क्‍या आप वेट लॉस के लिए डाइटिंग कर रही हैं?😔
और आपके रुटीन में एक्‍सरसाइज भी शामिल है?😔
लेकिन फिर भी आपका वजन टस से मस नहीं हो रहा है?😔
तो आपको अपने पेट की हेल्‍थ पर ध्‍यान देने की जरूरत है। सुनकर अजीब लग रहा है ना, लेकिन ऐसा होता है। अगर आपका पेट ठीक नहीं है तो आप वेट लॉस के लिए कितनी भी कोशिश कर लें। लेकिन वजन कम होता ही नहीं है।

जी हां अगर आप वेट लॉस करने की कोशिश कर रही हैं तो आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि हेल्दी खाना और एक्सरसाइज, वेट लॉस प्रोसेस में दो महत्वपूर्ण पहलू हैं। लेकिन आपको इस बात की जानकारी नहीं हैं कि आपकी पेट का हेल्‍थ की भी इसमें प्रमुख भूमिका है। अच्छी शेप में आने के लिए आप कुछ भी कर सकती हैं, लेकिन अगर आपके पेट की सेहत खराब है, तो आप कुछ भी नहीं कर सकती है। ज्यादातर डाइजेस्टिव संबंधी समस्याओं के कारण  भोजन के अवशोषण खराब हो जाता है जिससे आपका वजन कम होने लगता है। लेकिन कुछ समस्‍याएं ऐसी हैं जिनमें हमारी आंतों की हेल्थ वजन बढ़ाने में योगदान देती है। इस आर्टिकल में पेट की ऐसी 5 बीमारियों के बारे में बता रहे हैं जो आपके वेट लॉस लक्ष्य को पूरा होने से रोक सकती है।

इसे जरूर पढ़ें: रात में ये 7 आसान स्‍टेप अपना कर आप कर सकती हैं अपना वजन कम

इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (IBS)

weight loss stomach problem INSIDE

आजकल की लाइफस्टाइल के कारण यह पेट (जीआई) की सबसे ज्यादा पाई जाने वाली समस्या  है और यह भोजन की संवेदनशीलता और अच्छे बैक्टीरिया के असंतुलन जैसी अन्य पेट की समस्याओं को जन्म देती है। और लंबे समय तक इस समस्‍या के रहने से सूजन होने लगती है और वजन बढ़ने का कारण बनती है।

एसिड रिफ्लक्स डिजीज

एसिड रिफ्लक्स  डिजीज, जिसे गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज  (जीईआरडी) के रूप में भी जाना जाता है, इसमें सीने के नीचले हिस्से में दर्द और जलन होती है, ऐसा तब होता है जब पेट का एसिड आपके एसोफेगस में वापस आ जाता है। इस समस्या से पीड़ित लोगों के लिए, आरामदायक फूड्स दर्द को कम करने में मदद करते हैं। भोजन खाने से उन्हें अस्थायी रूप से राहत मिलती है क्योंकि भोजन और लार थोड़ी देर के लिए एसिड को बेअसर कर देती है। लेकिन असली समस्या पाचन प्रक्रिया पूरी होने के बाद, एसिड का उत्पादन फिर से बढ़ जाता है। इस तरह लोग अधिक खाने की आदत में फंस जाते हैं और अंत में वजन बढ़ाते हैं।

अल्सर

stomach problem acid reflux INSIDE

असहज अल्सर पेट या छोटी आंत की अंदरूनी परत में विकसित होते हैं। यह आमतौर पर बहुत सारे एसिड का उत्पादन करता है। एसिड रिफ्लक्स की तरह, भोजन खाने से अल्सर से थोड़ी देर के लिए आराम मिल सकता है क्योंकि यह अस्तर को कवर करता है और पेट के एसिड को बेअसर करता है। लेकिन अगर आप बार-बार खाते हैं, तो यह स्पष्ट रूप से आपके वजन को बढ़ा सकता है।

कब्ज

आजकल की लाइफस्टाइल के चलते भी पेट से जुड़ी समस्याएं जन्म ले रही है। इसमें से एक कब्‍ज की समस्‍या है। कई लोगों को पेट साफ न होने यानि कब्ज की बहुत समस्या होती है। इसका कारण गलत खान-पान के पाचन क्रिया में गड़बड़ी होना है। इसके चलते आप परेशान रहते हैं और वेट लॉस करने में परेशानी होती है।

Recommended Video

फ़ूड इन्टॉलरेंस

food intolerance stomach problem INSIDE

आपने देखा होगा कि आपकी बॉडी को कुछ फूड्स को खाने से दिक्‍कत होती है। ऐसे में आपको फूड इन्टॉलरेंस होने की समस्‍या बहुत ज्‍यादा होती है। हालांकि यह समस्‍या फूड एलर्जी से अलग है लेकिन इससे आपकी इम्‍यून सिस्‍टम प्रतिक्रिया करता है और फूउ इन्टॉलरेंस डाइजेस्टिव सिस्‍टम को प्रभावित करता है, यह कुछ फूड (सबसे आम डेयरी) को पचाने और तोड़ने में मुश्किल बनाता है। फूड इन्टॉलरेंस वाले लोग अक्सर गैस, ऐंठन और सूजन का अनुभव करते हैं, जिससे यह महसूस होता है कि वजन बढ़ रहा है।

क्रोनिक डिजीज

क्रोनिक डिजीज से पीडि़त व्यक्ति को स्टेरॉयड ट्रीटमेंट दिया जाता है, जो आमतौर पर पहला कदम होता है। स्टेरॉयड कार्ब्स की लालसा को बढ़ा सकता है, परिणामस्वरूप, आप अधिक खाएंगे और वजन बढ़ाएंगे।

इसे जरूर पढ़ें: एक्‍सरसाइज और डाइट करने से भी नहीं हो रहा वजन कम तो जानिए असली वजह

बैक्टीरिया की ओवरग्रोथ

हमारे आंतों में अच्छे और बुरे दोनों तरह के बैक्टीरिया होते हैं। अच्छा बैक्टीरिया सूजन को कम करने में हेल्‍प करता है और आपकी हेल्थ को कंट्रोल में रखता है। समस्या तब पैदा होती है जब बैक्टीरिया भारी मात्रा में बढ़ने लगते है, जिससे वजन बढ़ने लगता है। सबसे पहले, बैक्टीरिया मीथेन गैस का उत्पादन बढ़ाते हैं, जो छोटी आंत के कामकाज को धीमा करता है। दूसरे, बैक्टीरिया के बहुत ज्यादा बढ़ने से आपका मेटाबॉलिज्म धीमा होने लगता हैं और आपके इंसुलिन और लेप्टिन प्रतिरोध को प्रभावित करता हैं, ये दोनों हार्मोंन भूख और तृप्ति को कंट्रोल करते हैं। लेकिन जब आप ज्यादा खाती हैं तो वजन बढ़ने की संभावना रहती है।

पेट से जुड़ी इन 7 समस्याओं के चलते आपका वजन आसानी से कम नहीं होता है। इसलिए अगर आप वजन कम करना चाहती हैं तो सबसे पहले इन सभी समस्याओं से बचें।