प्रेग्‍नेंसी के साथ ही महिलाओं में कई शारीरिक बदलाव आते हैं। इनमें से कुछ बदलाव अच्‍छी तरह से दिखाई देते हैं और कुछ नजर भी नहीं आते हैं। स्किन डिसकलरेशन इन्‍हीं बदलावों में से एक है जो चेहरे पर नजर आता है या फिर इसे गाल, माथे, नाक और अपर लिप्‍स पर डार्क पैचेज के रूप में देखा जा सकता है। हालांकि प्रेग्‍नेंसी के दौरान होने वाले यह अस्‍थायी परिवर्तन हैं और डिलीवरी के बाद धीरे-धीरे कम होने लगते हैं। इन बदलावों का मां और बच्‍चे दोनों के ही स्‍वास्‍थ्‍य पर न तो कोई गलत प्रभाव पड़ता है और न ही यह मानव शरीर की सुंदरता को स्‍थायी रूप से कोई नुकसान पहुंचाते हैं। आइए एक्‍सपर्ट से इस बारे में विस्‍तार से जानकारी लेते हैं।

प्रेग्‍नेंसी के दौरान स्किन डिसकलरेशन की शुरुआत कब होती है?

स्किन डिसकलरेशन 70% प्रेग्‍नेंट महिलाओं को प्रभावित करता है और यह प्रेग्‍नेंसी के सभी चरणों के दौरान आम है। हालांकि यह प्रेग्‍नेंसी के साथ धीरे-धीरे बढ़ता है और प्रेग्‍नेंसी के दूसरे ट्राइमेस्टर के दौरान यह अपने चरम पर होता है। प्रेग्‍नेंसी के दौरान चेहरे पर तिल और झाईयां नार्मल से अधिक डार्क दिखाई देने लग जाते हैं। नेचुरल डार्क स्किन वाली महिलाएं ब्लड में मेलेनिन के स्‍तर के बढ़ने से इस स्थिति से ज्‍यादा प्रभावित होती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: आखिर प्रेगनेंसी में क्यों होती है खुजली, इस दौरान स्किन में होने वाले बदलावों पर डालें एक नजर

प्रेग्‍नेंसी के दौरान स्किन डिसकलरेशन के कारण क्‍या होते हैं?

प्रेग्‍नेंसी के दौरान स्किन डिसकलरेशन का एकमात्र कारण शरीर में हार्मोन के स्‍तर का उतार-चढ़ाव होता है। प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन के स्‍तर में वृद्धि से मेलेनिन अधिक बनने लगता है, जिससे हाइपरपिग्‍मेंटेशन को बढ़ावा मिलता है।

Recommended Video

प्रेग्‍नेंसी के दौरान स्किन डिसकलरेशन से निपटने के लिए मैं क्‍या कर सकती हूं?

शरीर में आंतरिक हार्मोनल परिवर्तन के कारण स्किन डिसकलरेशन होता है। इसलिए आप इसे रोकने के लिए बहुत कुछ नहीं कर सकते। हालांकि कुछ स्मार्ट स्‍टेप्‍स हैं जो आप त्वचा को आगे और स्थायी नुकसान से बचाने के लिए किए जा सकते हैं। फॉलो करने के लिए कुछ सुझाव नीचे दिए गए हैं:

patches on face during pregnancy inside

  • अपनी त्‍वचा को ढककर रखें- सनस्‍क्रीन लगाने के बाद भी सन एक्‍सपोजर से बचें क्‍योंकि यह स्किन डिसकलरेशन और भी खराब स्थिति में पहुंचा सकता है। कैप या हैट पहनने की कोशिश करें, जो चेहरे को सीधी धूप लगने से बचा सके। 
  • एसपीएफ 30 या इससे भी ज्‍यादा एसपीएफ की सनस्क्रीन का उपयोग करें- सनस्‍क्रीन का इस्‍तेमाल तब भी करें जब आप घर से बाहर न निकल रही हों। सूर्य की किरणें आपके घर के दरवाजों और खिड़कियों के माध्‍यम से घर में प्रवेश कर सकती हैं और आपकी त्‍वचा को प्रभावित कर सकती हैं। 
  • फोलिक एसिड का सेवन करें- स्किन डिसकलरेशन के कुछ प्रकार फोलिक एसिड की कमी होने के कारण भी हो सकते हैं। अपनी डाइट या विटामिन की गोलियों के माध्यम से डॉक्‍टर द्वारा निर्धारित फोलिक एसिड की पर्याप्त मात्रा का सेवन करें।

मेरी त्वचा कैसे और कब वापस नॉर्मल हो जाएगी?

प्रेग्‍नेंसी के तुरंत बाद स्किन डिसकलरेशन हल्‍का होने लगता है। अगर ये प्रेग्‍नेंसी के बाद भी लगातार बना रहता है तो डर्मेटोलॉजिस्ट की सलाह जरूर लें।

डॉक्‍टर डिम्‍पल चुडगर (एमडी, डीएनबी, एफसीपीएस, डीजीओ, डिप्लोमा इन एडवांस लैप जर्मनी, फेलो रोबोटिक सर्जरी, यूएसए) को एक्‍सपर्ट सलाह के लिए विशेष धन्‍यवाद। 

Reference:

https://www.whattoexpect.com/pregnancy/symptoms-and-solutions/skin-discoloration.aspx

https://www.foxnews.com/health/melasma-how-to-cope-with-skin-discoloration-during-pregnancy

https://www.whattoexpect.com/pregnancy/symptoms-and-solutions/melasma-mask-of-pregnancy/