आज के समय में हर कोई हेल्‍दी जीवन जीना चाहता है इसलिए लोग अपने फिटनेस को लेकर बहुत जागरुक हो गए हैं। इस बात का अंदाजा जिम में मौजूद भीड़ को देखकर लगाया जा सकता है। लेकिन आजकल कोरोना वायरस के चलते सोशल डिस्टेंसिंग और जिम बंद होने के कारण लोग जिम नहीं जा पा रहे हैं। लेकिन परेशान होने की जरूरत नहीं क्‍योंकि घर में रहकर भी आप कई ऐसी एक्सरसाइज कर सकती हैं जो वेट लॉस में मदद करने के साथ-साथ आपके संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होती हैं। इन एक्‍सरसाइज में से एक पिलाटे्स एक्‍सरसाइज है। पिलाटेस एक्‍सरसाइज पिछले कुछ सालों से काफी फेमस हो गई है और हो भी क्‍यों न, यह एक्‍सरसाइज आपको वेट लॉस में मदद करने के साथ-साथ कई तरह के हेल्‍थ बेनिफिट्स देती है। अगर आप यह तय नहीं कर पा रही हैं कि आपके लिए कौन सी एक्‍सरसाइज सबसे अच्‍छी है तो हम आपकी मदद करने के लिए पिलाटेस के कुछ प्रकार लेकर आए हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: Ladies के लिए सबसे अच्‍छी एक्‍सरसाइज है pilates, जानिए कैसे

टोंड बॉडी पाने के लिए पिलाटेस सबसे अच्‍छी एक्‍सरसाइज है। यह एक लो इम्‍पेक्‍ट एक्‍सरसाइज है जो शक्ति, संतुलन और गतिशीलता को बढ़ावा देने के लिए गहरी सांसों को जोड़ती है। पिलाटेस का मुख्य फोकस मन और शरीर के बीच एक संबंध बनाना है जो आपको मजबूत, हेल्‍दी और खुश रहने में मदद करता है। 1920 के दशक में जोसेफ पिलाटेस ने अमेरिका में पहली बार इसकी शुरुआत की थी। एथलीट्स और डांसर्स इस एक्सरसाइज को अपनी चोट से उभरने के लिए और फिटनेस बकरार रखने के लिए करते थे। पिलाटेस को अब अलग-अलग तरीकों से किया जाता है। वास्तव में, विभिन्न प्रकार के पिलाटेस हैं जो आपके समग्र स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में आपकी मदद करेंगे। लेकिन सही प्रकार के पिलाटेस का चयन करने के लिए आपको इसके प्रकार और इसके फायदों के बारे में जानना चाहिए।

पिलाटेस के प्रकार

pilates for weight loss inside

क्लासिकल पिलाटेस

यह मैट और उपकरण का एक कॉम्बिनेशन है। यह 6 सिद्धांतों पर केंद्रित है, जिसमें सेंटर, एकाग्रता, कंट्रोल, सटीक, सांस और फ्लो शामिल हैं। यह कोर, मसल्‍स को मजबूत करता है और आपको एक मजबूत और लचीला शरीर पाने में मदद करता है।

पाइलट पिलाटेस

लिंडसे और मोइरा मैथ्यू द्वारा विकसित, पिलाटेस का उद्देश्य स्‍पाइन को बहाल और जोड़ों के आस-पास की मसल्‍स को पुनसंं‍तुलित करने में मदद करना है। यह क्लासिकल पिलाटेस से अलग है।

मैट पिलाटेस

योग के बिल्कुल समान, मैट पिलाटेस को पिलाटेस का सबसे आसान रूप माना जाता है। जैसा कि आप यह अनुमान लगा चुकी होंगी, इस फॉर्म के लिए आपको किसी भी उपकरण के बदले एक मैट की जरूरत होती है। मैट पिलाटेस का उद्देश्य शरीर को मजबूत, एकाग्रता में सुधार, तनाव का प्रबंधन और लचीलेपन में सुधार करके समग्र स्वास्थ्य में सुधार करना है। यह पिलाटेस की शुरुआत करने वाले लोगों के लिए एकदम सही है।

Pilates fitness

कंटेंपरेरी पिलाटेस

कंटेंपरेरी पिलाटेस, क्लासिकल पिलाटेस (जोसेफ पिलाटेस द्वारा शुरू) का एक आधुनिक रूप है। यह फिजियोथेरेपी और कुछ अन्य विविधताओं के साथ क्‍लासिकल तरीकों को जोड़ता है। सबसे अच्छी बात यह है कि सर्वोत्तम परिणाम प्राप्त करने के लिए व्यक्ति की आवश्यकतानुसार एक्‍सरसाइज को किया जा सकता है।

रिफ़ॉर्मर पिलाटेस

यह मैट रिफ़ॉर्मर पिलाटेस का एडवांस रूप है। यह एक फ्लैट प्लेटफॉर्म के साथ बेड की तरह फ्रेम का उपयोग करके किया जाता है। फ्रेम के अंदर पहियों पर आगे और पीछे रोल किया जाता है। यह उन लोगों के लिए उपयुक्त है जिनके पास कुछ अनुभव है। इसे ट्रेनर की मदद से किया जाना चाहिए।

पिलाटेस करने का तरीका

pilates for weight loss inside

पिलाटेस करने का तरीका नम्‍बर-1

  • सबसे पहले मैट पर पीठ के बल लेट जाएं। 
  • हाथ साइड और हथेलियां जमीन पर रखें और पैर सीधा रखें। 
  • अब धीरे-धीरे पैर को उठाने की कोशिश करें। 
  • तब तक करें जब तक आपके पैर के पंजे सिर के ऊपर जमीन की तरफ न पहुंच जाएं। 
  • कंधों को रिलैक्स और पैरों को सीधा रखें। 
  • धीरे-धीरे पहले की पोजीशन में लौट आएं।

पिलाटेस करने का तरीका नम्‍बर-2

  • दोनों हाथों और पैरों के बल पर खुद को जमीन पर ऐसे टिकाएं जैसे कि आप पहाड़ चढ़ने वाली हैं। 
  • अब अपने एक पैर के घुटने को अंदर की तरफ ले कर आएं। 
  • फिर उस पैर को वापस बाहर लेकर जाएं। 
  • दूसरे पैर के साथ आप इस एक्सरसाइज को दोहराएं।
Pilates fitness inside

Recommended Video

पिलाटेस करने का तरीका नम्‍बर-3

  • इसे करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल लेट जाएं। 
  • फिर दोनों हाथों को साइड में रखें।
  • शरीर का ऊपरी हिस्सा जमीन से थोड़ा ऊपर उठाएं। 
  • इसके बाद दाएं पैर को जमीन से लगभग पांच इंच ऊपर उठाएं। 
  • फिर बाएं पैर से 90 डिग्री का कोण बनाएं और बाएं पैर को बिल्कुल सीधा ऊपर की ओर करें। 
  • फिर इसे क्‍लॉकवाइज 4 से 5 बार घुमाएं। ऐसा फिर से दाएं पैर के साथ भी करें। 
  • दाएं पैर को ऊपर उठाएं और क्‍लॉकवाइज घुमाएं।

पिलाटेस करने का तरीका नम्‍बर-4

  • इसे करने के लिए सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं। 
  • हाथों को सिर के आगे सीधा फैलाएं। 
  • इसके बाद अपने पैर और शरीर के ऊपर के भाग को एक साथ उठाएं। 
  • सिर्फ पेट का हिस्सा जमीन पर रखें। 
  • इस पोजीशन में लगभग 10 से 20 सेकेंड तक रुकें। 
  • फिर आप पैर और शरीर के ऊपरी हिस्से को नीचे जमीन पर लाएं। 
  • ऐसा 8 से 10 बार दोहराएं।

पिलाटेस एक्सरसाइज में किसी मशीन का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इसमें सिर्फ फ्लोर मैट की जरूरत होती है। इसमें पूरी तरह मसल्स का वर्कआउट होता है और पेट, हिप्स और थाइज पर फोकस रहता है।

इसे जरूर पढ़ें: शुरू करने जा रही हैं पिलाटेस? तो जान लीजिए ये 6 जरूरी बातें

पिलाटेस करने के फायदे

pilates for weight loss inside

इस एक्‍सरसाइज को करने से तेजी से वजन कम करने के साथ शारीरिक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है और शरीर में लचीलापन आता है। साथ ही पिलाटेस को करने से पेट और पीठ के निचले हिस्से की मसल्‍स भी मजबूत होती हैं। जोड़ों के दर्द में भी इसे करने से आराम मिलता है। आपका पोश्‍चर भी इस एक्सरसाइज को करने से बेहतर होता है। पिलाटेज करने के समय बॉडी में कई मूवमेंट्स होते हैं जिससे बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है। सांस लेने की क्षमता भी इसे करने से बढ़ती है। इसके अलावा यह एक्सरसाइज मानसिक हेल्‍थ के लिए भी बहुत अच्‍छी होती है। इस एक्सरसाइज को करने से तनाव में भी कमी आती है, साथ ही आप अधिक रिलैक्स महसूस करती हैं।

आप भी खुद को फिट रखने के लिए पिलाटेस एक्‍सरसाइज कर सकती हैं। इस तरह की जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image credit: Instagram.com& freepik.com