• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

पतली बाजुओं के कारण नहीं पहन पाती हैं स्लीवलेस ब्‍लाउज, रोजाना करें ये 3 योग

क्‍या आप पतली बाजुओं के कारण स्लीवलेस ड्रेसेस नहीं पहन पाती हैं तो इन्‍हें सुडौल बनाने के लिए अपने फिटनेस रूटीन में इन 3 योगासन को शामिल करें। 
author-profile
Published -06 Sep 2022, 16:41 ISTUpdated -06 Sep 2022, 17:41 IST
Next
Article
yoga for beautiful arms by expert

Verified by Himalayan Siddha, Akshar

क्‍या आप पतली बाजुओं से परेशान हैं?
क्‍या बहुत उपायों के बावजूद फर्क महसूस नहीं हो रहा है?
क्‍या सुडौल बाजुओं के लिए सबसे अच्‍छे उपाय की खोज में हैं? 

तो यह आर्टिकल आपके लिए है। आज हम आपको 3 ऐसे योगासन के बारे में बता रहे हैं जो आपको अपनी इस इच्‍छा को पूरा करने में मदद कर सकते हैं। इन योगासन की बारे हमें योग मास्टर, स्पिरिचुअल गुरु और लाइफस्टाइल कोच, ग्रैंड मास्टर अक्षर जी बता रहे हैं।

जी हां, योग तन और मन को दुरुस्‍त रखने का सबसे अच्‍छा तरीका है। साथ ही यह वजन कम करने में भी मदद करता है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि योग आपको वजन बढ़ाने और आपके शरीर को सुडौल बनाने में मदद करता है।    

वजन बढ़ने के कारण हमारी बाजुओं पर अतिरिक्त चर्बी या कम चर्बी के कारण हाथों का पतला दिखना, इन सभी का उपाय योग में है। योग हमारे हाथों को टोंड और सुडौल रखता है। 

ऐसी कुछ स्थितियां हो जाती हैं जो हमें वजन घटाने के लिए प्रभावित करती हैं जैसे थायरॉयड से संबंधित समस्याएं या कोई अन्य बीमारी जैसे पीसीओडी, पीसीओएस, गैस और एसिडिटी से संबंधित समस्याएं आदि। 

यदि आपका वजन लगातार कम हो रहा है तो अपने आहार पर ध्यान दें। साथ ही इस आर्टिकल में बताए योगासन को शामिल करें। इन आसनों को दिन में 2 बार सुबह और 1 बार शाम को करने की कोशिश करें। 

अपनी सांसों पर ध्यान दें और आसनों को करते हुए सांस पर जागरूकता रखें। प्रत्येक आसन को 5 बार दोहराएं और अच्‍छे रिजल्‍ट के लिए पूरे सेट को दिन में दो बार करें।

संतुलनासन

Santolanasana for beautiful arms

  • पेट के बल लेट जाएं। 
  • हथेलियों को कंधों के नीचे रखें और ऊपरी शरीर, पेल्विक और घुटनों को ऊपर उठाएं।
  • फर्श को पकड़ने के लिए पैर की उंगलियों का इस्‍तेमाल करें और घुटनों को सीधा रखें।
  • सुनिश्चित करें कि घुटने, पेल्विक और रीढ़ एक सीध में हो।
  • कलाइयों को कंधों के ठीक नीचे रखा जाना चाहिए और बाजुएं सीधी रहनी चाहिए।
  • अंतिम मुद्रा में थोड़ी देर रुकें।

सांस पद्धति

  • शरीर को फर्श से ऊपर उठाते हुए सांस लें। यदि आसन को अधिक देर तक रोके रखती हैं तो सामान्य रूप से सांस लें और छोड़ें।

चतुरंगा दंडासन

Chaturanga Dandasan for arms

  • तख़्त आसन से शुरू करें।
  • जैसे ही सांस छोड़ती हैं, शरीर को आधा पुश-अप में नीचे करें और ऊपरी बाजुएं फर्श के समानांतर करें। 
  • कोहनियों के टेढ़ेपन में 90 डिग्री का कोण बनाए रखने के लिए जब हम खुुद को नीचे करती हैं तो कोहनी पसलियों के किनारों को छूनी चाहिए। 
  • कंधों को अंदर की ओर खींचे। 
  • कलाई और कोहनी फर्श से लंबवत होनी चाहिए और कंधे शरीर के अनुरूप होने चाहिए।
  • आसन को 10-15 सेकंड के लिए रोककर रखें।

Recommended Video

वशिष्ठासन

Vashishtasana for arms

  • संतुलनासन से शुरुआत करें।
  • बाईं हाथ को जमीन पर मजबूती से रखते हुए, दाहिने हाथ को फर्श से हटा दें।
  • पूरे शरीर को दाहिनी ओर मोड़ें और दाहिने पैर को फर्श से उठाकर अपने बाएं पैर के ऊपर रखें।
  • दाहिनी बाजु को ऊपर उठाएं और उंगलियों को आकाश की ओर रखें।
  • सुनिश्चित करें कि दोनों घुटने, एड़ी और पैर एक दूसरे के संपर्क में और दोनों हाथ और कंधे एक सीधी रेखा में हों।
  • सिर घुमाएं और दाहिने हाथ को देखें।
  • आसन में कुछ देर रुकें।
  • बाईं ओर भी ऐसा ही दोहराएं। 

यदि कम वजन खराब खान-पान और उचित आहार का पालन न करने के कारण है, तो धीमा करें और वर्तमान जीवन शैली में एक विराम लाएं। वजन बढ़ाने और विशेष रूप से बाजुओं के आसपास टोनिंग का अनुभव करने के लिए इन अभ्यासों को अपने रेगुलर रूटीन में शामिल करें।

इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट करके जरूर बताएं और जुड़ें रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।   

Image Credit: Shutterstock.com 

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।