• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Expert Tips: नाखून जल्‍दी टूट या छिल जाते हैं तो हो सकता है इस बीमारी का संकेत

अगर आपके नाखून भी जल्‍दी फट, छिल या टूट जाते हैं तो सावधान हो जाएं, क्‍योंकि यह खतरनाक बीमारी का लक्षण हो सकता है।  
author-profile
Published -21 Jul 2022, 19:41 ISTUpdated -22 Jul 2022, 10:13 IST
Next
Article
brittle nails sign of thyroid

Verified by Niharikka Budhwani, Co founder of Health Hatch

क्‍या आपके नाखून जल्‍दी टूट जाते हैं।
क्‍या आपके नाखून फटे हुए से दिखाई देते हैं। 

तो आपको सचेत हो जाना चाहिए क्‍योंकि यह बीमारी का संकेत हो सकते हैं। आज हम आपको बताएंगे कि यह किस बीमारी का संकेत देते हैं। एक पोषण कंपनी हेल्थ हैच की एक्‍सपर्ट निहारिका बुधवानी ने हाल ही में इससे जुड़ा एक वीडियो अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से शेयर किया है।

वीडियो शेयर करते हुए उन्‍होंने कैप्‍शन में लिखा, 'आपके नाखून केराटिन से बने होते हैं जो हमारी उंगलियों और पैर की उंगलियों की रक्षा करते हैं और हम में से कई लोगों के नाखून भंगुर होते हैं, यानी यह फट, छिल और टूट जाते हैं। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि यह कुछ अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थिति जैसे आयरन की कमी और हाइपोथायरायडिज्म के कारण हो सकता है।'

आयरन की कमी

जब शरीर को पर्याप्त आयरन नहीं मिलता है तो इससे रेड ब्‍लड सेल्‍स का लेवल कम हो जाता है, जिससे नाखून भंगुर हो जाते हैं। आपका डॉक्टर आपके फेरिटिन लेवल को माप सकता है और सप्‍लीमेंट प्रदान कर सकता है या यदि यह कम पाया जाता है तो आयरन युक्त फूड्स खाने की सलाह दे सकता है।

एनीमिया, या कम ब्‍लड सेल्‍स की गिनती का सबसे आम कारण ब्‍लड में पर्याप्त आयरन नहीं है। यह तब हो सकता है जब आप बहुत अधिक ब्‍लड खो देती हैं। आपकी बॉडी में इसकी कमी तब भी हो सकती हैं जब आपको अपने आहार में पर्याप्त आयरन नहीं मिलता है या ऐसी स्थिति है जो आपको इसे अवशोषित करने से रोकती है। एनीमिया आपके नाखूनों को भंगुर बना सकता है।

इसे जरूर पढ़ें: थायरॉयड के कारण वजन घटाना हो रहा है मुश्किल? करें ये उपाय और देखें बदलाव

हाइपोथायरायडिज्म

skin symptoms of  thyroid

हाइपोथायरायडिज्म से ग्रस्‍त महिलाओं में ड्राई, भंगुर और मोटे या डल हेयर और पतले नाखून जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं। ऐसे में नाखून आसानी से टूट जाते हैं। जब लोग थायराइड हार्मोन थेरेपी शुरू करते हैं तो ये लक्षण आमतौर पर दूर हो जाते हैं।

हाइपोथायरायडिज्म, या एक अंडरएक्टिव थायरॉयड, तब होता है जब थायरॉयड ग्‍लैंड बहुत कम हार्मोन का उत्पादन करती है। थायरॉयड हार्मोन का निम्न स्तर मानसिक कामकाज में बदलाव से लेकर पाचन संबंधी समस्याओं तक कई तरह के संकेत और लक्षण पैदा कर सकता है।

थायरॉयड एक तितली के आकार की ग्रंथि है जो गर्दन के सामने बैठती है। थायरॉयड हार्मोन मेटाबॉलिज्‍म और ऊर्जा के उपयोग को विनियमित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और शरीर के लगभग सभी अंगों को प्रभावित करते हैं। प्रारंभिक अवस्था में, किसी व्यक्ति को कोई लक्षण दिखाई नहीं दे सकते हैं। हालांकि, उपचार के बिना, हाइपोथायरायडिज्म इनफर्टिलिटी और हार्ट रोग जैसी गंभीर जटिलताओं को जन्म दे सकता है।

Recommended Video

इससे बचने के उपाय

healthy diet

सबसे पहले इसका मूल कारण पता करें। 

  • यदि आप में आयरन की कमी है तो अपनी डाइट में आयरन युक्त फूड्स को शामिल करना शुरू करें। 
  • आयरन के साथ विटामिन-सी से भरपूर फूड्स लेने से आयरन के बेहतर अवशोषण में मदद मिलती है। 
  • यदि आपको थायरॉयड की समस्या है, तो दवा लेने/दवा बदलने के लिए डॉक्टर से सलाह लें। 
  • साथ ही अपनी जीवनशैली पर काम करें, यानी संतुलित भोजन करें और एक्‍सरसाइज करें और अपने तनाव लेवल पर काम करें।

आशा है कि यह आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित होगा। इसे अपने परिवार और दोस्तों के शेयर करें। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image Credit: Shutterstock

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।