क्या आप जानते हैं कि दूध को हेल्दी क्यों माना जाता है? दूध और डेयरी प्रोडक्ट्स को हेल्दी माने जाने का एक बहुत अहम कारण ये है कि दूध से बने प्रोडक्ट्स कैल्शियम से भरपूर होते हैं और ये हड्डियों के लिए अच्छे होते हैं। यही कारण है कि कई हेल्थ से जुड़ी समस्याएं होने के बाद भी दूध को हेल्दी मील की कैटेगरी में रखा गया है। पर आजकल वीगन डाइट का चलन बढ़ गया है और कई डायटीशियन का मानना है कि दूध को अवॉइड करना मिल्क एलर्जी और लैक्टोज इन्टॉलरेंट लोगों के लिए अच्छा साबित हो सकता है। 

पर अगर दूध और डेयरी प्रोडक्ट्स को हटा दिया जाए तो आखिर कैल्शियम के कौन से सोर्स अच्छे साबित हो सकते हैं? सेलेब न्यूट्रिशनिस्ट पूजा मखीजा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें उन्होंने नॉन-डेयरी फूड प्रोडक्ट्स का जिक्र किया है। 

पूजा के मुताबिक कैल्शियम शरीर के लिए जरूरी है और अन्य किसी भी मिनरल की तुलना में कैल्शियम ही सबसे ज्यादा मात्रा में शरीर में पाया जाता है। हड्डियों और दांतों की सेहत का ख्याल रखने के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी है और महिलाओं और लड़कियों में ये प्री मेंस्ट्रुअल समस्याओं को कम करता है और 50 साल से ऊपर की महिलाओं के लिए ये बहुत जरूरी होता है कि वो कैल्शियम का रेगुलर डोज लें ताकि उन्हें हड्डियों की बीमारी न हो। 

calcium sources easy to use

इसे जरूर पढ़ें- क्या आप जानती हैं मोठ बीन्स के स्प्राउट्स खाने के ये फायदे 

किसे लेना चाहिए कितना कैल्शियम?

कैल्शियम का डेली इंटेक हर व्यक्ति के लिए अलग हो सकता है। अधिकतर वयस्कों के लिए 1000mg प्रति दिन काफी होगा। हालांकि, 50 साल से ऊपर की महिलाएं और 70 साल से ऊपर के सभी व्यक्तियों के लिए 1200 mg कैल्शियम परफेक्ट होगा। 4-18 साल के बढ़ते बच्चों के लिए 1300mg कैल्शियम परफेक्ट होगा। 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by PM | Nutritionist (@poojamakhija)

 

किन चीज़ों में होता है दूध के जितना कैल्शियम?

न्यूट्रिशनिस्ट पूजा मखीजा ने उन चीज़ों की लिस्ट भी बताई जिनमें कैल्शियम की मात्रा काफी ज्यादा होती है, जैसे-  

तिल: सफेद और काले दोनों तरह के तिल में हाई कैल्शियम होता है। दो बड़े चम्मच तिल 300mg यानि एक ग्लास दूध के बराबर कैल्शियम दे सकते हैं।  

चिया सीड्स: हेल्दी माने जाने वाले चिया सीड्स में भी काफी कैल्शियम होता है। ये ओमेगा-3 फैटी एसिड्स, प्रोटीन और फाइबर से भी भरपूर होते हैं। दिन में सिर्फ दो चम्मच चिया सीड्स आपको दो ग्लास दूध के बराबर कैल्शियम दे सकते हैं।  

खसखस: पॉपी सीड्स या खसखस भी कैल्शियम से भरपूर होते हैं। इन्हें हलवे या खीर आदि में डाला जा सकता है और कैल्शियम के साथ-साथ ये प्रोटीन, फाइबर और मैंगनीज से भी भरपूर होते हैं।  

हरी पत्तेदार सब्जियां:हरी पत्तेदार सब्जियों में बहुत सारे न्यूट्रिएंट्स होते हैं और मेथी, पालक, मोरिंगा जैसी पत्तियों में भरपूर कैल्शियम होता है। इन्हें कई तरह से अपनी डाइट का हिस्सा बनाया जा सकता है।  

सूखी मोरिंगा पत्तियों का पाउडर: इन दिनों मोरिंगा यानि सहजन को अपनी डाइट में शामिल करने का ट्रेंड आ गया है और इसका कारण ये है कि इनमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम, एंटीऑक्सिडेंट्स, जरूरी मिनरल्स होते हैं। आपको इसे भी अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।  

अगर इनके अलावा आप दूध को भी अपनी डाइट में शामिल करना चाहते हैं तो नीचे दिए वीडियो में जानिए दूध पीने के फायदों के बारे में-

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- यह 4 पोषक तत्व शरीर में कैल्शियम का अब्जार्बशन करते हैं कम, साथ में ना करें सेवन 

अन्य फूड आइटम्स जिनमें है भरपूर कैल्शियम- 

पूजा मखीजा ने अन्य फूड आइटम्स का भी जिक्र किया जिनमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है। ये हैं- 

  • राजमा (100 ग्राम) में होता है 140 mg कैल्शियम
  • बादाम (100 ग्राम) में होता है 260 mg कैल्शियम
  • 8 अंजीर में होता है 241 mg कैल्शियम
  • टोफू (100 ग्राम) में होता है 680 mg कैल्शियम 

इसके अलावा, ब्रोकली, शकरकंद, सूरजमुखी के बीज, भिंडी, संतरा आदि में भी कुछ मात्रा में कैल्शियम होता है।  

अपने शरीर की सभी जरूरतों को पूरा करने के लिए आपको ये ध्यान रखना चाहिए कि आपकी प्लेट में सभी रंग हों। ऐसे में सभी तरह के मिनरल्स आपकी डाइट का हिस्सा बनते हैं। 

 

अगर आपके शरीर में कैल्शियम की कमी है तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें और डॉक्टर की सलाह पर ही कोई सप्लीमेंट या फिर डाइट में किसी तरह का बदलाव करें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।