• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

महिलाएं ये 1 योग करेंगी तो 50 के बाद नहीं होंगी पेशाब से जुड़ी परेशानी

अगर आप चाहती हैं कि बढ़ती उम्र में आपका पेल्विक स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा रहे, तो अपने रूटीन में कीगल योग को शामिल करें। 
author-profile
Next
Article
kegel yoga for women

मजबूत पेल्विक अच्छा संतुलन प्रदान करता है और हमें एक हेल्‍दी ब्‍लैडर के लाभ देता है, यहां तक कि सांस लेने में भी सुधार करता है। इ‍सलिए आज हम आपको कुछ आसनों के बारे में बता रहे हैं जिन्हें नियमित रूप से किया जा सकता है और इनके पेल्विक स्वास्थ्य के अलावा, कई अन्य लाभ भी हैं। ये योग पेल्विक फ्लोर स्वास्थ्य में शामिल बाहरी मसल्‍स को मजबूत करते हैं, जिससे हमें कीगल्स से अधिक फायदे पाने में मदद मिलती है।

इन योगासन के बारे में हमें योगा मास्टर, फिलांथ्रोपिस्ट, धार्मिक गुरू और लाइफस्टाइल कोच ग्रैंड मास्टर अक्षर जी बता रहे हैं। लेकिन सबसे पहले यह जान लेते हैं कि कीगल योग क्‍या है और इसके क्‍या फायदे हैं।

कीगल योग क्या हैं?

कीगल योगाभ्यास में पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स को सिकोड़ना और शिथिल करना शामिल हैं, जो यूट्रस और ब्‍लैडर को योनि के ऊपर रखता है। उद्देश्य इन मसल्‍स के स्वर में सुधार करना है, जिसके निम्नलिखित लाभ हो सकते हैं।

कीगल योग के फायदे

पेल्विक फ्लोर विकार 50 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं के लिए एक सामान्य स्थिति है। पेल्विक फ्लोर डिसफंक्शनएक ऐसा शब्द है जिसका उपयोग विभिन्न प्रकार के विकारों के लिए किया जाता है जो तब होते हैं जब पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स और लिगामेंट खराब हो जाते हैं।

सामान्य लक्षणों में पेल्विक एरिया में दर्द, दबाव, असंयम, अधूरा खाली होना और दिखाई देने वाले अंग का फैलाव शामिल हैं। योग के अभ्यास से हम अपनी पेल्विक मसल्‍स के स्वास्थ्य को मजबूत और बेहतर बना सकते हैं। अन्य लाभ इस प्रकार हैं-

  • पेल्विक मसल्‍स की शक्ति और जागरूकता बढ़ाना।
  • योनि या पेल्विक दर्द को कम करना।
  • मूत्र असंयम के कुछ रूपों में सुधार
  • पेल्विक ऑर्गन प्रोलैप्स को रोकना या उसका इलाज करना, जिसमें यूट्रस या ब्‍लैडर योनि में उभार जाता है।

योग आसन

शलभासन

Shalabasana kegel yog

  • शष्टांग प्राणामासन में पेट के बल लेटकर बाहों को आगे की ओर और हथेलियों को आपस में मिलाकर शुरू करें।
  • गहरी सांस लें और बाहों (नमस्कार में जारी), छाती और सिर को उठाएं।
  • पैरों को एक साथ उठाएं, उन्हें सीधा रखें और शरीर को पेट पर संतुलित करें।
  • इस मुद्रा में थोड़ी देर रुकें।

उत्कटासन

Utkatasana kegel yoga

  • समस्थिति से शुरू करें।
  • हृदय चक्र पर नमस्ते बनाने के लिए हथेलियों को मिलाएं और बाहों को ऊपर उठाएं।
  • घुटनों को मोड़ें और धीरे-धीरे पेल्विक को नीचे करें।
  • सुनिश्चित करें कि पेल्विक फर्श के समानांतर हो और घुटनों पर 90 डिग्री झुके हुए हों।
  • टखनों और घुटनों को एक सीधी रेखा में संरेखित करें।
  • नजरों को हथेलियों की ओर केंद्रित करें।
  • सुनिश्चित करें कि रीढ़ सीधी रहे और पीठ को झुकाने से बचें।
  • 10 सेकंड के लिए इस आसन में रहें।

वीरभद्रासन

Veera Bhadrasana kegel yoga

  • हथेलियों के बीच में दाहिने पैर के साथ अश्वसंचलानासन करें।
  • बाहों को ऊपर उठाएं। 
  • ध्‍यान रखें कि हथेलियां एक दूसरे के सामने हों।
  • पीठ को सीधा करें और कान के संपर्क में हाथ होने चाहिए। 
  • सीधे आगे की ओर देखें।

कंधारासन

Kandharasana kegel yoga

  • पीठ के बल लेटकर शुरुआत करें।
  • घुटनों को मोड़ें और पैरों को फर्श पर रखें।
  • पैदल चलें और पैरों को पेल्विक की ओर स्‍ट्रेच करें।
  • बाहों को शरीर के बगल में फर्श पर फैलाएं।
  • टखनों को हथेलियों से पकड़ें।
  • धीरे-धीरे पेल्विक को ऊपर उठाएं और फर्श से पीछे हटें।
  • चेस्‍ट को ठुड्डी से छूने की कोशिश करते हुए पीठ से एक कोमल आर्च बनाएं।
  • नजरों को ऊपर की ओर केन्द्रित करें।
 

Recommended Video

हाथ, पैर, पेट आदि के लिए व्यापक रूप से लोकप्रिय और आसानी से उपलब्ध एक्‍सरसाइज के विपरीत, पेल्विक एरिया के लिए योग को करते हुए थोड़ा ध्‍यान देने की आवश्‍यकता होती है। हर सांस लेने और छोड़ने के साथ, डायाफ्राम धड़ में पेल्विक तल पर दबाव बनाता है और छोड़ता है। न केवल जब हम इन आसनों को कर रहे हों बल्कि हर समय सांस के प्रति अधिक जागरूक बनें। यहां तक कि जब प्रवाह के माध्यम से आगे बढ़ते हैं और दिन के दौरान, गहरी, जानबूझकर श्वास लेने और छोड़ने का अभ्यास करने पर ध्यान केंद्रित करें।

आप भी इन कीगल योगासन को करके पेल्विक फ्लोर से जुड़ी कई समस्‍याओं से निजात पा सकती हैं। योग से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Shutterstock.com 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।