हर साल 16 मई को नेशनल डेंगू डे मनाया जाता है ताकि डेंगू के बारे में जागरूकता पैदा की जा सके, और ट्रांसमिशन सीजन शुरू होने से पहले बीमारी को कंट्रोल और बचने के उपायों को तेज किया जा सके। डेंगू डे के मौके पर हम आपके साथ इसके उपचार में सबसे ज्‍यादा इस्‍तेमाल होने वाले घरेलू उपचारों के बारे में बताने जा रहे हैं। जी हां डेंगू बुखार के लिए कोई ज्ञात इलाज नहीं होने के कारण, ज्‍यादातर लोग डेंगू के लिए घरेलू उपचार की उम्मीद करते हैं, क्योंकि उन्हें लगता हैं कि यह उन्‍हें जल्दी ठीक कर देगा। लेकिन पारंपरिक डेंगू के लिए घरेलू उपचार सही नहीं है। एसोसिएट प्रोफेसर ऑफ़ मेडिसिन और जीटी अस्पताल में मेडिसिन यूनिट के प्रमुख और मुंबई में सर जेजे ग्रुप ऑफ़ हॉस्पिटल्स के डॉक्‍टर प्रोफेसर प्रीति समदानी ने एक मीडिया हाउस को इस बारे में बताया है। उनका कहना है कि ''डेंगू होने पर लोगों को लिक्विड ज्‍यादा से ज्‍यादा लेना चाहिए और पपीते का रस पीने, तुलसी की चाय और कीवी और ड्रैगन फ्रूट खाने की बजाय ब्‍लीडिंग के लक्षणों की तलाश करनी चाहिए!

वर्षों से डेंगू के घरेलू उपचार कई देशों में एक पारंपरिक प्रथा है; जब भी किसी को कोई बीमारी होती है, तो दोस्त और परिवार किस्से शेयर करने लगते हैं कि कैसे फल और ड्रिंक से रिकवरी तेज हो जाती हैं।

"डेंगू का अच्‍छा और कोई विशिष्ट डेंगू ट्रीटमेंट उपलब्ध नहीं होने के कारण, लोग ठीक होने के लिए घरेलू उपचार लेने लगते हैं," प्रोफेसर समदानी कहती हैं। "भारत में, लगभग हर डेंगू रोगी मेरे पास घरेलू उपचार की एक सूची के साथ आता है।"

इसे जरूर पढ़ें: कैसे होता है डेंगू, और क्या हैं इसके symptoms और treatment? जानें 

dengue virus health

पपीते की पत्तियों से लेकर व्हीटग्रास जूस तक

भारत में, पपीते के पत्ते का रस पीना सबसे आम डेंगू घरेलू उपचारों में से एक है। लोग पपीते के ताजे पत्ते पेड़ से सीधे लेते हैं, उन्हें पानी में भिगोते हैं और पीसकर दिन में दो या तीन चम्मच चार या पांच बार पीते हैं। प्रोफेसर समदानी कहती हैं, "मैंने सुना है कि इसे कड़वा स्वाद होता है।" “फिर भी, ज्यादातर लोग इसे लेते हैं। डेंगू के साथ हॉस्पिटल में भर्ती होने वाले प्रत्येक व्यक्ति की पास हरे रंग की छोटी बोतल होती है। यह पपीते की पत्ती का अर्क या पपीते के पत्ते का रस होता है।"

अन्य सामान्य डेंगू घरेलू उपचारों में ड्रैगन फ्रूट और अन्य फल जैसे किवी फल खाना शामिल है। लोगों का मानना है कि इन उपायों से उनकी प्लेटलेट काउंट बढ़ जाएंगे, जो अक्सर डेंगू के मरीजों के लिए सबसे बड़ा डर होता है। उनका कहना हैं, ''हीमोग्लोबिन का बढ़ना प्लेटलेट काउंट में गिरावट की तुलना बुरा परिणाम है। '' लेकिन कई मरीजों को प्लेटलेट काउंट की ज्यादा चिंता होती है।''

कुछ लोगों का मानना है कि तुलसी के पत्ते की चाय और धनिया पत्ती की चाय में एक एंटी-वायरल गुण होते हैं जो ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार करते है, जो डेंगू वायरस से राहत देने में मदद करता है। जबकि कुछ लोग अनार खाते हैं तो व्हीटग्रास जूस पीते हैं या कुछ विटामिन सी से भरपूर फूड्स लेते का हैं।

home remedies for dengue papaya leave

पूरी तरह से मददगार नहीं है घरेलू उपचार

डेंगू एक स्व-सीमित बीमारी है और ज्‍यादातर लोग समय के साथ ठीक हो जाते है। जब डेंगू से बचाव की बात आती है, तो घरेलू उपचार उन्हें किसी भी तरह से फायदा नहीं पहुंचाते हैं। प्रोफेसर समदानी कहते हैं, "डेंगू के लिए घरेलू उपचार निश्चित रूप से गति में सुधार करने में मदद नहीं करते हैं।" "वे एंटी-वायरल एक्टिविटी, प्लेटलेट काउंट में सुधार, हीमोग्लोबिन को कम करने, राहत देने या जल्दी ठीक करने के मामले में रोगियों की मदद नहीं करते हैं।"

फिर भी मरीज फंस गए हैं क्योंकि डॉक्टरों के पास उन्हें रोगसूचक उपचार देने के अलावा कुछ भी नहीं होता है। उनमें से ज्यादातर जानते हैं कि दवाओं से अलग कोई इलाज नहीं है जो रोगसूचक उपचार प्रदान करते हैं। डॉक्टर उन्हें कितना बताते हैं, इसके बावजूद कई मरीज डेंगू के घरेलू उपचार का इस्तेमाल करते हैं। उन्हें लगता है कि यही उनकी मदद करेंगे।



डॉक्‍टर का कहना हैं, "मैं उन्हें बताता हूं कि घरेलू उपचार जल्दी और बेहतर तरीके से काम करने में हेल्‍प नहीं करते हैं। लेकिन अगर आप चाहते हैं कि आप घरेलू उपाय लें, तो सुनिश्चित करें कि वे अच्छी तरह से बनाए गए और साफ हो।"

home remedies for dengue wheat grass

ज्‍यादा से ज्‍यादा लिक्विड लें

हालांकि फल और पत्तियों पूरी तरह से प्राकृतिक होने के कारण, डेंगू के घरेलू उपचार लेने वाले लोगों को किसी भी गंभीर साइड इफेक्‍ट के जोखिम में नहीं डालते हैं। लेकिन कुछ लोगों को पपीते की पत्तियां को लेने से मतली या उल्टी हो सकती हैं क्योंकि ये बहुत ज्‍यादा खट्टे होते हैं। हालांकि, डेंगू के लिए गए घरेलू उपचार का मुख्य जोखिम यह है कि मरीजों को लगता है कि उन्हें संपूर्ण समग्र उपचार मिल रहा है जिसकी उन्‍हें जरूरत है; और वे प्लेटलेट काउंट में गिरावट को रोक रहे हैं लेकिन ये डेंगू के लिए मुख्य जोखिम है।

इसे जरूर पढ़ें: साल दर साल बढ़ रहा है dengue का डंक, आप कितने हैं तैयार?

“हमें यह जागरूकता बढ़ाने की आवश्यकता है कि यह प्लेटलेट में गिरावट नहीं है जो अधिक खतरनाक है; डॉक्‍टर कहते हैं कि यह हेमटोक्रिट और हीमोग्लोबिन में वृद्धि के कारण और जटिलताएं पैदा कर सकता है। "यह महत्वपूर्ण है कि ऐसे में ज्‍यादा से ज्‍यादा लिक्विड लें और डेंगू के लिए इन छोटे घरेलू उपचारों पर फोकस करने के बजाय ब्‍लीडिंग के संकेतों की तलाश करें।"


डेंगू के घरेलू उपचार उपलब्ध हैं, लेकिन वे इस बीमारी का इलाज नहीं हैं। और न ही ये आपको तेजी से ठीक करने में मदद करते हैं और ये हेमटोक्रिट और हीमोग्लोबिन के लेवल को बढ़ने से रोकने के लिए कुछ नहीं करते हैं।

लेकिन अगर आपको दुर्भाग्‍य से डेंगू हो जाता है, तो ये 3 आसान उपाय करें

  • ज्‍यादा से ज्‍यादा पानी पीएं।
  • ब्‍लीडिंग के लक्षण को देखें
  • अपने डॉक्‍टर की सलाह पर ध्‍यान दें।