योग रखे निरोग
यह कहावत ही नहीं बल्कि सच है।
क्‍योंकि रेगुलर योग करने से आपको बहुत सारे फायदे मिलते हैं। जी हां आजकल की भागदौड़ भरी लाइफ में योग ही एक ऐसा है जिससे आपका तन और मन दोनों हेल्‍दी रहता है। और पतली कमर की चाह रखने वाली महिलाओं के लिए तो इससे अच्‍छा कुछ और हो ही नहीं सकता है। अगर आप अपने बैली फैट को कम करना चाहती हैं तो अपने रूटीन में पादहस्‍तासन को शामिल करें। इस बारे में ज्‍यादा जानने के लिए हमने स्‍वामी परमानंद प्राकृतिक चिकित्‍सालय योग एवं अनुसंधान केन्‍द्र की आयुर्वेदिक डॉक्‍टर दुर्गा अरुंद तब उन्‍होंने हमें बताया कि पादहस्‍तासन रेगुलर करने से आप 1 महीने में ही अपने बैली फैट को कम कर सकती हैं। 

belly fat inside

बैली फैट के लिए पदाहस्‍तासन ही क्‍यों?

पतली कमर की चाह हर उम्र की महिला को होती हैं। लेकिन पतली कमर पाना किसी टास्‍क से कम नहीं है। पादहस्तासन इसके लिए सबसे अच्‍छा उपाय है। यह आसन पेट और कमर के पास जमा फैट को कम करने में हेल्‍प करता है जिससे कमर पतली और आकर्षक बनती है। यही नहीं ये बॉडी को फ्लैक्‍सीबल बनाता है। ये आसन हाथों से पैरों को पकड़कर किया जाता है इसलिए इसे पादहस्‍तासन कहते हैं। यह योग का ऐसा आसन है जो डाइजेशन को ठीक करता है साथ ही यह कमर के लिए भी बहुत प्रभावी है। बैल फैट को कम कर वेट लॉस में भी यह बहुत ही प्रभावी है। इसे रेगुलर करने से ब्‍लड सर्कुलेशन ठीक रहता है और बॉडी एनर्जेटिक रहती है।

Read more: योग करती है जो नारी, नहीं होती है उसको कोई बीमारी

padahastasana for belly fat inside

कैसे करते हैं पादहस्‍तासन?

  • कंधे और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखते हुए सीधे खड़ी हो जाए। 
  • अब दोनों हाथों को धीरे-धीरे ऊपर उठाकर हाथों को कंधे की सीध में ले जाए।
  • फिर थोड़ा-थोड़ा कंधों को आगे की ओर झुकाते हुए सिर के ऊपर तक उठाए।
  • ध्यान रहे कि कंधे आपके कानों से सटे हों। हथेलियां सामने की ओर हों।
  • जब कंधे एक-दूसरे के समानान्तर ऊपर उठ जाएं तब धीरे-धीरे कमर को सीधा रखकर सांस अंदर लेते हुए नीचे की ओर झुकना शुरू करें।
  • झुकते समय भी ख्याल रखें कि कंधे कानों से सटे ही रहें।
  • घुटने सीधे रखते हुए दोनों हथेलियों से एड़ी-पंजे मिले दोनों पांव को टखने के पास से कस के पकड़कर माथे को घुटने से छूने का करने का प्रयास करें।
  • सुविधानुसार 30-40 सेकंड इस पॉजिशन में रहें।
  • वापस आने के लिए धीरे-धीरे इस पॉजिशन से ऊपर उठिए।
  • सीधे होकर अपने हाथों को फिर से कमर से सटाने के बाद आराम की पॉजिशन में आएं।
  • 5 से 7 बार ऐसा करें।

पादहस्तासन के अन्य फायदे

पतली कमर पाने के साथ-साथ पादहस्तासन बॉडी को फ्लैक्‍सीबल बनाता है। इसके अलावा ये हाइट बढ़ाने में भी हेल्‍प करता है। हालांकि एक उम्र के बाद हाइट का बढ़ाना बहुत ही मुश्किल होता है। बावजूद इसके इस आसन से बॉडी में स्‍ट्रेच होने के कारण हाइट में नॉर्मल वृद्धि देखी जा सकती है। बच्चों के लिए यह आसन बेहद फायदेमंद है। खासकर उन बच्चों के लिए जिन्हें अपनी हाइट को लेकर संदेह है। इसके अलावा यह आसन यूरीन ट्रेक्‍ट और यूटरस के लिए विशेष रूप से कारगर है। इससे कब्ज दूर होती है। पीठ और रीढ़ की हड्डियां मजबूत और लचीला भी बनाता है। हिप्‍स मसल्‍स को भी मजबूत करता है। आंतों व पेट की नॉर्मल प्रॉब्‍लम्‍स के लिए इस आसन को रेगुलर करने से दूर होते हैं।

  • Pooja Sinha
  • Her Zindagi Editorial