गोमुखासन जैसे कि आपको नाम से ही पता चल रहा है कि इस आसन को करने से आपकी स्थिति गाय की तरह हो जाती है। योग का यह आसन करने में बहुत ही आसान हैं और हर उम्र की महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता हैं। इसे करने से आप अपने वजन को कम करने से लेकर शरीर को सुंदर बना सकती हैं।  गोमुखासन हमारे कंधों और थाई की मसल्‍स को मजबूत बनाता है और आसन पीठ और कंधे की समस्या से परेशान महिलाओं के लिए बहुत उपयोगी होता है। साथ ही यह शरीर के लचीलेपन को बढ़ाता है। इसके अलावा यह ब्रेस्‍टफीडिंग कराने वाली महिलाओं के लिए विशेष रूप से उपयोगी होता है। आइए इस आसन को करने के तरीके और फायदों के बारे में जानें।  

गोमुखासन संस्कृत का एक शब्द हैं जो दो शब्दों जिसमें पहला शब्‍द 'गौ' का अर्थ 'गाय' हैं और दूसरा शब्द 'मुख' का अर्थ 'मुंह' से मिलकर बना हैं। इस आसन का अर्थ गाय के मुंह के समान होता हैं। इसे अंग्रेजी में काऊ फेस पोज (Cow Face Pose) के नाम से जाना जाता हैं। इस आसन में थाई और दोनों हाथ एक छोर पर पतले और दूसरे छोर पर चौड़े होते हैं इसलिए इसे करने पर आप गाय के मुख के समान दिखाई देते हैं।

इसे जरूर पढ़ें: Safe pregnancy के लिए रोजाना करें ये 2 योगासन

gomukhasana cow face pose inside

गोमुखासन करने का सही तरीका

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले जमीन पर बैठें और अपनी कमर सीधी रखें।
  • फिर अपने एक पैर को दूसरे पैर पर रखें, लेकिन ध्‍यान रखें कि ऐसा करते समय आपकी एक थाई दूसरी के ऊपर हो।
  • इसके बाद बाएं हाथ को उठाकर कोहनी की तरफ से मोड़ें और पीछे की ओर कंधों से नीचे ले जाएं।
  • उसके बाद दाएं हाथ को कोहनी से मोड़ें और ऊपर की ओर ले जाकर पीछे पीठ पर ले जाएं।
  • दोनों हाथों की अंगुलियों को पीठ के पीछे इस तरह से रखें कि एक दूसरे को आपस में इंटरलॉक हो जाए। 
  • अब सिर को कोहनी पर टिकाकर पीछे की ओर करने की कोशिश करें।
  • इस क्रिया को करते हुए सांस लें और छोडें और 4 से 5 बार दोहराएं। 
  • इस प्रक्रिया को उल्‍टी तरह से करें।
gomukhasana cow face pose inside

गोमुख आसन के फायदे

  • मां बनने वाली महिलाओं के लिए यह आसन बेहद लाभकारी है, इसके अलावा ब्रेस्‍टफीडिंग कराने वाली महिलाओं के लिए भी यह आसन बहुत अच्‍छा होता है। 
  • अस्थमा से परेशान महिलाओं के लिए भी यह लाभकारी है। अर्थराइटिस में भी यह काफी मददगार है।
  • यह आसन कूल्‍हों और कमर में दर्द को कम करता है। इससे रीढ की हड्डी सीधी रहती है। बॉडी पॉश्‍चर सुधरता है। 
  • बांहों और कंधों को मजबूत बनाने के लिए यह आसन उपयोगी है। 
  • साथ ही जिन महिलाओं को हाई या लो बीपी की शिकायत होती है, उनके लिए भी लाभकारी होता है।
  • यह महिलाओं की समस्‍याओं को दूर करने का बहुत ही असरदार होता हैं।
gomukhasana cow face pose inside

सावधानियां

  • अगर आपको कंधे, गर्दन, पीठ या घुटने में दर्द हैं तो आपको इस आसन को करने से बचना चाहिए।
  • रीढ़ की हड्डी में किसी भी तरह की समस्या या दर्द हो तो इस आसन को ना करें।
  • अगर आप प्रेग्‍नेंट हैं तो पहले के महीने में इस आसन को ना करें।
  • अगर पीठ के पीछे हाथ को पकड़ने में परेशानी हो रही हैं तो जबरदस्ती ना करें।