शादी के बाद महिलाओं का ज्यादातर वक्त घर-गृहस्थी से जुड़ी जिम्मेदारियां निभाने में चला जाता है। घर के सामान की व्यवस्था, खानपान और परिवार के सदस्यों की देखभाल जैसे सभी महत्वपूर्ण काम महिलाएं कुशलता से संभालती हैं। लेकिन कई बार घर में छोटी-छोटी गड़बड़ियों की वजह से घर में तनाव और परेशानियां बढ़ जाते हैं। अगर आपके घर में भी किसी ना किसी बात पर झगड़े हो जाते हैं या फिर परिवार के सदस्यों को हेल्थ प्रॉब्लम्स रहती हैं तो घर के वास्तु पर ध्यान दें। अगर घर में वास्तु के नियमों का ध्यान नहीं रखा जाए तो इससे घर में नेगेटिव एनर्जी का प्रवाह बढ़ जाता है, जिससे घर में तरह-तरह की समस्याएं आती हैं। इन समस्याओं से बचने और पॉजिटिविटी के लिए घर से जुड़े इन वास्तु दोषों को दूर करें-

घर में बिखरे हुए कपड़े

do not scatter clothes

अक्सर घर और ऑफिस की व्यस्तताओं के चलते महिलाएं घर के सभी कामों के लिए समय नहीं निकाल पातीं। ऐसे में कई बार कपड़े यहां-वहां बिखरे पड़े रहते हैं। इससे घर में वास्तु दोष उत्पन्न होता है। अगर साफ कपड़े नहीं पहने जाएं तो उससे भी तनाव और परेशानियां बढ़ती हैं और असहजता महसूस होती है। इसीलिए यह सुनिश्चित करें कि घर में कपड़े व्यवस्थित तरीके से रखे जाएं। अगर घर में पुराने और बेकार कपड़े पड़े हैं तो उनसे भी नेगेटिव एनर्जी प्रवाहित होती है। अगर आप ऐसे कपड़ों को किसी काम में नहीं ला रहे हैं तो उन्हें दान कर देना या घर से बाहर कर देना ही उचित है। 

इसे भी पढ़े: रिद्धि बहल के बताए इन 8 टिप्स को अपनाने से बच्चे पढ़ाई में बनेंगे अव्वल

बिखरी हुई चप्पलें

आज के समय में ज्यादातर घरों में लोग चप्पल-जूते पहनकर रहते हैं। इनकी वजह से घर में बैक्टीरिया, धूल, मिट्टी और गंदगी आते हैं। अगर चप्पल-जूतों को व्यवस्थित करके स्टैंड में रखा जाए तो घर को साफ-सुथरा रखने में मदद मिलती है। इससे घर में पॉजिटिव एनर्जी का प्रवाह बढ़ता है और परिवार में खुशियां बरकरार रहती हैं। 

Recommended Video

जूठे बर्तन

remove vastu dosh wash utensils

कई बार थकान या आलस्य की वजह से खाना खाए जाने के बाद जूठे बर्तन लंबे समय तक सिंक में पड़े रहते हैं। इन बर्तनों में चिकनाई और जूठन लगी होने की वजह से बैक्टीरिया ग्रोथ होती है। इसके कारण वास्तु दोष पैदा होता है। कई बार रात में खाना खाने के बाद भी बर्तन सुबह धोने के लिए छोड़ दिए जाते हैं। यह भी घर-परिवार के सदस्यों की हेल्थ के लिए अच्छा नहीं होता। अगर संभव हो तो जूठे बर्तनों को जल्द से जल्द साफ करके रख दें। इससे ना सिर्फ किचन व्यवस्थित दिखाई देती है, बल्कि किचन में चूहे और कॉक्रोच आदि आने की आशंका भी कम हो जाती है। 

इसे भी पढ़े: नेगेटिविटी से बचने के लिए घर में इन चीजों को रखने से बचें

घर में गंदगी

घर की सफाई में अक्सर काफी ज्यादा समय लग जाता है। इसीलिए कई बार महिलाएं इस ओर ध्यान नहीं देतीं। लेकिन घर गंदा रहने से नेगेटिविटी बढ़ती है। इसके कारण घर में तनाव बढ़ता है और परिवार के सदस्यों के बीच मनमुटाव की स्थिति भी आ सकती है। ऐसे में घर की सफाई बहुत अहम है। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि झाड़ू को खड़ा करके ना रखें और ना ही उसे ऐसी जगह रखें, जिससे चलने के दौरान वह आपके पैरों में आ जाए। 

नल से टपकता पानी

कई बार बाथरूम या किचन में फिटिंग पुरानी होने या उनमें जंग लग जाने की वजह से लीकेज की समस्या हो जाती है। देखा जाता है कि थोड़ा बहुत पानी टपकने पर घर के सदस्य उस पर ध्यान नहीं देते। ऐसा करना सही नहीं है, क्योंकि पानी का टपकना मन में अशांति पैदा करता है। इससे घर में आर्थिक समस्याएं आ सकती हैं। जब भी कहीं लीकेज हो तो उसे प्रायोरिटी पर ठीक कराएं। इससे घर में हमेशा सुख-समृद्धि का वास बना रहेगा। 

इसे भी पढ़े: Vastu Tips: शादी में आ रही है अड़चन तो इन 8 वास्तु टिप्स को अपनाने से सारी मुश्किलें हो जाएंगी दूर

घर में टूट-फूट

घरों में अक्सर छोटी-मोटी चीजें डैमेज होती रहती हैं। कभी कहीं बल्ब फूट जाता है, तो कहीं घड़ियों टूट जाती हैं। इसी तरह कई तरह के इलेक्ट्रॉनिक सामानों में भी खराबी आने की वजह से वे बेकार पड़े रहते हैं। इन सामानों से पड़े होने से घर में वास्तु दोष पैदा होता है। इसीलिए या तो इनकी मरम्मत करा दें या फिर उन्हें घर से बाहर कर दें। 

पीने का पानी खुला रखना

अगर पिया जाने वाला पानी घर में खुला पड़ा रहता है तो उसके वातावरण में मौजूद धूल-कणों से दूषित होने का खतरा पैदा होता है। खुला पानी पीना वा्स्तु दोष भी पैदा करता है। इसीलिए पीने का पानी हमेशा ढंककर रखें। 

घर में मकड़ियों के जाले

घर की सफाई नियमित रूप से नहीं होने पर देखा जाता है कि मकड़ियों के बड़े-बड़े जाले घर में बन जाते हैं। इनके कारण राहु-केतु और शनि अशांति उत्पन्न कर सकते हैं। इससे काम में भी मुश्किलें आ सकती हैं, इसीलिए जालों की सफाई करना महत्वपूर्ण है।

टॉयलेट साफ ना रखना

washroom cleaning

कई बार लापरवाही में परिवार के सदस्य टॉयलेट के दरवाजे खुले छोड़ देते हैं। टॉयलेट में सबसे ज्यादा बैक्टीरिया ग्रोथ होती है, इसीलिए इनका दरवाजा इस्तेमाल के बाद बंद रहना उचित रहता है। साथ ही टॉयलेट की नियमित सफाई पर भी विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। इससे घर में पॉजिटिव एनर्जी का प्रवाह बढ़ता है।

घर में वेंटिलेशन ना होना

आज के समय में स्पेस की कमी की वजह से बहुत से घरों में प्रॉपर वेंटिलेशन की व्यवस्था नहीं होती। अगर घर में ताजी हवा का प्रवाह ना हो तो इससे घर के सदस्यों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। घर में हवा और नेचुरल लाइट नहीं आने की वजह से मन में नेगेटिव फीलिंग्स आती हैं और डिप्रेशन, तनाव जैसी समस्याएं बढ़ने लगती हैं। इसीलिए घर के उचित वेंटिलेशन पर ध्यान दें।

इन वास्तु दोषों के बारे में जानने के बाद उन्हें दूर करने की दिशा में काम करें। इससे आपके घर में सदैव खुशियों का वास रहेगा। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे जरूर शेयर करें। घर को बेहतर बनाने से जुड़े अन्य वास्तु टिप्स के लिए विजिट करती रहें हरजिंदगी।

Image Courtesy: Freepik, thesun, pickardproperties