हर साल 8 मार्च इंटरनेशनल वुमन्‍स डे के रूप में मनाया जाता है। ताकि महिलाएं अपने अधिकारों के प्रति जागरूक और शिक्षित हो। विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इस दिन को महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के उपलक्ष्य में त्‍योहार के तौर पर मनाया जाता है। आज के दिन महिलाओं की कुछ हेल्‍थ जरूरतों पर ध्‍यान फोकस करते हुए आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्‍यम से 40 की उम्र के बाद महिलाओं की पोषण संबंधी जरूरतों के बारे में बता रहे हैं।


एक उम्र के बाद महिलाओं को कई तरह के शारीरिक बदलावों से गुजरना पड़ता है। उनका मेटाबॉलिज्‍म स्‍लो हो जाता है और उन्‍हें कई तरह के हार्मोनल बदलावों से गुजरना पड़ता है। जी हां 40 की उम्र के बाद महिलाओं की बॉडी में कैल्शियम कम होने से हड्डियां कमजोर होने लगती हैं, स्किन ड्राई और वजन बढ़ने लगता है। बोन डेंसिटी के नुकसान से महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस और फ्रैक्‍चर होने का खतरा बढ़ जाता है। हड्डियों के कमजोर होने से चलने में कठिनाई, कमजोरी, जोड़ों में सूजन और दर्द हो सकता है। लेकिन परेशान होने की जरूरत नहीं क्‍योंकि एक हेल्‍दी लाइफस्‍टाइल अपनाकर महिलाएं इन सभी लक्षणों से बच सकती हैं। आइए जानें कौन से है पोषण से भरपूर ये चीजें!

इसे जरूर पढ़ें : ये 5 सुपरफूड खाएं, वूमेन से सुपर वूमेन बन जाएं

flaxseeds healthy after fourty

फ्लैक्स सीड्स

ओमेगा 3 से भरपूर फ्लैक्स सीड्स मेनोपॉज के समय महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता हैं। ये फाइबर में भरपूर हैं और धमनियों को हेल्‍दी रखने के साथ एस्ट्रोजेन लेवल को बैलेंस करने में हेल्‍प करते हैं। साथ ही फ्लैक्‍स सीड्स बढ़ती उम्र में ब्‍लड प्रेशर को कंट्रोल करने के साथ हार्ट की अनियमित गति को भी ठीक करने में मददगार है।

कैल्शियम

40 साल के बाद महिलाओं की बॉडी में कुछ बदलाव आते है, इस उम्र के बाद सबसे पहले कैल्शियम की मात्रा कम हो जाती है। यह समस्या अक्सर महिलाओं में ज्यादा देखने का मिलती है, क्योंकि प्रेग्नेंसी के बाद महिलाओं में कैल्शियम की कमी होना आम बात है। कैल्शियम हड्डियो के लिए जरूरी मिनरल है। मेनोपॉज के दौरान कैल्शियम विशेष रूप से जरूरी होता है क्‍योंकि एस्ट्रोजेन लेवल में कमी से हड्डियों के नुकसान में तेजी आ सकती है। मेनोपॉज के दौरान महिलाओं के लिए डेयरी प्रोडक्‍ट का सेवन बिल्‍कुल जरूरी है। इसके लिए अपनी डाइट में रागी, छोले, अंडे, दूध, दही, पनीर, आंवला आदि को अपनी डाइट का हिस्‍सा बनाएं।

healthy foods after fourty

विटामिन डी

कैल्शियम के पर्याप्त अवशोषण के लिए बॉडी द्वारा विटामिन डी की आवश्यकता होती है। यूं तो आपकी बॉडी को सूर्य की रोशनी से विटामिन डी मिलता है। लेकिन आपको अपनी डाइट टूना, अंडे और मीट आदि को भी शामिल करना होगा।

विटामिन बी-12 की कमी

40 की उम्र के बाद बॉडी में विटामिन बी-12 घटने लगता है। जिससे डिप्रेशन, लो फीलिंग, हेयर लॉस जैसे कई सिस्टम होते है। ऐसे में विटामिन बी 12 से भरपूर फूड खाए जैसे- अंडा, डेयरी प्रोडक्ट्स, इसके अलावा डॉक्टर की सलाह से विटामिन बी12 के सप्लीमेंट भी ले सकती है।

इसे जरूर पढ़ें : ये 7 चीजें खाएंगी तो बढ़ती उम्र में भी रेखा की तरह बनी रहेंगी जवां और खूबसूरत

फल और सब्जियां

ताजे फल और सब्जियां हेल्‍दी लाइफस्‍टाइल के सबसे महत्‍वूर्ण पहलुओं में से एक है। जैसे-जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती हैं उनका मेटाबॉलिज्‍म धीमा हो जाता है। जिससे आपको वजन बढ़ने लगता है, लेकिन कम कैलोरी हाई फाइबर फल और सब्जियां खाने से आपका बढ़ता वजन कंट्रोल में रहता है और आपको हेल्‍दी रहने में भी मदद करता है।

vitamin c after fourty

आयरन से भरपूर डाइट

ज्‍यादातर भारतीय महिलाओं में आयरन की कमी पाई जाती है। और बढ़ती उम्र के साथ तो महिलाओं की बॉडी में आयरन कम होने लगता है। इसलिए 40 की उम्र के बाद महिलाओं अपनी डाइट में आयरन से भरपूर फूड्स को शामिल करने चाहिए। आयरन से भरपूर फूड्स जैसे चुकंदर, गाजर, अनार, अंजीर आदि को अपनी डाइट में शामिल करें।
अगर आपकी उम्र भी 40 के पार हैं तो हेल्‍दी रहने के लिए आज से ही अपनी डाइट में इन चीजों को शामिल करें।