फिट रहना किसी भी उम्र में व्यक्ति के लिए जरूरी है। जब आप एक्सरसाइज करते हैं तो इससे ना केवल आपको शारीरिक रूप से लाभ मिलता है, बल्कि यह आपकी मेंटल हेल्थ के लिए भी जरूरी है। हालांकि, यह देखने में आता है कि लोग फिटनेस को उम्र के साथ जोड़कर देखते हैं और इसलिए फिटनेस को लेकर तरह-तरह की भ्रांतियां उनके मन में होती हैं। जैसे कि अगर आपकी उम्र पचास के पार हो गई है और आपने अभी तक एक्सरसाइज को अपने लाइफस्टाइल का हिस्सा नहीं बनाया है तो अब आप उसे नहीं कर सकतीं या फिर बढ़ती उम्र में एक्सरसाइज करना सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है या फिर पचास के बाद एक्सरसाइज करके आप खुद को शेप में नहीं ला सकतीं।

हो सकता है कि आपने भी इनमें से कुछ मिथ्स के बारे में अपने आस-पास के लोगों से सुना हो या फिर आप खुद भी इनमें से किसी मिथ पर आंख मूंदकर भरोसा करती हों। जबकि आपको बिना सोचे-समझे ऐसा नहीं करना चाहिए। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे ही पॉपुलर फिटनेस मिथ्स के बारे में बता रहे हैं, जिन पर महिलाएं 50 के बाद विश्वास करना शुरू कर देती हैं-

मिथ 1- बढ़ती उम्र में एक्सरसाइज करने से बॉडी को होगा नुकसान

fitness for women

सच्चाई- यह 50+ को लेकर माना जाने वाला एक पॉपुलर मिथ है। दरअसल, कुछ महिलाएं समझती हैं कि अगर उन्होंने पहले कभी एक्सरसाइज नहीं की है तो अब उन्हें व्यायाम नहीं करना चाहिए। इससे उनकी सेहत को नुकसान होगा। जबकि यह पूरी तरह से मिथ है। यह सच है कि बढ़ती उम्र में जोड़ों में दर्द से लेकर अन्य कई हेल्थ प्रॉब्लम्स शुरू हो जाती हैं, लेकिन इसका अर्थ यह कतई नहीं है कि अब आपको व्यायाम नहीं करना चाहिए। आपकी सेहत को समस्या तब होती है, जब आप जरूरत से ज्यादा व्यायाम करें या फिर गलत तरीके से एक्सरसाइज करें। इसलिए, बेहतर होगा कि अगर आप पहली बार एक्सरसाइज कर रही हैं तो किसी एक्सपर्ट की देख-रेख में ही करें।

मिथ 2- 50 के बाद एक्सरसाइज करने से गिरने व चोट लगने का खतरा अधिक रहता है।

above  year fitness tips

सच्चाई- इस बात में भी कोई सच्चाई नहीं है। वास्तव में, यह आपके गिरने की संभावनओं को कम करता है। दरअसल, जब आप नियमित रूप से एक्सरसाइज करती हैं तो इससे आपकी बॉडी बैलेंसिंग बेहतर होती है। साथ ही आपकी स्ट्रेन्थ पर भी सकारात्मक असर पड़ता है। इतना ही नहीं, अगर आपको ऑस्टियोपोरोसिस और कमजोर हड्डियों से जुड़ी समस्या हैं, तो उन्हें मजबूत करने का सबसे अच्छा तरीका नियमित रूप से व्यायाम करना है।

इसे ज़रूर पढ़ें- मौनी रॉय की तरह ये 4 योग करेंगी तो 35 में भी दिखेंगी फिट और सुंदर

मिथ 3- मैं बीमार हूँ, इसलिए मुझे व्यायाम नहीं करना चाहिए।

सच्चाई- बढ़ती उम्र में कई तरह की बीमारियां हमें घेर लेती हैं और हमें लगता है कि बीमार होने पर एक्सरसाइज नहीं करनी चाहिए। जबकि अगर आपको हेल्थ संबंधी कोई पुरानी स्वास्थ्य समस्या है - जैसे गठिया, मधुमेह, या हृदय रोग आदि तो व्यायाम करना आपके लिए लाभदायक होगा। हालांकि, इसे शुरू करने से पहले एक बार डॉक्टर से संपर्क अवश्य करें। आपको शायद पता ना हो लेकिन बढ़ती उम्र में कुछ लोगों के लिए व्यायाम उतना अधिक लाभ पहुंचा सकता है जितना कि उन्हें हर दिन कई गोलियों को लेने से भी ना हो।  

Recommended Video

मिथ 4- मैं डिसेबल्ड हूं, इसलिए मैं व्यायाम नहीं कर सकता।

fitness

सच्चाई- यह सच है कि आपकी डिसेबिलिटी व्यायाम को चुनौतीपूर्ण बना सकती है, लेकिन वास्तव में यह किसी प्रकार का व्यायाम न करने का कोई बहाना नहीं है। भले ही बढ़ती उम्र में स्वास्थ्य समस्याओं के कारण आप व्हीलचेयर पर हैं, लेकिन फिर भी आप एरोबिक एक्सरसाइज करने और अपनी स्ट्रेन्थ को बढ़ाने के लिए अपनी बाहों का उपयोग कर सकते हैं। इतना ही नहीं, आप बेडरेस्ट पर होते हुए भी कुछ एक्सरसाइज करके अपनी बॉडी की मूवमेंट को बेहतद बना सकते हैं। बस जरूरत है कि आपके मन में इसे करने की इच्छाशक्ति हो और फिर डॉक्टर्स भी आपकी मदद करेंगे।

इसे ज़रूर पढ़ें- चंद्रमा के साथ योग को कैसे सिंक करें? जानें

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit- (@Freepik)