वैसे तो सोने पूरे साल खरीदा और बेचा जाता है लेकिन शादियों और त्योहारों के दिनों में इसकी खरीदारी और बढ़ जाती है। इन दिनों सोने के दामों में वैसी ही गिरावट दर्ज की गई है तो ऐसे में लोग सोना ज्यादा खरीद रहे हैं लेकिन क्या आपको पता है कि आजकल सोने में मिलावट बड़े पैमाने पर की जा रही है। केंद्र सरकार ने भी इसी दिशा में सोचते हुए हॉलमार्क के नियमों में कई बदलाव किए हैं। अब हॉलमार्क हर सोने पर अनिवार्य कर दिया गया है इसलिए अब कोई भी ज्वेलर्स बिना हॉलमार्क के सोना नहीं बेच सकता है। यह नियम सरकार ने इसलिए बनाया है ताकि ज्वेलर्स से ग्राहक आसानी से शुद्ध सोना खरीद सकें। लेकिन फिर भी आपको असली और नकली सोने में मामूली फर्क पता होना जरूरी है। तो चलिए, हम बताते हैं कि आप कैसे असली और नकली सोने की पहचान कर सकती हैं। 

हॉलमार्क क्या होता है?

 inside  vinegar

गोल्ड की खरीदारी करने से पहले ये जानना जरूरी है कि हॉलमार्क क्या होता है और वह कितने प्रकार के होते हैं आपको बता दें कि हॉलमार्क यह बताता है कि सोना शुद्ध है क्योंकि हर गोल्ड ज्वैलरी पर भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) का मार्क होता है। इसके अलावा, हॉलमार्क हर कैरेट के हिसाब से अलग- अलग होते हैं जैसे- 22 कैरेट पर 916 नंबर का हॉलमार्क होता है, 21 कैरेट पर 875 नंबर का हॉलमार्क होता है और 18 पर 750 का हॉलमार्क होता है।

वैसे भी हॉलमार्क से संबंधित केंद्र सरकार ने नए नियम बना दिए हैं। इस नियम के तहत, अब देशभर के लगभग 256 जिलों में केवल हॉलमार्क गोल्ड की ज्वेलरी ही बिकेगी। साथ ही, अब ज्वेलर्स ग्राहकों को बिना हॉलमार्क वाली गोल्ड ज्वेलरी नहीं बेच सकते हैं। 

हॉलमार्क देखें

inside  chumbak test

असली सोने की सबसे बड़ी पहचान है उसपर लगा हॉलमार्क क्योंकि यह सोने की शुद्धता का प्रमाण है। आप सोने के कैरेट के हिसाब से हॉलमार्क चेक करें। इसके अलावा, अगर आपके सोने पर हॉलमार्क नहीं है तो ये जान लें कि 22 कैरेट का सोना ब्राइट येलो होता है। वहीं, 18 कैरेट के सोने का कलर स्ट्रांग येलो होता है। अगर आपके पास 18 कैरेट से कम का सोना है तो उसका रंग लाइट येलो होगा। सोने को ध्यान से देखने पर ही आपको यह फर्क महसूस होगा। 

चुंबक का करें इस्तेमाल 

inside  water test with gold

आप सोने को चुंबक के साथ टेस्ट करके देख सकती हैं। अगर आपका सोना चुंबक के साथ संपर्क में आने के बाद उसपर चिपक जाता है तो आपका सोना असली नहीं है। अगर सोना चुंबक के साथ संपर्क में आने के बाद नहीं चिपकता तो यह असली है क्योंकि सोना कोई चुम्बकीय धातु नहीं है। 

इसे ज़रूर पढ़ें-शहद में छुपा है आपके मोटापे का सबसे आसान इलाज, ये 3 नुस्खे आएंगे काम

पानी से करें टेस्ट 

inside  smell

आप घर में रहकर आप पानी के प्रयोग से आसानी से सोने की पहचान कर सकती हैं। पानी से सोने की शुद्धता मापने के लिए आप एक कप पानी में सोने को डाल दें अगर आपका सोना पानी में हल्का-सा तैरने लगता है तो उसमें मिलावट है क्योंकि असली सोना पानी में डालते ही नीचे बैठ जाता है। 

Recommended Video

गंध करें चेक 

अक्सर अपने देखा होगा कि जब आपको पसीने आते हैं तो Artificial jewellery में से पसीने की गंध आने लगती है जबकि असली सोना पहनने से ऐसा नहीं होता। पसीने के संपर्क में आने के बाद अगर आपके सोने में से गंध आ रही है तो इसका मतलब है कि आपके सोने में मिलावट है। 

अन्य टिप्स 

inside  smell check

  • आप विनेगर की सहायता से भी असली सोने की पहचान कर सकती हैं अगर विनेगर के साथ संपर्क में आने के बाद आपके सोने के रंग में कोई बदलाव होता है तो आपका सोना नकली है अगर नहीं होता तो वह शुद्ध है। 
  • एसिड टेस्ट के जरिए भी आप सोने की पहचान आसानी से कर सकती हैं। अगर नाइट्रिक एसिड की कुछ बूंदें डालने पर आपके सोने का रंग बदलता है तो समझ लीजिए आपका सोना नकली है। लेकिन यह आपको बहुत सावधानी से करना होगा।

इसके अलावा, बाजार में कई तरह के केमिकल आते हैं जो सोने की शुद्धता मापने के लिए मददगार है आप उसका इस्तेमाल भी कर सकती हैं। 

इसे ज़रूर पढ़ें- कार्पेट साफ करने और उससे आने वाली बदबू को हटाने के लिए अपनाएं ये उपाय

तो लेडिज, आप इन तरीकों से असली और नकली सोने की पहचान कर सकती हैं। अगर आपको ये लेख पसंद आया हो तो इसे Like और Share जरूर करें और जुड़े रहें HerZindagi के साथ।

Image Credit- Freepik And unsplash.com