हमेशा किसी ना किसी कारण से हम अपने लोअर एब्डोमेन में दर्द महसूस करते हैं और ये किसी भी वजह से हो सकता है, कुछ खराब खाने की वजह से , खराब स्लीप साइकिल की वजह से, या किसी और कारण से आपका पेट खराब हो जाता है। पर ये बात भी समझना जरूरी है कि कई बार पेट का दर्द सिर्फ डाइजेशन से जुड़ी समस्याओं के कारण ही नहीं होता है। 

महिलाओं के मामले में कई बार ये समस्या गायनेकोलॉजिकल समस्याओं के कारण भी हो सकता है। पेल्विस ट्रैक के साथ कई समस्याएं पैदा होती हैं और जिसे कई महिलाएं नॉर्मल क्रैम्प या असहजता समझती हैं वो किसी बड़ी परेशानी का इशारा हो सकता है। 

किन समस्याओं के होते ही हमें डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए ये जानने के लिए हमने नोएडा के मदरहुड अस्पताल की सीनियर कंसल्टेंट गायनेकोलॉजिस्ट और ऑब्सटेट्रिशियन डॉक्टर तनवीर औज्ला से बात की। उन्होंने हमें बताया कि किन लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें- आधी रात को बार-बार लगती है भूख तो मंचिंग के लिए बेस्ट होंगे ये ऑप्शन्स

सबसे पहले अपने पेल्विक पेन और पेट की समस्या का ध्यान रखें-

ये जरूरी है कि आप अपने दर्द और समस्याओं का ध्यान रखें और अगर कोई अनियमितता दिख रही है तो अपनी गाइनी को बताएं। ऐसा करने से आपकी गायनेकोलॉजिस्ट सही डायग्नोसिस करने में मदद करेगी। अगर आपको बहुत तेज़ और चुभने वाला पेल्विक पेन है तो हो सकता है कि आपको किसी तरह का इन्फेक्शन हो या फिर ओवेरियन सिस्ट में छेद हो गया हो। 

अगर ये दर्द बहुत समय के लिए है या पूरे एब्डोमेन एरिया में है तो हो सकता है कि ये यूटरिन फाइब्रॉयड की वजह से हो जो नॉन-कैंसर ट्यूमर होते हैं। 

अगर आपको दर्द भरे पीरियड्स हो रहे हैं या फिर मेंस्ट्रुएशन के समय जरूरत से ज्यादा ब्लीडिंग हो रही है तो आपको एंडोमेट्रिओसिस भी हो सकता है। ये वो स्थिति है जब एंडोमेट्रियल टिशू जो यूट्रस की लाइनिंग में मौजूद रहता है वो शरीर के अंदरूनी अंगों में भी बनने लगता है और ये ओवरी, वेजाइना और रेक्टम को कवर कर लेता है। 

gyno for period problems

इस स्थिति में कुछ खास लक्षण दिखते हैं जैसे-

  • पेट में ब्लोटिंग
  • मल त्यागने में समस्याएं
  • इनफर्टिलिटी
  • पीरियड के समय होने वाला दर्द 

अगर सेक्स के समय होता है दर्द तो डॉक्टर से बात करें- 

अभी तक हम पीरियड से जुड़ी समस्याओं की बात कर रहे थे, लेकिन अब पेल्विक पेन की बात भी कर लेते हैं जो सेक्स के बाद होता है। अगर आपको सेक्स के बाद अपने जेनिटल एरिया में समस्या लग रही है या फिर पेल्विक पेन बढ़ गया है तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। वेजाइनल ड्राईनेस, इन्फेक्शन या यूटरिन फाइब्रॉयड तीनों में से कुछ भी इसका कारण हो सकता है।  

periods and its related problems

इसे जरूर पढ़ें- सही मात्रा में पानी पीने से होते हैं ये सभी फायदे 

अनियमित ब्लीडिंग-

सभी महिलाओं को पीरियड्स के बीच में कभी ना कभी ब्लीडिंग होती है जो सामान्य है, लेकिन जब ब्लीडिंग जरूरत से ज्यादा होती है या कई दिनों तक चलती रहती है और दर्द भरी रहती है तो आपको ध्यान देना चाहिए और डॉक्टर से बात करनी चाहिए। ये इस बात का संकेत हो सकता है कि आपको किसी तरह की वेजाइनल चोट लगी है, गर्भपात हुआ है या फिर यूट्रस या सर्वाइकल कैंसर हो रहा है।  

अनियमित पीरियड्स- 

ये जानना आपके लिए जरूरी है कि आपको कब नॉर्मल पीरियड्स हो रहे हैं और कब एबनॉर्मल पीरियड्स हो रहे हैं। अगर आपको कई सालों से हेवी पीरियड्स होते हैं और आपका पैड 2-3 घंटों में ही पूरी तरह से भर जाता है और ये 1 हफ्ते से ज्यादा चलता है तो आपको डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए।  

ये यूटरिन फाइब्रॉयड, इन्फेक्शन, थायराइड की समस्या के कारण भी हो सकता है। अगर आपको अनियमित पीरियड्स होते हैं तो हो सकता है कि ये कोई छुपी हुई मेडिकल कंडीशन का नतीजा हो जैसे पीसीओएस, हार्मोनल अनियमितता आदि। अगर पीरियड्स नहीं आ रहे हैं तो आप प्रेग्नेंट हो सकती हैं या फिर किसी अन्य मेडिकल कंडीशन का ये नतीजा हो सकता है।  

यूरिन या बाउल मूवमेंट्स में समस्याएं- 

अगर आपको यूरिनेशन या फिर बाउल मूवमेंट्स में समस्याएं हो रही हैं तो हो सकता है कि ये पेल्विक फ्लोर की समस्याएं हों। ये इसलिए भी होता है क्योंकि जो टिशू पेल्विक अंगों को सपोर्ट करते हैं वो डैमेज होकर कमजोर हो जाते हैं। ये बच्चों के पैदा होने की वजह से, कमजोर मांसपेशियों की वजह से, पेल्विक एक्सरसाइज की वजह से हो सकता है। अगर कोई डैमेज है तो डॉक्टर इसके ट्रीटमेंट के लिए अन्य ऑप्शन बता सकता है।  

Recommended Video

वेजाइनल डिस्चार्ज- 

वेजाइनल डिस्चार्ज इसलिए भी होता है क्योंकि वेजाइना खुद को समय-समय पर साफ करती है। ये डिस्चार्ज हर इंसान को अलग हो सकता है। इसकी कंसिस्टेंसी, रंग और बदबू सभी बदल सकती है। ये हर महीने भी बदल सकते हैं। ये नॉर्मल होता है, लेकिन अगर इसमें कोई अन्य रंग जैसे ब्राउन, ग्रे, ग्रीन, येलो आदि दिख रहा है और बहुत ज्यादा बदबू आ रही है तो ये खराब साबित हो सकता है।  

इतना ही नहीं अगर आपको वेजाइनल डिस्चार्ज के समय खुजली, जलन आदि होती है तो हो सकता है किसी तरह का बैक्टीरियल इन्फेक्शन आदि हो आपको। ये दवाओं से ठीक हो सकता है और अगर आपको बहुत ज्यादा दर्द और दाने हो रहे हैं तो हो सकता है कि आपको हर्पीज हो।  

ये सारी कंडीशन किसी के साथ भी हो सकती हैं और ये किसी ना किसी तरह की बीमारी का संकेत दे सकती हैं। अगर आपको ऐसा कुछ हो रहा है तो एक बार डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।