यूटीआई से हर साल लाखों लोगों को प्रभावित होते हैं जिसमें महिलाओं की संख्या सबसे ज्यादा होती है। ऐसा महिलाओं द्वारा कम पानी पीने और यूरीन को बहुत अधिक रोकने के कारण होता है। आपने भी कभी ना कभी सफर के दौरान यूरीन रोका होगा। कभी-कभी यूरीन को रोकना भी यूटीआई की समस्या को बुलावा देता है जिसके बारे में कम लोगों को ही अहसास होता है।

यूटीआई या मूत्र पथ संक्रमण क्या है?

यूटीआई या मूत्र पथ का संक्रमण है जो मूत्र पथ के किसी भी हिस्से को प्रभावित करता है, जिसमें गुर्दे, मूत्रवाही, मूत्राशय या मूत्रमार्ग शामिल होते हैं। यूटीआई के दौरान पेशाब करने में जलन होती है और उसके रंग में बदलाव हो जाता है। 

cranbery juice for UTI ANI inside

इसलिए पेशाब के रंग में बदलाव से भी यूटीआई के प्रति आप सचेत हो सकती हैं। जैसे की आपके मूत्र का रंग ट्रांसपरेंट यलो है तो आपकी बॉडी सामान्य है। वहीं अगर इसका रंग डार्क यलो है तो आप सामान्य से कम मात्रा में पानी पी रही हैं और आपको थोड़ी और अधिक मात्रा में पानी पीने की जरूरत होती है। इसके अलावा आपके पेशाब का रंग हनी या ओरेंज रंग का है तो आपकी बॉडी में पानी की कमी है और आपको अधिक मात्रा में पानी पीने की जरूरत है।

क्रैनबेरी ठीक करेगी यूटीआई

क्रैनबेरीज़ यूटीआई को ठीक करने में मदद करती है। ये बात जानकर आपको हैरानी हो सकती है लेकिन हाल ही में आई एक स्टडी में इस बात की पुष्टि हुई है कि क्रैनबेरीज़ यूटीआई को ठीक करने में सहायक होती है। यह स्टडी न्यूट्रीशिनल एडवोकेट्स जर्नल में पब्लिश हुई है। इस अध्ययन के अनुसार क्रैनबेरीज़ जूस हेल्दी महिलाओं में यूटीआई को फिर से होने से रोकता है। 

इस अध्ययन में हेल्दी महिलाओं और नॉन-प्रेग्नेंट महिलाओं को शामिल किया गया जिनकी उम्र 18 साल से ऊपर थी और जो अपने लाइफ में कभी ना कभी यूटीआई से ग्रस्त रह चुकी हों।  

1,498 लोगों में से 798 महिलाओं का ट्रीटमेंट क्रैनबेरीज़ जूस से और बाकि 702 महिलाओं को प्रयोगिक औषधि के ट्रीटमेंट समूह में रखा गया है। प्रयोगिक औषधि के ट्रीटमेंट समूह वाली महिलाओं की तुलना में क्रैनबेरीज़ जूस पीने वाली महिलाओं में यूटीआई का खतरा 26 प्रतिशत कम रहा और वहीं जिन महिलाओं को यूटीआई की प्रॉब्लम कभी नहीं थी उनमें यूटीआई होने की संभावना 35 प्रतिशत तक कम हो गई। 

cranbery juice for UTI ANI inside

रोज पिएं क्रैनबेरीज़ जूस

क्रैनबेरीज़ जूस रोज पीने से यूटीआई की प्रॉब्लम ठीक हो जाती है। दरअसल क्रैनबेरी में मौजूद एंटीबैक्टीरियल एजेंट इन्फेक्शन करने वाले बैक्टीरिया को मूत्र पथ की दीवारों में चिपकने से रोकते हैं जिससे यूटीआई की समस्या नहीं होती है। 

इसलिए रोज एक ग्लास क्रैनबेरीज़ जूस पिएं और यूटीआई से दूरी बनाकर रखेँ। इसके साथ ही ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिएं। 

Read More: झाड़ू या पोछा लगाना प्रेग्‍नेंसी में सही है या नहीं, जानें गायनेकोलॉजिस्ट की राय