अधिकतर लोगों के लिए वर्क फ्रॉम होम खत्म हो गया है और अब फिर से सड़कों पर वही रौनक दिखने लगी है जो पहले दिखा करती थी। यकीनन दोबारा ऑफिस शुरू करना और वापस अपनी लाइफस्टाइल को थोड़ा सा एक्टिव बनाना अच्छा लग रहा होगा, लेकिन अगर देखा जाए तो अभी भी वर्क फ्रॉम होम की कई समस्याएं हमें परेशान कर रही हैं। 

उदाहरण के तौर पर लगातार बैठे रहने के कारण हमारी पीठ, कमर और गर्दन कुछ इस तरह से दर्द होती है जैसे अभी से ही बुढापा आ गया हो। मज़ाक की बात और है, लेकिन ये समस्या कई लोगों को परेशान कर रही है। 1.5 साल से ज्यादा वर्क फ्रॉम होम करने के बाद समस्या बहुत बढ़ी हुई सी लगती है। 

आयुर्वेदिक डॉक्टर दीक्षा भावसार ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इससे जुड़ी एक पोस्ट शेयर की है। डॉक्टर दीक्षा का कहना है कि उन्होंने लगभग 100 मरीज़ों से एक ही समस्या के बारे में सुना जो उनके बैक पेन से जुड़ी हुई थी। ऐसा उनकी लाइफस्टाइल की वजह से हुआ है, लगातार बैठे रहना और वर्क फ्रॉम होम करना कई लोगों के लिए परेशानी का सबब बन सकता है। 

इसे जरूर पढ़ें- विटामिन D के अलावा ये चीज़ें भी देता है सूरज, जानें इसके फायदे

डॉक्टर दीक्षा ने इसे लेकर कुछ खास टिप्स शेयर किए हैं जो हमारे काम आ सकते हैं। बैक पेन की समस्या अगर क्रॉनिक नहीं है और ये सिर्फ आपकी लाइफस्टाइल की वजह से हुआ है तो इन टिप्स की मदद से आपको काफी अच्छा लगेगा।  

ये टिप्स करेंगे बैक पेन कम करने में मदद-

1. तकिए का इस्तेमाल ना करें-

सबसे पहली टिप यही है कि आपकी गर्दन दिन भर वर्क फ्रॉम होम या कंप्यूटर पर ज्यादा काम करने के कारण झुकी हुई सी लगती है और ऐसे में अगर आप रात में भी मोटा तकिया लगाकर सोएंगे तो गर्दन और भी ज्यादा मुड़ेगी और ये आपकी रीढ़ की हड्डी के लिए अच्छा नहीं साबित होगा। इसलिए या तो बिना तकिए के सोएं या फिर पतला तकिया लगाएं। 

back ache due to sleeping

2. योगा करेगा आपकी मदद-

कुछ खास आसन होते हैं जो सिर्फ आपकी स्पाइनल कॉर्ड को ठीक करने में मदद करते हैं। ये मकरासन, शलभासन, मर्कटासन, भुजंगासन हो सकते हैं। अगर आप योगा करते हैं तो ये चारों आसन आपके लिए अच्छे साबित हो सकते हैं। 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Dr Dixa Bhavsar (@drdixa_healingsouls)

 

3. ज्यादा देर तक बैठने से रहें दूर- 

अगर आप एक ही पोजीशन में ज्यादा देर तक बैठते हैं तो ये आपके लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। ये हमेशा ही खराब होता है और आपको 2 घंटे से ज्यादा एक ही स्थिति में नहीं बैठना चाहिए। अगर आपके पास काम ज्यादा है तब भी 5 मिनट का ब्रेक लें और स्ट्रेचिंग करें। ये आपके लिए फायदेमंद होगा।  

इसे जरूर पढ़ें- Expert Tips: आयरन की कमी और अन्य इन्फेक्शन से कैसे करें बचाव? 

Recommended Video

4. अभियंता (बैक ऑयल मसाज) 

आयुर्वेद में पीठ के दर्द को कम करने के लिए तेल से मसाज भी मददगार साबित हो सकते हैं। इसके लिए डॉक्टर दीक्षा ने 3 तेल भी बताए हैं।  

  • अश्वगंधा तेल
  • महानारायण तेल
  • धनवंतरम तेल 

आप अगर बाज़ार से कोई तेल खरीद कर नहीं लाना चाहते हैं तो तिल या फिर सरसों के तेल का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।  

यहां पर आपको एक बात जरूर ध्यान देनी चाहिए कि आपको पीठ में दर्द किसी नस के दबने की वजह से हो रहा है और अगर ये लगातार बना हुआ है तो फिर आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। अगर ये एकदम से शुरू हुआ है और दर्द बहुत तेज है तो ये भी हो सकता है कि आपको हड्डियों से जुड़ी कोई समस्या हो रही हो।  

आपको अपने बैक पेन के लिए डॉक्टर से बात जरूर करनी चाहिए। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।