पर्सनल हाइजीन का एक अनिवार्य पहलू इंटिमेट हाइजीन है, और जैसा कि आप पहले से ही जानते हैं, यह हाइजीन का सबसे महत्वपूर्ण रूप है। जी हां इंटिमेट हाइजीन बनाए रखना महिलाओं के लिए बेहद जरूरी है, न केवल स्वच्छ और फ्रेश महसूस करने के लिए, बल्कि यूटीआई जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से बचने के लिए भी बेहद जरूरी है। मानव शरीर के हाइजीन एरिया में मौजूद शरीर के टिश्‍यु के सेंसिटिव प्रकृति के कारण, हाइजीन की अनदेखी या जरूरत से ज्‍यादा साफ करने से जलन और इंफेक्‍शन दोनों हो सकते हैं।

 

इंटिमेट हाइजीन के कुछ आसान तरीके

  • दिन में 2 बार इंटिमेट एरिया को धीरे-धीरे साफ करें। लेकिन ध्‍यान रखें कि दिन में 2 बार से ज्‍यादा करने से जलन, खुजली और ड्राईनेस की समस्‍या हो सकती है।
  • इस एरिया की त्‍वचा पर हार्ड वॉटर, हार्श साबुन आदि का इस्‍तेमाल करने से बचें। हमेशा जेंटल और माइल्‍ड प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल करें।
  • ध्‍यान रखें कि आप जिस पानी का इस्‍तेमाल कर रहे हैं वह बहुत ज्यादा गर्म न हो। वेजाइनल डिस्‍चार्ज से परेशान हैं तो इसके कारण और उपचार के बारे में जानें
  • हमेशा साफ अंडरवियर पहनें। इंटिमेट हाइजीन के लिए ये सबसे आसान काम है और इसके दूरगामी प्रभाव देखने को मिलते है।
  • पीरियड्स के दौरान, सैनिटरी पैड / टैम्पोन को जल्‍दी-जल्‍दी और बार-बार बदलें।
  • ऐसे कपड़े न पहनें जो बहुत टाइट हों। इससे जलन होने लगती है और यह इस एरिया में ब्‍लड सर्कुलेशन को भी प्रभावित करता है। 
 

Recommended Video

  • इस हिस्‍से की त्‍वचा को हर समय ड्राई रखने की कोशिश करें। 
  • अगर आवश्‍यक हो तो सूदिंग क्रीम या ऑइंटमेंट का इस्‍तेमाल करें। 
  • अगर इस एरिया से किसी तरह की अजीब गंध या एलर्जी आती है तो देरी किए बिना तुरंत अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें। 
  • अगर आप प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल कर रहे हैं, तो सलाह दी जाती है कि इनका इस्‍तेमाल बाहरी रूप से करें, आंतरिक रूप से बिल्‍कुल न करें। इस तरह के प्रोडक्‍ट के आंतरिक इस्‍तेमाल से एक निश्चित प्रकार के हानिकारक केमिकल के संपर्क में आने की क्षमता बढ़ती है, जिन्हें 'phthalates' कहा जाता है।
  • डॉक्टरों का यह भी मनाना है कि हेल्‍दी वेजाइना खुद ही अपनी सफाई करने में सक्षम होती है।

निष्कर्ष

पूरी हेल्‍थ को बनाए रखने के लिए फेमिनिन हाइजीन जरूरी है। हालांकि बाजार में उपलब्‍ध विभिन्न हाइजीन प्रोडक्‍ट इंटिमेंट एरिया को साफ रखने में मदद करते है। लेकिन इस बात का ध्‍यान रखना जरूरी है कि हाइपोएलर्जेनिक, सोप-फ्री, पीएच फ्रेंडली, माइल्‍ड क्लींजर, बिना जलन और ड्राईनेस से सुरक्षा प्रदान करने वाले और माइक्रोफ़्लोरा में बैलेंस बनाए रखने में मदद करने वाले प्रोडक्‍ट का ही इस्‍तेमाल करें। हालांकि, जैसा कि आप जानते हैं कि सभी का शरीर अलग-अलग होता हैं, किसी भी प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टरों से परामर्श करना हमेशा सही रहता है। एक हेल्‍दी फेमिनिन रुटीन और लाइफस्‍टाइल को सुनिश्चित करने के लिए इन टिप्‍स को ध्यान में रखा जा सकता है।

डॉक्‍टर विजया बाबरे (DNB, FCPS, FICOG, DGO, DFP, DHA) को एक्‍सपर्ट सलाह के लिए विशेष धन्यवाद।

Reference:

https://www.saforelle.com/en/health-tips/intimate-hygiene/
https://www.huffingtonpost.co.uk/2015/07/16/vaginal-douching-warning-health-study_n_7809496.html?guccounter=1&guce_referrer=aHR0cHM6Ly93d3cuZ29vZ2xlLmNvbS8&guce_referrer_sig=AQAAAL8CPsZ49vEVVsfgoYi6a8qOj_FChJP9FB-hSghQFVRhDlVrDR3RLEoqlJrmjrI3_9Jb1FtyIqKbZDA7ZX5Oa8tqTVE1FxkuEbjnrFdy8R1GH67ko_FgghRf6gRcNGU8JBRZaOEkgH7y0fmxr0tmXCHOvzoJ7Zd4yUHjzR_2fjet

Picture courtesy: Vectorstock – Google images