने लगे हैं। 

कई शोध के अनुसार पौधों की बढ़त होने के लिए बगीचे में सही मिट्टी का होना बहुत जरूरी है। अगर मिट्टी में बेहतर पोषण नहीं होते, तो पौधों की बढ़त होने की संभावना कम हो जाती है। तो चलिए, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से घर पर बगीचे के हिसाब से सही मिट्टी की देखभाल करने के कुछ ऐसे यूजफुल टिप्स के बारे में बताएंगे, जिन्हें अपनाकर आप बेहद आसानी से अपने इनडोर प्लांट्स की सही तरह से केयर कर सकती हैं....

मिट्टी का चुनाव 

soil collection

पौधों के लिए ऐसी मिट्टी का चुनाव करना चाहिए जिसमें सभी पोषक तत्व उचित मात्रा में मौजूद हो। साथ ही जिस मिट्टी की पानी धारण (पीने) करने की क्षमता अच्छी हो।  हालांकि, किसी एक प्रकार कि मिट्टी हर पौधों के लिए उपयुक्त नहीं होती है। मिट्टी का चुनाव पौधे की प्रकृति पर निर्भर करता है। जैसे दोमट मिट्टी लगभग सभी पौधों के लिए अच्छी मानी जाती है क्योंकि इसमें क्ले कि मात्रा अधिक होती है। लेकिन यह मिट्टी आलू और मूंगफली के फसल के लिए उपयुक्त नहीं है। इन फसल के लिए बलुई मिट्टी (अधिक बालू वाली हल्की मिट्टी) ज्यादा बेहतर है।

पौधों के बेहतर विकास के लिए दोमट मिट्टी उपयुक्त है क्योंकि इसमें उच्च पोषक तत्व एवं जल धारण करने की क्षमता अधिक होती है। अगर आपको गमलों में पौधों का रोपण करना है, तो दोमट मिट्टी के साथ कुछ चीज़े मिला सकते हैं। आप कोको पीट और केंचुआ खाद का उपयोग कर सकते हैं क्योंकि गमलों में केवल दोमट मिट्टी का प्रयोग करना उपयुक्त नहीं है। तो चलिए अब हम आपको बताते है बगीचे के लिए मिट्टी तैयार करने के कुछ स्टेप के बारे में...

मिट्टी की प्रकृति को देखें 

nature of soil

पौधे की सही ग्रोथ के लिए सबसे पहले आपको यह देखना होगा कि पौधों के हिसाब से मिट्टी की प्रकृति क्या है? क्या मिट्टी अम्लीय है या क्षारीय है या फिर मिश्रित मिट्टी है? क्योंकि ऐसे कुछ पौधे हैं जिनकी ग्रोथ के लिए मिट्टी में पीएच (pH) लेवल और पोषक तत्व का संतुलन होना बहुत महत्वपूर्ण है। कुछ पौधे की ग्रोथ के लिए अम्लीय मिट्टी और कुछ पौधों के लिए अम्लीय मिट्टी बेहतर होती है। इसलिए आपको विशेष रूप से पौधों के हिसाब से मिट्टी तैयार करनी होगी।

मिट्टी का करें परीक्षण

test of soil for garden

बगीचे में पौधे लगाने से पहले मिट्टी का परीक्षण करना आवश्यक है। परीक्षण करने के लिए आप मिट्टी का लिटमस टेस्ट या पीएच टेस्ट कर सकती हैं। लिटमस टेस्ट करने के लिए आपको मिट्टी के नमूनों को लिटमस पेपर पर डालना होगा। अगर यह पेपर लाल होगा, तो समझ लीजिए कि मिट्टी का पीएच 7 से ऊपर है और यह अम्लीय है। इसके अलावा, आपको परीक्षण में यह भी देखना होगा कि मिट्टी का रंग, बनावट और पानी की खपत कितनी है। 

पोषण का रखें ध्यान 

soil nutrition

गार्डन में मिट्टी की प्रकृति के साथ आपको यह भी ध्यान में रखना होगा कि आपके पौधे स्वस्थ है या नहीं। पौधों की प्रकृति मिट्टी में पोषण तत्व पर निर्भर करती है। पौधों के साथ मिट्टी की देखभाल भी समय-समय पर होनी चाहिए। अगर मिट्टी में किसी भी पोषक तत्व की कमी होती है, तो उसमें उर्वरकों को मिलाने की आवश्यकता है। आप शुरू में प्राकृतिक विधि का ही उपयोग करें और बाद में रासायनिक विधि का प्रयोग कर सकती हैं। 

इसके अलावा, पौधों के सभी पोषक तत्व की कमी को दूर करने के लिए सबसे अच्छा स्रोत है एप्सम साल्ट क्योंकि इसमें मैग्नीशियम-सल्फेट नाइट्रोजन, फास्फोरस और सल्फर सहित प्रमुख खनिजों आदि तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो पौधे के सेल को तेजी को बढ़ाने में मददगार है। 

खाद डालें 

khad

घर में प्लानिंग करने के बाद अक्सर लोगों को पौधों में गुलाब या फूल ना आने जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि कुछ पौधों को ज्यादा मैग्नीशियम की जरूरत होती है। इसके लिए आप पौधे की मिट्टी में खाद डालना शुरू कर दें। खाद बगीचे की मिट्टी में एक जरूरी तत्व है। आप खाद को तैयार करने के लिए अपने घर का कचरा भी इस्तेमाल कर सकती हैं। यह मिट्टी को पोषण और पौधों को खुराक देगा और आपके पौधों की सही ग्रोथ होगी। 

इसे ज़रूर पढ़ें-बारिश के मौसम में बाथरूम में आने वाले केंचुओं से ऐसे पाएं छुटकारा

मिट्टी को नियमित रूप से मिलाएं 

soil change

पौधों की ग्रोथ पूर्ण रूप से तभी होती है जब उसे नियमित रूप से सभी पोषक तत्व मिलते हैं। एक अच्छे प्लांट के लिए जरूरी है बीजों की ग्रोथ पूर्ण रूप से हो। इसलिए आप पौधों की मिट्टी समय-समय पर ऊपर-नीचे करें। बीजों को एक बेहतर शुरुआत देने के लिए यह एक बुनियादी और सर्वोत्तम विधि है। 

Recommended Video

अन्य उपाय करें

पौधों की ग्रोथ के लिए मिट्टी की केवल टेस्टिंग करना ही काफी नहीं है क्योंकि अगर आपके पौधों की मिट्टी अधिक अम्लीय होगी, तो आपको मिट्टी में थोड़ी मात्रा में चुना मिलाना होगा। इसके अलावा, अगर आपकी मिट्टी अधिक क्षारीय है, तो आपको मिट्टी में थोड़ा सल्फर मिलाना होगा। तभी पौधों को ग्रोथ सामान्य तौर पर होगी।

इसे ज़रूर पढ़ें-क्या आप जानती हैं घर में एरेका पाम रखने के ये अद्भुत फायदे

आप इन टिप्स की सहायता से मिट्टी को ज्यादा पोषक तत्व दे सकते हैं। आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें, साथ ही इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।