सुंदर दिखना हर महिला का सपना होता है। और अच्‍छी फिगर वाली महिलाओं को ही परफेक्ट भी माना जाता है। और अच्‍छी फिगर में ब्रेस्ट का अपना ही रोल होता है। लेकिन ये बात लगभग हर महिला जानती है कि एक दिन ब्रेस्‍ट वैसे नहीं लगेगी जैसे कि आज लग रही हैं। यह अलग बात है कि कुछ महिलाओं को लगता है कि ब्रेस्‍ट में कोई बदलाव नहीं होता है।

जी हां हम सभी जानती हैं कि उम्र बढ़ने के साथ-साथ स्किन पर महीन रेखाएं और झुर्रियां आने लगती है। और हो भी क्‍यों ना यह उम्र बढ़ने का सामान्‍य लक्षण है। यह natural है और हर किसी के साथ होता है। जी हां जैसे-जैसे हम बड़ी होते हैं वैसे-वैसे हमारी बॉडी में मौजूद cells बनना कम हो जाता हैं। जब cells के renew होने की क्षमता कम हो जाती है, तो हमारी बॉडी के कई हिस्‍से में tissue कम होने लगते हैं, जिससे उम्र का असर दिखाई देने लगता है।

Read more: चुनें अपने लिए सही ब्रा, नहीं तो हो सकती हैं ये परेशानियां

आमतौर पर उम्र का ये असर 25 और 30 साल के बीच दिखाई देता है, लेकिन यह आपकी सेहत पर भी निर्भर करता है। महीन रेखाएं, झुर्रियां, आंखों के नीचे बैग, बेजान त्वचा, थकावट, वजन का बढ़ना-घटना जैसी हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स उम्र के अनुसार होने लगती हैं। यहां तक कि महिलाओं के ब्रेस्‍ट जो कि फैट tissues से बने होते हैं, इनमें भी उम्र का असर होने लगता है। तो आइए जानें कि आपकी ब्रेस्‍ट में उम्र बढ़ने के साथ-साथ किस तरह के बदलाव आते हैं।

ezgif.com resize boobs

हो जाते हैं बड़े या छोटे

इस उम्र में आपकी ब्रेस्‍ट ए-साइज वाली नहीं रहती, जो आपके टीन्‍स में थी। आपके 20 में ब्रेस्ट अच्छे से बढ़ते हैं, और आपके वजन के घटने या बढ़ने के हिसाब से उनका साइज भी बदलता रहता है। प्रेग्‍नेंसी और ब्रेस्‍टफीडिंग के समय ब्रेस्ट का साइज बढ़ जाता है। इसके बाद या तो साइज वहीं रहता हैं या उससे साइज उससे भी छोटा हो जाता हैं। प्रेग्‍नेंसी के कारण आपके निपल्‍स बड़े और डार्क हो सकते हैं, लेकिन घबराये नहीं क्‍योंकि प्रेग्‍नेंसी के बाद में वो वापस सामान्य हो जाते हैं।

आम बात है सूजन होना

सूजन का मतलब ये नहीं है कि कुछ गड़बड़ है, आप घबराएं इससे पहले ये जान लें कि आपके 20 की उम्र के बाद होना सूजन होना बहुत कॉमन बात है। ऐसा पीरियड्स में होने वाले हार्मोंनल बदलाव यानी एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन में बदलाव के कारण होता है।

ezgif.com optimize boobs

ब्रेस्‍ट में स्ट्रेच

30 की उम्र के बाद ब्रेस्‍ट में स्ट्रेच होना सामान्य बात है। अगर आपके बच्चे हैं और आपका वजन बहुत ज्‍यादा बढ़ा या घटा है तो ब्रेस्ट की त्वचा का स्ट्रेच होना सामान्य बात है। यानी इस समय ब्रेस्‍ट का थोड़ा बहुत लटकना और स्ट्रेच मार्क्स होना सामान्य है। इस दौर से लगभग हर महिला गुजरती ही है। अगर आप इससे बचना चाहती हैं तो अपना वजन बरकरार रखें– इससे त्वचा में स्ट्रेच और लटकन नहीं होती।

ब्रेस्‍ट की flexibility कम होना

40 की उम्र के बाद ब्रेस्‍ट को फर्म और लिफ्ट करने के लिए जिम्‍मेदार 'कोलेजन' उम्र के साथ सुस्‍त हो जाता है, और ब्रेस्‍ट की flexibility कम होने लगती है। साथ ही जैसे-जैसे आप मेनोपॉज के करीब आने लगती है आपकी बॉडी में एस्‍ट्रोजन का बनना कम हो जाता है, जिससे ब्रेस्‍ट में कई बदलाव आने लगते हैं। इस उम्र में ब्रेस्‍ट टिश्‍यू फैट से बदल जाते हैं और ब्रेस्‍ट फर्म होने की जगह सॉफ्ट हो जाती है।

यह प्रक्रिया ब्रेस्ट में एक समान नहीं होती, जिससे ब्रेस्ट कुछ हिस्सो में फर्म और कुछ हिस्सों में सॉफ्ट महसूस हो जाती है। एक हिस्‍सा फैटी होने पर उसके पास की त्‍वचा के मुकाबले lump महसूस होने लगता है। Lump सॉफ्ट होने पर घबराये नहीं, लेकिन अगर फर्म महसूस होता है तो तुरंत टेस्ट करवायें। इस उम्र पर पहुंचने के बाद महिलाओं को ब्रेस्ट की नियमित रूप से खुद से जांच करनी चाहिए और समय-समय पर डॉक्टर को भी दिखाते रहना चाहिए।

giphy

Ladies के ब्रेस्ट fat, लिम्‍फ नोड्स, nerves, milk systems, fibrous tissues और nerves से बने होते हैं। इसलिए lamps होना या डेन्सिटी में बदलाव होना सामान्य और नेचुरल है। आपके पीरियड्स के समय होने वाले हॉर्मोनल बदलाव के प्रति आपके ब्रेस्ट बहुत sensitive होते हैं, इसलिए आपको महीने के अलग-अलग समय में अलग-अलग महसूस होता हैं। हालांकि यह बदलाव धीरे-धीरे ही होते हैं, लेकिन आप अचानक इन्हें एक दिन नोटिस करती हैं और आपको लगता है कि ये बदलाव रातों-रात हो गया। तो तुंरत अपनी डॉक्‍टर से संपर्क करें।

आपकी बॉडी complicated जरूर है, लेकिन beautiful और लाजवाब भी है….तो इसमें होने वाले changes को प्यार से अपनायें!

Read more: स्पोर्ट्स ब्रा पहनने के ये 5 फायदे जानती हैं आप