आज हर कोई अपनी हेल्‍थ के प्रति इतना जागरूक हैं कि खुद को फिट और हेल्‍दी रखने के लिए तरह-तरह की चीजें खाता है। अगर आप भी अपनी हेल्‍थ को लेकर जागरूक है तो आज हम आपके लिए एक ऐसा उपाय लेकर आए है, जिसके इस्‍तेमाल से आप कैंसर, ब्‍लड शुगर, डेंगू और हार्ट जैसी प्रॉब्‍लम्‍स से निजात पाया जा सकता है। आइए जानें कौन सा है ये उपाय। 

यूं तो गर्मी के आते ही बहुत सारी महिलाओं को पपीता खाना पसंद होता है। मुझे भी पपीता खाना बहुत पसंद है। मैं भी खुद को हेल्‍दी रखने के लिए रोजाना पपीता जरूर खाती हूं। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि सिर्फ पपीता ही नहीं बल्कि पपीते के पत्‍ते भी बहुत फायदेमंद होते हैं। जी हां डेंगू में तो पपीते के पत्‍ते का जूस पीने से बहुत फायदा होता है। आयुर्वेदिक डॉक्‍टर राखी बताती हैं कि, “यह प्लेटलेट्स की गिनती बढ़ाने में हेल्प करता है। साथ ही बॉडी में होने वाले दर्द, कमजोरी, सुस्‍ती, थकान जैसे डेंगू बुखार के लक्षण को कम करने और बॉडी से टॉक्सिन निकालने में हेल्‍प करते हैं। पपीते का पेड़ आसानी से मिल जाता है। ये बात तो आप जानती ही हैं। लेकिन पपीते कैंसर जैसी बीमारियों में भी बहुत फायदेमंद होता है।

cancer health inside

कैंसर के लिए पपीते का पत्‍ता

अभी तक हमने पपीते के पत्तों का इस्‍तेमाल बहुत ही सीमित तरीके से उपयोग किया है, जैसे प्लेटलेट्स के कम हो जाने पर या स्किन सम्बन्धी कोई समस्‍या। लेकिन अब आप इसका इस्‍तेमाल कैंसर के इलाज के लिए कर सकती हैं। जी हां कैंसर एक ऐसी बीमारी है जो तेजी लोगों को अपना शिकार बना रही है। अमीर लोग तो इसका अच्‍छे से इलाज करा लेते हैं लेकिन गरीब इलाज के आभाव में इसका शिकार हो जाता है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा क्‍योंकि पपीते के पत्‍ते के इस्‍तेमाल से इसका इलाज आसानी से किया जा सकता है।

Read more: ये 5 लापरवाही जिसके चलते सोनली बेंद्रे आज कैंसर से लड़ रही हैं जिंदगी की जंग, ये गलती आप मत करना

कई प्रकार के वैज्ञानिक शोधो से पता लगा है कि पपीता के सभी भागो जैसे फल, तना, बीज, पत्तियां, जड़ सभी में कैंसर सेल्‍स को नष्ट करने और उसके वृद्धि को रोकने की क्षमता पाई जाती है। विशेषकर पपीता की पत्तियों में तो कैंसर सेल्‍स को रोकने और उसे बढ़ने से रोकने के गुण पाए जाते है। यूएस और जापान की यूनिवर्सिटी ऑफ फ्लोरिडा और इंटरनेशल डॉक्‍टर्स एंड रिसर्चर में हुए रिसर्च से पता चला है कि पपीते के पत्‍तों में कैंसर सेल्‍स को नष्‍ट करने की क्षमता पाई जाती है। Nam Dang MD, Phd जो कि एक शोधकर्ता है, के अनुसार पपीता की पत्तियां डायरेक्ट कैंसर को खत्म कर सकती है, उनके अनुसार पपीता की पत्तिया लगभग 10 प्रकार के कैंसर को खत्म कर सकती है जिनमे मुख्य रूप से ब्रेस्‍ट, लंग, लीवर, अग्नाशय और सर्विक्‍स कैंसर शामिल है। इसमें जितनी ज्यादा मात्रा पपीता के पत्तियों को बढ़ाया गया है, उतना ही अच्छा परिणाम मिला है, अगर पपीता की पत्तिया कैंसर को पूरी तरह से खत्म नहीं कर सकती है तो भी कैंसर की प्रोग्रेस को जरुर रोक देती है।

papaya juice health inside

कैंसर के लिए कैसे काम करती है पपीते की पत्तियां

पपीता कैंसर रोधी अणु Th1 cytokines के उत्पादन को बढाती है जो की इम्यून सिस्‍टम को शक्ति प्रदान करता है जिससे कैंसर सेल्‍स को खत्म किया जाता है। इसके अलावा पपीते की पत्तियों में पपेन नामक प्रोटीन को तोड़ने वाला प्रोटियोलिटिक एंजाइम्स पाया जाता है जो कैंसर सेल्‍स में मौजूद प्रोटीन के आवरण को तोड़ देता है जिससे कैंसर सेल्‍स का बॉडी में बचा रहना मुश्किल हो जाता है। पपेन ब्‍लड में जाकर मैक्रोफेज को उतेजित करता है जो इम्‍यून सिस्‍टम को उतेजित करके कैंसर सेल्‍स को नष्ट करना शुरू करती है।



कीमोथेरेपी और रेडियोथेरेपी और पपीता की पत्तियों के द्वारा ट्रीटमेंट में ये फर्क है कि कीमोथेरेपी में इम्‍यून सिस्टम को दबाया जाता है जबकि पपीता इम्‍यून सिस्‍टम को उतेजित करता है, कीमोथेरेपी और रेडियोथेरेपी में नार्मल सेल्‍स भी प्रभावित होती है। ज‍बकि पपीता कैंसर सेल्‍स को नष्ट करता है। सबसे अच्‍छी बात कैंसर के इलाज में पपीते के इस्‍तेमाल का कोई साइड इफेक्‍ट भी नहीं है!

Read more: ये 5 हर्ब्‍स आपको कैंसर के चंगुल में कभी फंसने ही नहीं देंगे

कैंसर में पपीते की चाय बनाने का तरीका

  • कैंसर में सबसे बढ़िया है पपीते की चाय। दिन में 3 से 4 बार पपीते की चाय बनायें, ये आपके लिए बहुत फायदेमंद होती है। अब आइये जाने लेते हैं पपीते की चाय बनाने का तरीका।
  • 5 से 7 पपीता के पत्तो को पहले धूप में अच्छी तरह सुख लें।
  • फिर इसे छोटा-छोटा करके आप 500 ml पानी में डालकर अच्‍छे से उबाल लें।
  • इतना उबाले के ये आधा रह जाए। इसको आप 125 ml करके दिन में दो बार पिएं।
  • और अगर ज्यादा बनाया है तो इसे आप दिन में 3 से 4 बार पियें।
  • बाकी बचे हुए लिक्विड को फ्रीज में स्टोर कर दें जरुरत पड़ने पर इस्तेमाल कर लें।
  • लेकिन ध्यान रहे कि इसे आपको दोबारा गर्म नहीं करना है।
  • या आप पपीते के 7 ताज़े पत्ते लें इन्‍हें धोकर अच्छे से हाथ से मसल लें।
  • फिर इसे 1 लीटर पानी में डालकर उबालें, जब यह 250 mlरह जाए तो इसको छानकर दिन में दो बार सुबह और शाम पी लें।
  • ये चाय पीने के आधे से एक घंटे तक आपको कुछ भी खाना पीना नहीं है।

कुछ ही हफ्तों के बाद आपको फर्क महसूस होने लगेगा। लेकिन ध्‍यान रहें कि आपको अपनी दवाएं बंद नहीं करनी है।

Recommended Video