कोरोना काल में लोग बुख़ार और सर्दी-जुकाम जैसी समस्या से काफ़ी परेशान हुए हैं। वहीं बुख़ार के बाद शरीर में तेज़ दर्द की शिकायत है तो सीबीसी की जांच ज़रूर करवानी चाहिए। समय रहते इसका इलाज किया जाए तो यह आपके शरीर के लिए घातक नहीं होगा। बता दें कि प्लेटलेट्स छोटी रक्त कोशिकाएं होती हैं, जो ख़ास कर बोनमैरो में पाई जाती हैं। अगर आपके शरीर में प्लेटलेट्स की कमी है तो इसका मतलब है कि आपके ख़ून में बीमारियों से लड़ने की ताक़त कम हो रही है।

हेल्दी व्यक्ति में नॉर्मल प्लेटलेट्स काउंट 150 हज़ार से 450 हज़ार प्रति माइक्रोलीटर होना चाहिए। अगर प्लेटलेट्स 150 हजार प्रति माइक्रोलीटर से कम है तो इसका मतलब है कि प्लेटलेट्स लो है। हालांकि कई ऐसे लोग हैं जो प्लेटलेट्स कम होने पर घरेलू तरीक़े आज़माने लगते हैं, लेकिन इससे ख़तरा बढ़ भी सकता हैं। न्यूट्रिशनिस्ट स्वाति बथवाल कहती हैं कि डेंगू में प्लेटलेंट्स संख्या में कमी देखी जाती है, लेकिन इन दिनों कोविड-19 के मरीजों को भी यह समस्या हो रही है। अगर प्लेटलेट्स की संख्या बॉर्डर लाइन पर है तो चिंता की कोई बात नहीं, लेकिन कम हो तो यहां बताए गए तरीके आजमा सकते हैं।

प्लेटलेट्स कम होने के लक्षण

platelets

  • मांसपेशियों और ज्वाइंट में दर्द होना
  • चक्कर आना 
  • नाक और मुंह से आ सकता है ख़ून 
  • पेशाब लाल होना
  • तेज सिरदर्द की समस्या होना
  • कमज़ोर होना
  • त्वचा पर लाल चकत्ते होना आदि

प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए करें पपीते के पत्तों का सेवन

platelets count

पपीते के पत्ते शरीर में प्लेटलेट्स बढ़ाने का काम करेंगे। 2 से 3 दिन तक रोज़ाना दिनभर में दो बार 15 एमएल पपीते के पत्तों के जूस का सेवन करें। हालांकि पपीता के पत्तों का जूस कड़वा होता है, ऐसे में इसे पीना काफ़ी मुश्किल हो जाता है। इसलिए इसका सेवन शहद या फिर गुड़ के साथ किया जा सकता है। प्लेटलेट्स संतुलित रखने के लिए पपीता के पत्तों का सेवन अधिक ना करें। दवाओं के रूप में ही इसका सेवन किया जाना चाहिए। वहीं पपीता पत्तों का एक्सट्रैक्ट अब टैबलेट के रूप में भी मार्केट में उपलब्ध है, लेकिन इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श ज़रूर लें।

Recommended Video

पपीता के पत्तों का जूस ऐसे बनाएं

papaya leaf juice

पपीता के पत्तों का जूस बनाने के लिए दो फ्रेश पत्तों को धोकर रख लें। अब इसे छोटे-छोटे पीस में काटकर एक बर्तन में उबाल लें। उबालने के लिए पानी की मात्रा 300 एमएल होनी चाहिए। पत्तों के उबल जाने के बाद इस पानी को छान लें और रोजाना दिन में दो बार करीबन 2 चम्मच यानी 15 एमएल जूस का सेवन करें।

इसे भी पढ़ें: Expert Tips: मुंह का स्‍वाद वापिस लाने के लिए अपनाएं ये 2 नुस्‍खे

आवश्यक जानकारी

nutriution food

प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ाने के लिए इंटरनेट पर कई तरह की जानकारी दी गई हैं। जिसमें कई लोग बकरी के दूध का सेवन भी करते हैं, हालांकि इससे इंफेक्शन फैलने का भी डर रहता है। इंटरनेट पर दी गई जानकारी के बजाय किसी अच्छे डॉक्टर से परामर्श लेना बेहतर होगा। वहीं न्यूट्रिशनिस्ट स्वाति बथवाल के अनुसार प्लेटलेट्स की संख्या कम होने पर पपीता के पत्तों का सेवन करना काफ़ी है। हालांकि इसके अलावा आप फ़्रेश फल और सब्जियों का भी सेवन कर सकते हैं। कोशिश करें कि आपकी डाइट न्यूट्रिशियन से भरपूर हो। कोशिश करें कि कोविड-19 में इंफेक्शन से बचें।

यह आर्टिकल आपको अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें, साथ ही इसी तरह सेहत से जुड़े टॉपिक्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।