पश्चिम नमस्कारासन से लेकर हाफ़ हैंडस्टैंड होने तक के 5 योगासन सभी उम्र के लोगों के लिए है और आपको कई तरह के लाभ देता है। चाहे आप वजन कम करना चाहते हैं या वजन बढ़ाना चाहते हैं, स्वस्थ बाल, चमकती त्वचा, बेहतर प्रतिरक्षा, बढ़ी हुई ताकत, लचीलापन, दिमागीपन, और बहुत कुछ। 

योग आसन शक्ति, लचीलापन, सहनशक्ति और संतुलन जैसे कई अन्य पहलुओं को कवर करते हैं। फॉरवर्ड बेंड, बैकबेंड, सीटेड ट्विस्ट, स्टैंडिंग बैलेंस, इनवर्जन, आर्म बैलेंस और भी बहुत कुछ हैं। अपने अभ्यास के दौरान अपनी सांस के माध्यम से अपने शरीर से जुड़ना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह उन्नत स्तर के आसनों के लिए एक ठोस आधार बनाता है। 

सूर्य नमस्कार का अभ्यास नियमित रूप से टोन करता है और पूरे शरीर के लिए ताकत और लचीलेपन का निर्माण करता है। आसान स्तर से शुरू करके उन्नत स्तर तक इन 5 आसनों का अभ्यास अपनी श्वास और संरेखण पर सावधानीपूर्वक ध्यान दें। इस बारे में योगा मास्टर, फिलांथ्रोपिस्ट, धार्मिक गुरू और लाइफस्टाइल कोच ग्रैंड मास्टर अक्षर जी बता रहे हैं।

पश्चिम नमस्कार आसन - प्रणाम के साथ आगे की ओर झुकें

paschim namaskarasana yoga

  • दंडासन से शुरू करें।
  • सुनिश्चित करें कि आपके घुटने थोड़े मुड़े हुए हैं जबकि आपके पैर आगे की ओर खिंचे हुए हैं।
  • सांस छोड़ें और अपने पेट की हवा को खाली करें। 
  • अपनी हथेलियों को अपनी पीठ के पीछे प्रणाम में मिला लें।
  • सांस छोड़ते हुए, कूल्हे पर आगे की ओर झुकें और अपने ऊपरी शरीर को अपने निचले शरीर पर रखें। 
  • अपने घुटनों को अपनी नाक से छूने की कोशिश करें।

अधोमुख श्वान आसन

adomukhi svanasana for glowing skin

  • अपने चौकों से शुरू करें, सुनिश्चित करें कि हथेलियां कंधों के नीचे हों और घुटने कूल्हों के नीचे हों।
  • कूल्हों को ऊपर उठाएं, घुटनों और कोहनियों को सीधा करें और उल्टे 'वी' आकार का बनाएं।
  • अब हाथों को कंधों की चौड़ाई से अलग रखें। उंगलियां आगे की ओर इशारा करती हैं।
  • अपनी हथेलियों पर दबाव डालें और अपने कंधे के ब्लेड खोलें।
  • अपनी एड़ियों को फर्श पर धकेलने का प्रयास करें।
  • अपनी नज़र अपने बड़े पैर की उंगलियों पर केंद्रित रखें।

पिंच मयूरासन

pincha mayurasana fit body

  • अपनी कोहनी और हथेलियों को जमीन पर रखकर शुरुआत करें। 
  • उन्हें कंधे की चौड़ाई से अलग फैलाएं और अपनी उंगलियों को आगे की ओर इंगित करें।
  • अपने पैरों को सीधा रखते हुए अपने पैर की उंगलियों को अपनी कोहनी की ओर ले जाएं।
  • अपने पेल्विक को ऊपर की ओर इंगित करें और आगे एक बिंदु पर ध्यान केंद्रित करें।
  • एक पैर को जितना हो सके ऊपर उठाएं।
  • अपने शरीर के वजन को पूरी तरह से अपनी बाहों पर शिफ्ट करें और दूसरे पैर को ऊपर उठाएं।
  • अपने पैरों को जोड़ लें और अपने पैर की उंगलियों को ऊपर की ओर इंगित करें।
  • अपने पैरों, पेल्विक और कमर को संरेखित करें।
  • संतुलन बनाए रखने और मुद्रा में बने रहने के लिए अपने कोर, कंधे और बांह की मसल्‍स की ताकत का उपयोग करें।

वृश्चिकासन

vrishchikasana for glowing skin

  • अपनी कोहनी और हथेलियों को जमीन पर रखकर शुरुआत करें।
  • उन्हें कंधे की चौड़ाई से अलग फैलाएं और अपनी उंगलियों को आगे की ओर इंगित करें।
  • अपने पैरों को सीधा रखते हुए अपने पैर की उंगलियों को अपनी कोहनी की ओर ले जाएं।
  • अपने पेल्विक को ऊपर की ओर इंगित करें और आगे एक बिंदु पर ध्यान केंद्रित करें।
  • एक पैर को जितना हो सके ऊपर उठाएं।
  • अपने शरीर के वजन को पूरी तरह से अपनी बाहों पर शिफ्ट करें और दूसरे पैर को ऊपर उठाएं।
  • अपने पैरों को जोड़ लें और उन्हें अपने सिर की ओर मोड़ें।
  • अपनी पीठ के साथ एक वक्र बनाएं और अपने पैरों को अपने सिर के करीब लाएं।
  • संतुलन बनाए रखने के लिए अपने कोर, कंधे और बांह की मांसपेशियों की ताकत का उपयोग करें।
  • अपने पैरों को अपने आगे फर्श पर न गिराएं।

Recommended Video

शीर्षासन 

sirshasana for glowing skin

  • वज्रासन से शुरुआत करें।
  • अपनी कोहनियों को जमीन पर रखें।
  • आपकी आपस में जुड़ी हथेलियां और कोहनियां एक काल्पनिक समबाहु त्रिभुज बनाना चाहिए।
  • अपने सिर के मुकुट को अपनी हथेलियों के सामने फर्श पर रखें।
  • आपकी हथेलियां आपके सिर के पिछले हिस्से को सहारा देने का काम करेंगी।
  • अपने पैर की उंगलियों के साथ अपने सिर की ओर तब तक चलें जब तक कि आपकी पीठ सीधी न हो जाए।
  • सबसे पहले अपने दाहिने पैर को ऊपर उठाएं और इसे अपने ऊपरी शरीर के साथ संरेखित करें।
  • अपनी मूल शक्ति, संतुलन का प्रयोग करें और अपने बाएं पैर को ऊपर उठाएं।
  • अपने पैरों से जुड़ें और अपने पैर की उंगलियों को नीचे करें।
  • जब तक आप सहज हों तब तक इस स्थिति में बने रहें।

सूक्ष्म व्यायाम से शुरुआत करें। इनमें जोड़ों को धीरे-धीरे वार्मअप करने के लिए गर्दन, हाथ, कलाई, कूल्हों, टखनों का कोमल घुमाव शामिल है। तेज गति से घूमें, और अपनी मांसपेशियों को खिंचाव और गतिमान करें। यह आपके शरीर को अभ्यास के लिए तैयार करेगा और आपको अभ्यास से संबंधित चोटों से सुरक्षित रखेगा। 

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेस बुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।