भारतीय खाने में कई ऐसे इंग्रीडिएंट्स होते हैं जो हमारी पाचन शक्ति को बढ़ाते हैं और पेट में गैस आदि की समस्या को कम करते हैं, लेकिन कई बार ऐसा होता है कि हमारी लाइफस्टाइल कुछ ऐसी हो जाती है जिसके कारण डाइजेशन की समस्या होने लगती है। हम आजकल सिर्फ एक ही जगह बैठे रहते हैं जिसका नतीजा ये होता है कि शरीर में बहुत सारी समस्याएं होने लगती हैं। इनमें से एक सबसे बड़ी समस्या है पेट फूलना यानी ब्लोटिंग की समस्या।

आपने शायद ध्यान न दिया हो, लेकिन ब्लोटिंग बहुत ज्यादा परेशानी में डाल सकती है जहां न सिर्फ पेट दर्द और मरोड़ हो सकती है बल्कि इसके लगातार बने रहने से गैस होना और वाटर रिटेंशन होने की समस्या भी हो सकती है। पर अगर ऐसा हो रहा है तो झटपट तरीके से पेट फूलने को कम कैसे किया जाए?

आयुर्वेदिक डॉक्टर दीक्षा भावसार ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इससे जुड़ी जरूरी जानकारी शेयर की है। उन्होंने ये बताया है कि आखिर ब्लोटिंग की समस्या किस कारण होती है और इसे झटपट दूर करने के उपाय क्या हैं।

bloating after meal

इसे जरूर पढ़ें- कोविड-19 के दौरान अस्पताल जाते समय जरूर बरतें ये सावधानियां

किन कारणों से हो सकती है ब्लोटिंग?

ब्लोटिंग होने का सबसे बड़ा कारण हमारी लाइफस्टाइल और खाने-पीने की आदतों का खराब होना है। इसके लिए ये सारे कारण जिम्मेदार हो सकते हैं-

  • बहुत जल्दी-जल्दी खाना (ठीक से चबाए बिना खाने को निगलना)
  • बिना भूख के भी खाते रहना
  • रात में 9 बजे के बाद खाना
  • जरूरत से ज्यादा कच्चा खाना (खराब गट हेल्थ के कारण कच्चा खाना ठीक से डाइजेस्ट नहीं होता)
  • जरूरत से ज्यादा स्ट्रेस लेना, स्ट्रेस के दौरान खाना
  • खराब हो चुका या बासी खाना
  • जितना शरीर को जरूरत है उससे ज्यादा खाना 

हमारे ईटिंग हैबिट्स काफी हद तक ये तय कर सकते हैं कि आपको डाइजेशन की समस्या होगी या नहीं। कोशिश करें कि ताजा खाना ही खाएं, हल्का और आसानी से डाइजेस्ट होने वाला खाना खाएं। जल्दबाजी में खाना सही नहीं होता है। खाना खाते समय हमें अपने सारे सेंस ध्यान रखने चाहिए ना कि सिर्फ जुबान को देखना चाहिए। 

जब आप खाना खा रहे हों तो कुछ और ना सोचें, टीवी देखते हुए खाना, बहुत ज्यादा बात करते हुए खाना ये सब गलत है। 

ब्लोटिंग को कम करने के तरीके- 

डॉक्टर दीक्षा ने तीन तरीके बताए हैं जिससे ब्लोटिंग की समस्या कम की जा सकती है। 

चबाने वाला तरीका- 

आप ब्लोटिंग को कम करने के लिए हर मील के बाद आप रोस्ट की हुई सौंफ खा सकते हैं। ये आपके पेट को काफी राहत देगा। 

पीने वाला तरीका-

  • आप पूरे दिन में सिर-सिप करते हुए पुदीने का पानी पिएं।
  • इसके अलावा, आप हर मील के 1 घंटे बाद इलायची का पानी पी सकते हैं।
  • धनिया, जीरा और सौंफ वाली चाय आप दिन में तीन बार पी सकते हैं। 
  • ध्यान रहे कि बहुत ज्यादा पानी पीने से भी पेट फूलने की समस्या होती है इसलिए एक बार में बहुत सारा पानी ना पिएं। 
 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Dr Dixa Bhavsar (@drdixa_healingsouls)

 

निगलने वाला तरीका-

पेट फूलना रोने के लिए आप आधा छोटा चम्मच अजवाइन के बीज निगल सकते हैं। इसके साथ आप चुटकी भर सेंधा नमक और चुटकी भर हींग भी लें। इसे आप गर्म पानी के साथ ले सकते हैं और खाने के कम से कम 45 मिनट बाद ही लें। 

कोशिश करें कि बहुत ज्यादा हेवी खाना ना हो और बहुत लेट डिनर ना हो। 

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- सर्दियों में बढ़ता है कई किलो वजन तो न करें ये 5 काम 

अगर लगातार हो रही है ब्लोटिंग तो? 

अगर आपको लगातार ब्लोटिंग की समस्या हो रही है और ये किसी आंतों से जुड़ी समस्या के कारण है जैसे इरिटेबल बाउल सिंड्रोम, अपच, कब्ज जैसी समस्या हो रही है या फिर किसी तरह का हार्मोनल इम्बैलेंस, मोटापा, इंसुलिन रेजिस्टेंस, डायबिटीज आदि है तो डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही आप कोई भी नुस्खा अपनाएं। अगर आपको कोई हेल्थ से जुड़ी समस्या है तो डॉक्टर ही उसका इलाज बता पाएगा। 

कोशिश करें कि समस्या की जड़ तक पहुंच सकें और उसके साथ सही लाइफस्टाइल भी जरूरी  है जैसे नींद, एक्सरसाइज, स्ट्रेस मैनेजमेंट आदि भी बहुत जरूरी साबित हो सकता है। 

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।