स्वास्थ्य सेवा और डॉक्टरों की पृष्ठभूमि से आने वाली साक्षी बख्शी ने 2020 में दिल्ली एनसीआर आधारित ब्रांड, Nucros (न्यूक्रोस साइंस एंड टेस्ट) शुरू किया, जहां वह स्वाद या विविधता से समझौता किए बिना लोगों को उनके स्वास्थ्य लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करती हैं। 

वह आहार संबंधी लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करने के लिए अच्छी फ़ूड प्लानिंग और कई प्राकृतिक तत्वों को भोजन में जोड़ने की सलाह देती हैं।साक्षी बक्शी ने हर ज़िन्दगी की टीम के साथ अपने इस आगे बढ़ते हुए और लोगों की भोजन संबंधी जरूरतों को समझते हुए पूरा करने वाले ब्रांड Nucros से जुड़े कुछ अनुभव साझा किये और अच्छे लाइफस्टइल बारे में कुछ टिप्स बताए जो आपको भी जान लेने चाहिए। आइए इस लेख में जानें साक्षी बक्शी से बातचीत के कुछ अंश। 

आपका ब्रांड Nucros क्या है 

sakshi bakshi brand

साक्षी बताती हैं कि वो मूल रूप से इस ब्रांड के माध्यम से लोगों को स्वस्थ बनाने की कोशिश कर रही हैं। उनका ये ब्रांड ऐसा खाना देता है जो आपको सेहतमंद बनाए रखने में मदद करता है। Nucros आपके स्वास्थ्य लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए किसी भी प्रकार की दवाओं पर निर्भर नहीं करता है। हमारा ये ब्रांड उन महिलाओं की मदद करता है जिन्हें PCOS की समस्या है, जो हाल ही में मां बनी हैं या जिन्हें थायराइड की समस्या है, जो वजन कम करना चाहती हैं और कई अन्य बिना किसी दवा के अपने संबंधित उद्देश्य तक पहुंचने में मदद करती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें:दिमाग को स्वस्थ बनाए रखने के लिए इन चीजों को करें डाइट में शामिल

कोविड -19  ने किसी व्यक्ति की आहार संबंधी जरूरतों को कैसे प्रभावित किया है

महामारी के कारण लोगों ने स्वस्थ जीवन शैली के महत्व को महसूस किया है। लोग समझ गए हैं कि मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली का होना जरूरी है। अब, लोग कई सुपरफूड्स की ताकत जानते हैं और उन्होंने इसे अपने आहार में शामिल करना शुरू कर दिया है। महामारी के साथ हमारे  लोग शामिल हो गए हैं जो न केवल अपनी इम्यूनिटी स्ट्रांग करना चाहते हैं बल्कि अपने संपूर्ण स्वास्थ्य का प्रबंधन भी करना चाहते हैं। कोविड ने वास्तव में हमारे पक्ष में काम किया और हम उनकी मदद करने में सक्षम थे।

हममें से अधिकांश लोग घर से काम कर रहे हैं और ज्यादा शारीरिक गतिविधि नहीं कर पा रहे हैं, ऐसे में आप किस व्यायाम की सलाह देंगी?

साक्षी बताती हैं कि इस दौरान सबसे बड़ी समस्या गतिहीन जीवन शैली जीना है। इसलिए, आपके लिए हर 30 मिनट के बाद उठना और बस जल्दी चलना महत्वपूर्ण है। इस तरह आप अपनी आंखों को थोड़ी देर के लिए आराम दे सकते हैं और खुद को तरोताजा कर सकते हैं। यह न केवल आपके शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बल्कि आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी महत्वपूर्ण है। इसके अलावा एक व्यक्ति को रोजाना 30 से 60 मिनट तक टहलना चाहिए। इसके साथ ही आपको मांसपेशियों के लिए कुछ मजबूत करने वाले व्यायाम करने चाहिए। 

जैसा कि आजकल कीटो डाइट का चलन है , आपके अनुसार ये कितनी फायदेमंद है?

keto diet tips

यह निश्चित रूप से चिकित्सकीय रूप से अनुशंसित आहार है। यदि आप मधुमेह या मिर्गी जैसे रोग से पीड़ित हैं तो ये आपके लिए ज्यादा फायदेमंद हो सकती  है। हालांकि, यदि आप इसके लिए जाने की योजना बना रहे हैं, तो पहले से ही अपने ब्लड पैरामीटर को देखना जरूरी है। इसे विशेषज्ञ की देखरेख में ही किया जाना चाहिए।

ऐसे कौन से तरीके हैं जिनसे कोई व्यक्ति घर पर अपने स्वास्थ्य का आकलन कर सकता है?

स्वास्थ्य एक ऐसी चीज है जो दो रूपों में आती है। एक आपका शारीरिक स्वास्थ्य है और दूसरा मानसिक स्वास्थ्य। तो, जब हम स्वास्थ्य के बारे में बात कर रहे हैं तब आपको घर पर अपने स्वास्थ्य का आकलन करने के लिए, सबसे पहले अपने बीएमआई का आकलन करना होगा।

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: उबले हुए काले चने हैं सेहत के लिए फायदेमंद, जानें कैसे

अपनी डेली डाइट में किस तरह के बीजों को शामिल कर सकते हैं ?

seeds in diet

आजकल कई तरह के बीज निश्चित रूप से अपने स्वास्थ्य लाभों के कारण लोकप्रिय हो गए हैं। वास्तव में, चिया, सूरजमुखी, कद्दू आदि सहित सभी प्रकार के बीज प्रोटीन और ओमेगा-3 फैटी एसिड के अच्छे स्रोत हैं। इसलिए, उन सभी को अपने आहार में शामिल करने की सलाह दी जाती है। इसका सेवन करने का सबसे अच्छा तरीका है कि एक स्मूदी में एक फल, एक सब्जी के साथ कुछ मेवे और बीज मिलाएं और इसे रोजाना नाश्ते के रूप में पिएं। ये सभी तरह के बीज आपको हेल्दी रखने में मदद करते हैं। 

स्वस्थ तरीके से शरीर को डिटॉक्स करने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?

डिटॉक्स इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस दौर से गुजर रहे हैं। हमारे डिटॉक्स प्रोग्राम (ऐसे करें बॉडी को डीटॉक्स)में, हम सभी प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थों को हटा देते हैं और केवल वही खाने की सलाह देते हैं जो प्राकृतिक हो। इसका मतलब है कि आप चावल, ब्रेड, चपाती, चीनी, डेयरी और बहुत कुछ नहीं खा सकते हैं। हम आमतौर पर दिन की शुरुआत ऑयल पुलिंग से करने की सलाह देते हैं। हालांकि, इसे एक व्यक्ति के हिसाब से कस्टमाइज किया जाता है। साथ ही, यह न केवल भोजन बल्कि समग्र आदतों के बारे में है। कुछ लोग जूस क्लीन्ज़र की ओर भी रुख करते हैं, जिसकी सलाह हम नहीं देते हैं क्योंकि इससे बहुत अधिक मांसपेशियों का नुकसान होता है। साक्षी आमतौर पर डाइट में नट और बीज जोड़ने की सलाह देती हैं। 

Recommended Video

जैसा कि आपके ब्रांड ने अभी-अभी एक साल पूरा किया है अगले वर्ष के लिए आपकी क्या योजना है?

आने वाले वर्ष के लिए हमारे पास कुछ योजनाएं हैं। हम पहले से ही ब्लड टेस्ट की सलाह देते हैं और अब हमारे पास डीएनए आधारित आहार भी हैं। इसके अलावा, हम मधुमेह, पीसीओएस और अन्य के लिए कुछ नए उत्पादों की भी योजना बना रहे हैं। हम अपने क्षेत्र का विस्तार करने पर भी विचार कर रहे हैं।

इस तरह साक्षी ने अपने और अपने नए ब्रांड के बारे में हर ज़िन्दगी को कई बातें बताने के साथ हेल्दी लाइफस्टाइल जीने के बारे में भी बातें बताईं जो आपको भी जरूर फॉलो करनी चाहिए। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik