जब भी कोई कहता है कि रोजाना नहाने में उसे आलस आता है तो उसे बहुत ही अजीब नजरों से देखा जाता है। यकीनन लोगों का पहला रिएक्शन होता है 'छी.. ये रोज़ नहीं नहाता।' एक रिपोर्ट कहती है कि करीब 60% लोग ही हर रोज़ नहाते हैं। उसके अलावा बाकी लोग रोज़ाना नहीं नहाते। 

सही मायनों में रोजाना नहाने को लेकर हमेशा यही कहा जाता है कि लोग इसलिए रोज़ाना नहाते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि ना नहाने से उनकी इम्यूनिटी पर फर्क पड़ेगा और ना नहाना हेल्दी नहीं होता, लेकिन क्या ये सही है?

क्या रोजाना नहाना जरूरी है? 

हार्वर्ड हेल्थ (हार्वर्ड यूनिवर्सिटी का हेल्थ डिपार्टमेंट) की एक रिसर्च कहती है कि ऐसा नहीं है। अधिकतर लोग इसलिए रोजाना नहाते हैं क्योंकि ये उनके रूटीन में शामिल है। इससे तन की दुर्गंध नहीं आती है और वो इसे हेल्दी मानते हैं, लेकिन इसके लिए कुछ अलग भी होता है। 

daily bathing and its drawbacks

दरअसल, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी की इस स्टडी के मुताबिक हेल्थ के नजरिए से देखा जाए तो रोजाना नहाना आपके लिए नुकसानदेह भी साबित हो सकता है। 

इसे जरूर पढ़ें- नहाने के पानी में मिलाएं ये चीज़ें, पहली बार में ही स्किन हो जाएगी सॉफ्ट

क्या हैं रोजाना नहाने के नुकसान-

इस स्टडी में कुछ ऐसे नुकसान भी बताए गए हैं जो रोजाना नहाने की वजह से होते हैं। 

स्किन में बहुत ही हेल्दी बैक्टीरिया और ऑयल का अच्छा बैलेंस बनता है और रोजाना नहाने से स्किन ड्राई हो सकती है और साथ ही साथ ये इरिटेटेड और एलर्जिक भी हो सकती है। 

कई लोग तो एंटीबैक्टीरियल और बहुत ज्यादा खुशबू वाले साबुन लगाते हैं जो स्किन के नॉर्मल बैक्टीरिया को खत्म भी कर सकता है और स्किन में जो अच्छे बैक्टीरिया होते हैं वो भी खत्म हो जाते हैं। 

स्किन एलर्जी तो हमेशा सबसे ज्यादा इन्ही चीजों की वजह से होती हैं। हमारा इम्यून सिस्टम नॉर्मल माइक्रो ऑर्गेनाइज्म का आदि होता है और ऐसे में कई बार रोज़ाना नहाने वाले लोगों की समस्या बढ़ जाती है।  

daily baithing benefits

तो कितने दिनों में नहाना सही है? 

एक दिन छोड़कर एक दिन नहाना आदर्श माना जा सकता है, लेकिन इसके अपने नुकसान भी हैं। उदाहरण के तौर पर तन की दुर्गंध की समस्या तो है ही साथ ही पर्सनल जगहों की हाइजीन भी मायने रखती है।  

यहां ये बिल्कुल नहीं कहा जा रहा है कि रोजाना नहाने वाले गलत कर रहे हैं, बस ये कहा जा रहा है कि कभी-कभार आप नहाना मिस भी कर दें तो इसके लिए गिल्टी फील करने की जरूरत नहीं है।  

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- गर्मियों में नहाते समय इन 5 हैक्स से रखें अपनी स्किन का ख्याल 

कितनी देर नहाना चाहिए? 

अगर आप रोज़ाना नहा रहे हैं तो 3-4 मिनट की मैक्सिमम शावर लें। आपको फोकस पर्सनल एरिया और अंडरआर्म्स की हाइजीन पर ज्यादा ध्यान दें। ये आपके लिए ज्यादा सुविधाजनक ऑप्शन हो सकता है।  

तो अब आपको रोज़ाना ना नहाने के फायदे भी पता हैं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। इस रिसर्च के बारे में आप health.harvard.edu में जाकर पढ़ सकते हैं।  

ऐसी ही अन्य स्टोरीज के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।