बढ़ते वजन से परेशान हैंं?
चेहरे का ग्‍लो भी कम हो गया है?
तनाव ने आपको घेर रखा है?
तो परेशान न हो बल्कि अपने फिटनेस रूटीन में प्राणायाम को शामिल करें। जी हां प्राणायाम एक ऐसा अभ्‍यास है जो हमारे शरीर की प्रत्येक सेल को एनर्जी देने में सहायक होता है। यह एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ है 'जीवन शक्ति की महारत' या शाब्दिक रूप से इसे जीवन शक्ति या सांस लेने की प्रक्रिया के रूप में जाना जाता है, जो हमारे शरीर को बनाए रखता है। प्राणायाम का अभ्यास करना आपको आसान लग सकता है, लेकिन इसमें रेगुलर ट्रेनिंग की जरूरत होती है। 

योग विज्ञान के अनुसार, प्राणायाम का उद्देश्य जीवन शक्ति का मार्गदर्शन करने वाले सभी को भाग लेना है। प्राणायाम में आमतौर पर सही सांस लेने का अभ्यास शामिल होता है। चूंकि प्राणायाम के लिए आपको सही सांस लेने की आवश्यकता होती है, इसमें शरीर के सभी अंग शामिल होते हैं। यह ब्रेन, नसों, ग्रंथियों और आंतरिक अंगों की एकता के लिए आवश्यक होता है। इसका मतलब है कि ताजा ऑक्सीजन आपके शरीर के हर अंग तक पहुंचती है। ऑक्सीजन हमारे शरीर के लिए सबसे आवश्यक पोषक तत्व है। हम पानी के बिना 1-2 दिन तक जीवित रह सकते हैं, लेकिन ऑक्सीजन के बिना हम कुछ मिनट भी जीवित नहीं रह सकते हैं। रोजाना प्राणायाम करने से आपको 5 तरह के फायदे मिल सकते हैं। आइए इन फायदों के बारे में इस आर्टिकल के माध्‍यम से जानें। 

malaika doing pranayama inside

वेट लॉस में मददगार

जो महिलाएं अपना वजन कम करना चाहती हैं, उनके लिए प्राणायाम बहुत अच्‍छा साबित होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि प्राणायाम शरीर को नियंत्रित करने में आपकी मदद करता है। जब हम नियमित रूप से प्राणायाम का अभ्यास शुरू करते हैं तो कई फूड्स के लिए हमारी लालसा कम हो जाती है क्योंकि यह हमारे शरीर में असंतुलन को समाप्त करना शुरू कर देता है। जब हमारा शरीर थका हुआ होता है तो हम अनहेल्‍दी भोजन करते हैं। लेकिन प्राणायाम का अभ्यास हमारे द्वारा किए गए भोजन में बैलेंस और उसके प्रति जागरूकता को बढ़ाता है।

इसे जरूर पढ़ें- रोजाना करेंगी ये 2 प्राणायाम तो वजन होगा कम और स्किन करेगी ग्‍लो

Recommended Video

समग्र कल्‍याण करता है

प्राणायाम शरीर में नसों को शुद्ध करने के लिए जाना जाता है। चूंकि यह शरीर के ऊर्जा प्रवाह को संतुलित करता है इसलिए प्राणायाम हमारे समग्र कल्याण को प्रभावित करता है। इसलिए रोजाना प्राणायाम करने की सलाह दी जाती है। ऐसा कहा जाता है कि रोजाना प्राणायाम करने से दिमाग को स्थिर और रोग-मुक्त शरीर पाने में मदद मिलती है। इसके अलावा कई अध्ययनों से यह साबित हुआ है कि प्राणायाम व्यक्ति के जीवन काल को बढ़ा सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि प्राणायाम व्यक्ति को व्यवस्थित रूप से सांस लेने में मदद करता है।

shilpa shetty doing pranayama inside

चेहरा करता है ग्‍लो 

प्राणायाम एक अभ्यास है जो आपको शारीरिक फिटनेस हासिल करने में मदद करता है। चूंकि, ऑक्सीजन आपके सभी अंगों तक पहुंच रहा है, प्राणायाम पाचन तंत्र को संतुलित करता है और आपकी त्वचा को एक प्राकृतिक ग्‍लो देता है। प्राणायाम व्यक्ति की जीवन शक्ति को बढ़ाने के लिए जाना जाता है।

इसे जरूर पढ़ें- 'अनुलोम-विलोम' रोजाना 10 मिनट करने से महिलाओं को मिलेंगे ये 10 फायदे

तनाव को करता है कम

प्राणायाम एकाग्रता, याददाश्त और तनाव में कमी आने पर मानसिक स्वास्थ्य भी बनाता है। हमारा मन एक शक्तिशाली उपकरण है जो हमारा पूरा दिन कैसा दिखेगा इस बारे में मार्गदर्शन कर सकता है। प्राणायाम हमारी मानसिक तंत्रिकाओं में शांति लाने में मदद करता है क्योंकि यह शरीर में ऑक्सीजन की आपूर्ति को बढ़ाता है। इसका मतलब है कि ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ता है और तनाव से राहत देने में मदद करता है।

pranayama benefits inside

बीमारियों को करता है दूर

जो महिलाएं हाई ब्‍लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित हैं, उनके लिए रोजाना प्राणायाम करना बहुत फायदेमंद हो सकता है। चूंकि इस स्थिति में ब्‍लड प्रेशर बढ़ जाता है, प्राणायाम इस अचानक बढ़ने वाले बीपी को कंट्रोल में लाने में मदद करता है। चूंकि प्राणायाम एक मेडिटेटिव अवस्था है, इसलिए यह शरीर को शांत करता है और बदले में ऐसे हार्मोन छोड़ता है जो शरीर को पूरी तरह से आराम देते हैं। ब्‍लड प्रेशर के साथ-साथ डायबिटीज और डिप्रेशन जैसे गंभीर मुद्दों को भी प्राणायाम के नियमित अभ्यास से मदद मिल सकती है।

आप भी यह सारे फायदे पाने के लिए रोजाना प्राणायाम करें। फिटनसे से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik & Pinterest.com