Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    संंपूर्ण शरीर का कायाकल्प करता है ये योग, रोजाना 5 मिनट करें

    आज हम आपको एक ऐसे योगासन के बारे में बता रहे हैं जिसे आप रोजाना 5 मिनट करके शरीर का कायाकल्‍प कर सकती हैं। 
    author-profile
    Updated at - 2022-12-08,15:00 IST
    Next
    Article
    parvatasana steps and benefits hindi

    लोकप्रिय रूप से माउंटेन पोज के नाम से जाना जाता है, इस आसन का नाम संस्कृत के शब्द पर्वत से आया है। इस आसन की सबसे अच्छी बात यह है कि कोई भी इस आसन को आसानी से करने में सक्षम है। यह आसन हर रोज अभ्यास के लिए जरूरी है क्योंकि इसके कई अद्भुत फायदे हैं जो इसे एक अत्यंत आवश्यक आसन बनाते हैं। 

    पर्वतासन डिप्रेशन और चिंता से पीड़ित लोगों के लिए उत्तम है। नियमित अभ्यास से मन शांत होता है और सिरदर्द, अनिद्रा और थकान दूर होती है। वजन घटाने के नुस्खे की तलाश करने वालों के लिए, यह आसन बहुत मददगार है। पर्वतासन कंधों, चेस्‍ट और ऊपरी पीठ के हिस्‍से से अतिरिक्त वजन कम करके शरीर के ऊपरी हिस्से की मसल्‍स को टोन करता है।

    पर्वतासन के अभ्यास के कुछ अन्य लाभ यह हैं कि यह ब्रेन में ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। आसन रीढ़ को लंबा कर सकता है और लंग्‍स की क्षमता को बढ़ाकर चेस्‍ट की मसल्‍स को मजबूत करता है। इसका अभ्यास करने के बाद हम तरोताजा और ऊर्जावान महसूस करते हैं। पर्वतासन साइटिका जैसी पीठ के निचले हिस्से की बीमारियों के इलाज में भी बहुत फायदेमंद है।

    पर्वतासन की विधि

    parvatasana  benefits

    • दोनों हाथों और पैरों पर शुरू करें, सुनिश्चित करें कि हथेलियां कंधों के नीचे और घुटने कूल्हों के नीचे हों। 
    • कूल्हों को ऊपर उठाएं, घुटनों और कोहनियों को सीधा करें और उल्टे ‘वी’ का आकार बनाएं।
    • अब उंगलियां आगे की ओर करके हाथों को कंधों की चौड़ाई जितना अलग रखें। 
    • हथेलियों पर दबाव डालें और कंधे के ब्लेड्स को खोलें। 
    • अब एड़ियों को फर्श से ऊपर उठाएं।
    • नज़र पैर की उंगलियों पर केंद्रित रखें।
    • आठ से दस सांसों तक रोकें।

    Recommended Video

    पर्वतासन के फायदे 

    • यह आपके शरीर का कायाकल्प करता है।
    • यह आपके पूरे शरीर में स्‍ट्रेच लाता है और शक्ति प्रदान करता है।
    • कमर दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है।
    • सिरदर्द, थकान और अनिद्रा दूर करने में उपयोगी होता है। 
    • शरीर की मसल्‍स को टोन करता है।
    • आपके पैरों, पैरों, कंधों और बाजुओं को स्‍ट्रेंथ देता है।
    • चिंता और डिप्रेशन कम करता है।
    • इस मुद्रा से आपके शरीर को 360 डिग्री का स्‍ट्रेच मिलता है।
    • चूंकि यह आसन आपसे अपने शरीर का भार अपनी हथेलियों और पैरों के बीच ले जाने की अपेक्षा करता है, इसलिए इस आसन की भार वहन करने की प्रकृति हड्डियों को मजबूत बनाती है।
    • मेनोपॉज के लक्षणों से राहत दिलाता है।
    • सिरदर्द, अनिद्रा, कमर दर्द और थकान को ठीक करता है।
    • इस मुद्रा का उपयोग हाई ब्‍लड प्रेशर, अस्थमा, साइटिका, फ्लैट पैर और साइनसाइटिस के लिए चिकित्सीय सहायता के रूप में किया जा सकता है।
    • पर्वतासन पीठ के निचले हिस्से की बीमारियों के इलाज में भी लाभकारी हो सकता है
    • अस्थमा जैसे फेफड़ों के विकारों के लिए फायदेमंद होता है।
    • पर्वतासन पीरियड्स के दर्द और बेचैनी जैसे पीरियड्स के लक्षणों के उपचार में भी मदद करता है।
    • पेट की मसल्‍स को खींचने और मजबूत करने में मदद करता है।

    सावधानी

    parvatasana steps benefits

    • इसे करने से पहले हमेशा एक ट्रेनर से परामर्श करें।
    • यदि आप कार्पल टनल सिंड्रोम से पीड़ित हैं तो यह आसन न करें
    • दस्त की समस्‍या होने पर इसे करने से बचें। 
    • प्रेग्‍नेंसी के बाद के चरणों में यह आसन न करें
    • हाई ब्‍लड प्रेशर या सिरदर्द के मामले में धीमी गति से चलें।
    • बाजुओं, हिप्‍स, कंधों और पीठ में पुरानी या हाल ही में लगी चोट के मामले में इस आसन से बचें।

    आप भी इस योग को करके शरीर को टोन करने के साथ हेल्‍थ से जुड़े सारे फायदे पा सकती हैं। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें। साथ ही आर्टिकल के अंत में आ रहे कमेंट सेक्‍शन में कमेंट करके जरूर बताएं। योग से जुड़े ऐसे ही और आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

    Image Credit: Freepik

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।