दिन में या रात में हम कैसे सोते हैं ये हमारी सेहत के लिए जानना बहुत ज़रूरी है। दिन भर के थकान के बाद रात में हम जैसे-तैसे सो तो जाते हैं लेकिन, किस पॉशचर में सोना चाहिए ये भूल जाते हैं। बहुत कम लोगों को ही मालूम रहता है कि पूरी और अच्छी नींद के साथ सोते समय सही पॉशचर क्या होना चाहिए। काफी जानकारों का मानना है कि सोते समय ये ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है कि आप पीठ के बल हो रहे हैं या फिर किसी और पॉशचर में। पीठ के बल सोने से ना सिर्फ अच्छी नींद आती है बल्कि शरीर के कई दर्द भी गायब हो जाते हैं। आज इस लेख में हम आपको पीठ के बल सोने के मायने और उसके फायदे के बारे में बताने जा रहे हैं। तो चलिए जानते हैं क्या है मायने पीठ के बल सोने के-

सिर और गर्दन दर्द से राहत 

health benefits of sleeping on your back inside

पीठ के बल लेटने से आपका शरीर एकदम सीधी रहती है, जिसके चलते गर्दन की मांसपेशियों पर प्रेशर नहीं होता। पीठ के बल सोने से गर्दन में खिंचाव की शिकायत भी दूर रहती है। काफी जानकारों का मानना है कि पीठ के बल सोने से सिर का भारीपन भी दूर रहता है। 

इसे भी पढ़ें: अगर रहना है डिहाइड्रेशन से दूर तो इन ड्रिंक्स का आप भी करें सेवन

झुकने की परेशानी से निजात 

health benefits of sleeping on your back inside

पीठ के बल सोने से किसी भी काम के लिए झुकने और अधिक देर खड़ा होने की भी शिकायत दूर रहती है। अगर आप पीठ के बल सोते है तो रीढ़ की हड्डियां सही रहती है। कमर और कूल्हे के दर्द से राहत भी मिलती है पीठ के बल सोने से।

Recommended Video

पेट की स्थिति ठीक रहती है 

health benefits of sleeping on your back inside

कहा जाता है कि पीठ के बल सोने से आप पेट की कई परेशानियों से दूर हो सकते हैं। पीठ के बल सोने से पंचन तंत्र भी सही रहता है। कहा जाता है कि पीठ के बल सोने से पेट में अम्लीय रिसाव नहीं होता है।

इसे भी पढ़ें: Sleeping Tips: सोने के ये 9 तरीके सुधार देंगे आपकी सेहत

क्या हो सकता है नुकसान 

health benefits of sleeping on your back inside

जब आप गलत तरीके से सोते हैं तो गर्दन में दर्द, चैन की नींद ना आना, शरीर के विकास में रुकावट और पेट की समस्या होने का डर रहता है। इसलिए आप जब भी सोने जाए तो अपने सोने के पॉशचर पर ज़रूर ध्यान रखें।

नोट: ये लेख सिर्फ आपके जानकरी के लिए हैं। इसके लिए आप डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं।     

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@kolkatatimes.co.in,www.sabkuchgyan.com)