• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

इसे पढ़ने के बाद आप अपने बच्चे को स्मोकिंग से जरूर रखेंगी दूर

स्मोकिंग के दुष्प्रभावों से अपने बच्चे को जरूर बचाएं, क्योंकि इससे उसके दिल और दिमाग पर बुरा असर होने के साथ-साथ सुनने की क्षमता भी बाधित हो सकती है।
Published -07 Jun 2018, 12:29 ISTUpdated -09 Jul 2018, 16:34 IST
Next
Article
smoking ill effects main

अगर आपके घर में कोई स्मोकिंग करता है और आप सिर्फ संकोच में बच्चे को उससे दूर नहीं रख पातीं तो आपके बच्चे की सेहत पर इससे बुरा असर पड़ सकता है। आपको इस बात की तरफ विशेष ध्यान देने  की जरूरत है कि उनके बच्चे सिगरेट के धुएं के संपर्क में ना आएं। एक ताजा स्टडी में स्मोकिंग से जुड़े दुष्प्रभावों के बारे में बताया गया है। जापान में हुई इस पीडियाट्रिक एंड पेरिनेटल एपिडेमियोलॉजी स्टडी में कहा गया कि तंबाकू के धुएं के संपर्क में आने से गर्भस्थ शिशु और नवजात शिशु की सुनने की शक्ति कमजोर हो सकती है। 

स्मोकिंग का शिशुओं की सेहत पर बुरा असर 

smoking ill effects inside

यह स्टडी 3 साल के 50,374 बच्चों पर की गई। इनमें 3.8 फीसदी शिशु प्रेगनेंसी के दौरान स्मोकिंग के सामने एक्सपोज हुए थे। 15.2 फीसदी शिशु मां की प्रेगनेंसी से पहले की गई स्मोकिंग से प्रभावित थे। 3.9 फीसदी चार महीनों में सेकेंड हैंड स्मोकिंग से एक्सपोज हुए, वहीं 0.9 फीसदी प्रेगनेंसी के दौरान टोबेको स्मोक से एक्सपोज हुए। इस स्टडी के अनुसार 3 वर्ष के उम्र के बच्चों में स्मोकिंग से सुनने की क्षमता 4.6 प्रतिशत तक बाधित होती है। 

Read more : ये '1 चीज' आपको जितना रुलाएगी उतना ही रखेगी फिट और हेल्‍दी

स्वस्थ शिशु के लिए फौरन छोड़ दें स्मोकिंग

जो बच्चे जन्म से पहले और जन्म के चार महीने तक स्मोकिंग के संपर्क में नहीं आए, उनकी तुलना में ऐसे बच्चे जो मां की मां की प्रेगनेंसी से पहले की सिगरेट स्मोकिंग से प्रभावित हुए, की सुनने की क्षमता प्रभावित होने का अंदेशा 24 प्रतिशत तक जताया गया। वहीं ऐसे बच्चे जो चार महीने की उम्र में सेकेंड हैंड स्मोक के शिकार हुए, में सुनने की क्षमता बाधित होने का अंदेशा 30 फीसदी था। 

smoking ill effects inside

वहीं ऐसे शिशु जो प्रेगनेंसी के दौरान स्मोकिंग से एक्सपोज हुए में सुनाई देने की क्षमता का 68 फीसदी तक बाधित होने का अंदेशा था। सीनियर ऑथर कोजी कावाकामी ने कहा, 'हालांकि पब्लिक हेल्थ गाइडलाइन्स में प्रेगनेंसी के दौरान और बच्चों के सामने स्मोकिंग ना किए जाने की गाइडलाइन्स पहले ही जारी की गई हैं, लेकिन कई महिलाएं स्मोकिंग करती हैं, जिससे खतरा और बढ़ जाता है। यह स्टडी इस बात की तरफ संकेत करती है कि प्रेगनेंसी के दौरान और डिलीवरी के बाद टोबेको स्मोक से बच्चे का बचाव किया जाए ताकि उसे हियरिंग प्रॉब्लम्स से बचाया जा सके। यह स्टडी पीडियाट्रिक एंड पेरीनेटेल एपीडेमियोलॉजी में प्रकाशित हुई है। 

Recommended Video

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।