दांतों में तेज़ झनझनाहट होना, ठंडा और गरम लगना, दांतों में दर्द होना और दांतों का कमज़ोर होना ये सब दांतों में होने वाली सेंस्टिविटी के मुख्य लक्षण हैं। दांतों की संवेदनशीलता या सेंस्टिविटी दांतों की सबसे आम समस्याओं में से एक है जो मौसम के साथ और ज्यादा बढ़ जाती है। डॉक्टर विवेक तिवारी (बी डी एस) ,स्माइल केयर डेंटल यूनिट ,कोलकाता, इस लेख में दांतों की सेंस्टिविटी के कारण, लक्षण और इससे निजात पाने के तरीकों के बारे में बता रहे हैं। 

दांतों की सेंस्टिविटी के लक्षण 

गर्म या ठंडे को सहन ना कर पाना 

senstivity teeth

यदि आप कुछ भी गर्म या ठंडा खाते हैं या कुछ ठंडा गर्म पीते हैं ,तो दातों में अचानक से दर्द और झनझनाहट की समस्या दातों की सेंस्टिविटी का लक्षण हो सकता है।  

दांतों में दर्द होना 

यदि आपको अपने दांतों में दर्द महसूस होता है जैसे ब्रश करने में या कुछ खाने में, तो यह दांतों की सेंस्टिविटी का एक लक्षण हो सकता है और बहुत जल्दी आप को सावधान होने की आवश्यकता है। 

इसे भी पढ़ें: क्या आपके मसूढ़े और दांत कमजोर हैं, अपनाएं ये घरेलू उपाय

मीठा खाने में दांतों में झनझनाहट

यदि आपको मीठे पदार्थ जैसे चॉकलेट, मिठाई, कैंडी और आइसक्रीम आदि खाने में अचानक से दांतों में दर्द महसूस होता है, तो यह भी दांतों की सेंसिटिविटी का एक लक्षण हो सकता है।

दांतों की सेंस्टिविटी के कारण

दांतों में सड़न

यदि आपके पास अपने किसी भी दांत में कोई भी कैविटी या सड़न है, तो दांत गर्म और ठंडे के प्रति संवेदनशील हो जाते हैं । 

पोस्ट डेंटल ट्रीटमेंट

post dental

स्केलिंग, व्हाइटनिंग और कम्पोजिट फाइलिंग जैसे कई डेंटल ट्रीटमेंट भी दांतों में होने वाली सेंस्टिविटी का कारण हो सकते हैं । वैसे यह एक अस्थायी चरण है और एक या दो सप्ताह में चला जाता है। यदि आपको जल्द ही इस समस्या से निजात न मिले तो आपको तुरंत डेंटिस्ट के पास जाना चाहिए। 

मौसम का परिवर्तन

सर्दियों की शुरुआत दांतों की सेंस्टिविटी का एक मुख्य कारण हो सकती है। जैसे ही सर्दियां आती हैं कुछ भी ठंडा खाने में दांत असहज महसूस कर सकते हैं। जहां तक संभव हो ठण्ड के मौसम में कुछ भी बहुत अधिक ठंडा खाने से बचना चाहिए। जिससे यह समस्या बड़ा रूप न ले सके। 

पुरानी फिलिंग 

कभी-कभी पहले कभी की गयी दांतों की फिलिंग दांतों की सेंस्टिविटी का कारण होती है। वर्षों से किए गए पुराने भराव पुराने पदार्थों के माइक्रोलैकेज के कारण जड़ों में संवेदनशीलता का कारण बन जाते हैं।

इसे भी पढ़ें: अगर हो रहा है दांत में दर्द तो इन 10 आसान घरेलू नुस्खों की लें मदद

Recommended Video

दांतों की सेंस्टिविटी को कैसे कम करें 

डिसेन्सिटाइजिंग उत्पादों का उपयोग करें

टूथब्रश से लेकर टूथपेस्ट और माउथवॉश तक बाजार में कई तरह की डिसेन्सिटाइजिंग उत्पाद मौजूद हैं। वे बहुत प्रभावी हैं और दांतों की सेंस्टिविटी से राहत दिला सकते हैं। सेंस्टिविटी से निजात पाने के लिए पहला कदम डिसेन्सिटाइजिंग उत्पादों का उपयोग शुरू करना है। लेकिन यदि से समस्या जल्द ही ठीक न हो तो डेंटिस्ट से तुरंत संपर्क करें। 

आहार में सुधार करें

सुनिश्चित करें कि आप अपने आहार में विशेष रूप से केले और शकरकंद को शामिल करें, जो आपके दांतों के बाहरी आवरण को अतिरिक्त पोषक तत्व देने के लिए पोटेशियम और फास्फोरस से भरपूर हैं। सेंस्टिविटी को रोकने के लिए आप केले के छिलके को दांतों पर भी रगड़ सकते हैं।

कारण को समझें

reason senstivity 

सेंस्टिविटी  का कारण आपके दांतों में कोई अंतर्निहित समस्या हो सकती है। इसलिए दांतों में तेज़ झनझनाहट होने पर चेकअप के लिए जाएं और अंतिम उपचार के लिए एक्स-रे करवाएं।

सेंस्टिविटी करने वाले फूड्स से बचें 

जिन फूड्स से सेंस्टिविटी हो सकती है जैसे आइस क्रीम, मिठाइयाँ, हॉट कॉफ़ी और चाय या किसी भी अन्य खाद्य पदार्थ जैसे कि संवेदनशीलता को बढ़ाने वाले ट्रिगर खाद्य पदार्थों से बचें।

इसे भी पढ़ें: क्या आपका पसंदीदा टूथपेस्ट आपके दांतों की सुरक्षा करने में सक्षम है, जानें डेंटल एक्सपर्ट की राय

एसिडिक खाद्य पदार्थों से बचें

किसी भी एसिडिक भोजन से बचें जो नींबू की तरह दांतों को और भी खराब कर देगा।

डॉक्टर की सलाह लें 

dental treatment

यदि आप दांतों में सेंस्टिविटी की समस्या से बहुत ज्यादा परेशान हैं तो घरेलू उपचार अपनाने की बजाय तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। कई बार आपका दांतों को नज़रअंदाज़ करना सेंस्टिविटी की समस्या को बढ़ा सकता है। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik