कोरोना वायरस संक्रमण जिस तेज़ी से पूरी दुनिया में बढ़ रहा है उससे सिर्फ यही कहा जा सकता है कि इस वक्त हर किसी को सावधानी बरतने की जरूरत है। पहले भारत 25 मार्च से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन में था, लेकिन 13 अप्रैल की स्पीच में पीएम मोदी ने एक और बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने कहा है कि लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ेगा और साथ ही साथ अगले एक हफ्ते के लिए कड़ी निगरानी रखी जाएगी। पीएम मोदी ने इम्यूनिटी बढ़ाने को लेकर भी कई बातें कहीं और बोला कि आयुष मिनिस्ट्री की गाइडलाइन्स का पालन करने से इम्यूनिटी बढ़ेगी। पीएम मोदी ने कुछ समय पहले आयुष मिनिस्ट्री की गाइडलाइन्स बताई थीं।  जब हर कोई घर के अंदर बंद है तो हम अपनी इम्यूनिटी पर कुछ काम कर सकते हैं। COVID-19 से बचने के लिए इम्यूनिटी का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। हमारी सतर्कता ही इस महामारी से हमें बचा सकती है।

शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कई तरीके होते हैं और इस वक्त ये बहुत जरूरी है कि हर कोई अपने खराब मेटाबॉलिज्म को और इम्यूनिटी को ठीक करने के लिए कोई न कोई प्रयत्न करे। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए ये बहुत जरूरी है, लेकिन आखिर किया क्या जाए? जब मालूम है कि कोई वैक्सीन नहीं है तो COVID-19 से लड़ने के लिए मिनिस्ट्री ऑफ आयुष की तरफ से कुछ गाइडलाइन्स जारी की गई हैं। ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने हर सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर की हैं।

इसे जरूर पढ़ें- फैट को कुछ ही दिनों में पिघला देगी जीरा-अदरक से बनी ये डिटॉक्स ड्रिंक

ayush ministry immunity booster

क्या करना है इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए-

मिनिस्ट्री ऑफ आयुष की गाइडलाइन्स के हिसाब से सभी को दिन में गर्म पानी पीते रहना चाहिए

इसे के साथ दैनिक योगा करना भी जरूरी है। इसके लिए आप प्राणायाम और मेडिटेशन का सहारा ले सकते हैं ये कम से कम 30 मिनट करना जरूरी है।

ayush ministery immunity

अपने खाने और दैनिक डाइट में कुछ मसालों को शामिल करना न भूलें। इसमें हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन शामिल हैं।

दिन में एक चम्मच चवनप्राश खाएं और ये इम्यूनिटी बढ़ाने और हेल्थ को सही रखने के लिए अच्छी हैं।

Recommended Video

आयुष मिनिस्ट्री द्वारा बताई गई काढ़ा बनाने की रेसिपी-

आयुष मिनिस्ट्री की गाइडलाइन्स में काढ़ा भी शामिल है। इसमें तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सूखी हुई अदरक, मुनक्का आदि मिलाकर एक घोल बनाना है और इस काढ़े में गुड़ या नींबू का रस भी मिला सकते हैं। सभी चीज़ों को उबालना है और ठंडा कर पीना है।

इसके अलावा, जो इम्यूनिटी बढ़ाने का इलाज बताया गया है उसमें हल्दी वाला दूध यानी गोल्डन मिल्क भी शामिल है। 150 मिली गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाएं।

इसे जरूर पढ़ें- कोरोना वायरस के डर के बीच कैसे करवाएं ब्रेस्टफीडिंग, WHO ने जारी की गाइडलाइन्स

साथ ही बताए दो आयुर्वेदिक नुस्खे-

पीएम मोदी ने जो ट्वीट किया उसमें दो आयुर्वेदिक नुस्खे भी बताए गए जो कई तरह से हमारी सेहत का ध्यान रखने के लिए जरूरी हैं।

covid  ayush ministry guidelines

1. नारियल तेल या तिल के तेल का इस्तेमाल-

इस नुस्खे में आपको सुबह और शाम अपनी नाक में थोड़ा सा नारियल तेल या तिल का तेल लगाना है। ये सांस संबंधित समस्याओं के लिए अच्छा नुस्खा है।

2. ऑयल पुलिंग थेरेपी-

1 चम्मच नारियल का तेल या तिल का तेल अपने मुंह में लें, इसे पीना या गुटकना नहीं है। इसे 2-3 मिनट अपने मुंह में रखकर कुल्ला करना है। इसके बाद अपना मुंह गर्म पानी से धो लेना है।

सूखी खांसी और गले की खराश के लिए ये देसी नुस्खे-

मिनिस्ट्री ऑफ आयुष की तरफ से सूखी खांसी के लिए भी कुछ देसी नुस्खे दिए गए हैं। इसमें सबसे पहले स्टीम लेना है।

guidelines for covid

पुदीने के पत्ते गर्म पानी में डालकर स्टीम ली जा सकती है। इसी के साथ आप अजवाइन या लौंग पाउडर को शहद में मिलाकर दिन में 2-3 बार ले सकती हैं।



इस वक्त लॉक डाउन की स्तिथि में सेल्फ आइसोलेशन यकीनन बहुत अकेलापन दे सकता है, लेकिन इस वक्त एक दूसरे का साथ देना बहुत ज्यादा जरूरी है। ये अकेलापन ही कोरोना वायरस से लड़ने में हमारा साथी बन सकता है। इसी बीच आप अपनी इम्यूनिटी का खयाल रखें और साथ ही साथ ऐसी अन्य खबरों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी से।