स्वस्थ रहने के लिए शरीर में सभी आवश्यक तत्वों का संतुलित मात्रा में होना बेहद आवश्यक है। जब किसी भी तत्व का संतुलन गड़बड़ा जाता है तो इससे व्यक्ति को कई तरह की समस्याओं का सामना करना। कोलेस्ट्रॉल भी एक ऐसा ही फैटी सबस्टांस है, जो लीवर द्वारा स्वाभाविक रूप से निर्मित होता है और रक्त में पाया जाता है। यह शरीर के लिए बेहद आवश्यक है। कोलेस्ट्रॉल आपके शरीर में कई अलग-अलग चीजों के लिए उपयोग किया जाता है, जैसे यह हार्मोन उत्पादन से लेकर फैटी फूड को डाइजेस्ट करने में मदद करता है। 

हालांकि, अगर रक्त में इसकी मात्रा बहुत अधिक हो जाए, तो यह भी एक समस्या का कारण बन सकता है। जब कोलेस्ट्रॉल धमनियों में जमा हो जाता है, तो यह रक्त के प्रवाह को अवरुद्ध कर सकता है, जिससे कोरोनरी हृदय रोग, दिल का दौरा या स्ट्रोक हो सकता है। यहां आपको यह भी समझना चाहिए कि शरीर में एलडीएल और एचडीएल दो तरह का कोलेस्ट्रॉल होता है।

expert tips for cholestrol

एचडीएल एक गुड कोलेस्ट्रॉल है, जबकि एलडीएल बैड कोलेस्ट्रॉल हैं। हेल्दी रहने के लिए शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अच्छी होनी चाहिए और बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम। हमें ऐसी डाइट लेनी चाहिए, जो शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करें। तो चलिए आज इस लेख में आपको सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डायटीशियन डॉ रितु पुरी कुछ ऐसे फूड के बारे में बता रही हैं, जो आपके कोलेस्ट्रॉल लेवल को मैनेज करने में मदद करते हैं-

गुड फैट्स का करें सेवन

good fats

शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल बैड कोलेस्ट्रॉल को अब्जॉर्ब करके आपको हेल्दी बनाता है। इसलिए आपको ऐसे फूड्स खाने चाहिए, जो बॉडी में गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाए। इसके लिए आप गुड फैट्स मसलन, अनसैचुरेटिड फैट्स का सेवन करें। जब आप गुड फैट्स इनटेक करती हैं तो यह बाद में ब्रेक डाउन होकर फैटी एसिड में बदल जाते हैं। यह बाद में हाई कोलेस्ट्रॉल अर्थात् बैड कोलेस्ट्रॉल को रेग्युलेट करने में मदद करते है। आप अनसैचुरेटिड फैट्स में नट्स, सीड्स, दाल, फिश, बीन्स, प्लांट बेस्ड फूड्स आदि का सेवन करें।

सैचुरेटिड फैट्स व ट्रांस फैट को करें अवॉयड

saturated fats

सैचुरेटिड फैट्स व ट्रांस फैट का कम से कम सेवन करना चाहिए, क्योंकि यह शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाते हैं और आपके लिए स्वास्थ्य समस्या खड़ी करते हैं। इसलिए आपको प्रोसेस्ड फूड, चिप्स, मीट व फुल फैट मिल्क आदि से बचना चाहिए। अगर आप दूध को सेवन करती हैं तो आपको टोन्ड या स्कीम्ड मिल्क पीना चाहिए। इसी तरह, ऑयल को बार-बार तलने पर भी वह ट्रांस फैट में बदल जाता है। इसलिए आपको ऐसा भी नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: जोड़ों के दर्द का रामबाण इलाज है गोंद, ये 3 समस्‍याएं भी होती हैं दूर

फाइबर युक्त आहार

fibre food 

अगर आप बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करना चाहती हैं तो आपको फाइबर युक्त प्रॉडक्ट्स का चयन करना चाहिए। साल्यूबल फाइबर कोलेस्ट्रॉल को बाइंड करके स्टूल के जरिए शरीर से बाहर निकाल देते हैं। इसलिए आपको फाइबर युक्त प्रॉडक्ट को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। इसके लिए आप नट्स, सीड्स, होल ग्रेन, छिलके वाली दालें, फल आदि का सेवन करना चाहिए। इनमें साल्यूबल फाइबर कंटेंट अधिक होता है।

Recommended Video

शहद और दालचीनी का जरूर करें सेवन

honey intake

अगर आप हाई कोलेस्ट्रॉल के कारण परेशान हैं, तो आपको शहद और दालचीनी का सेवन जरूर करना चाहिए। यह ना केवल गुड कोलेस्ट्रॉल को बूस्ट अप करता है, बल्कि बैड कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है। इसका आप कई तरीकों से सेवन कर सकती हैं। मसलन, आप इन्हें अपने खाने में शामिल करें या फिर इसकी मदद से एक डिटॉक्स ड्रिंक बनाकर भी पिया जा सकता है। अगर आपको हाई कोलेस्ट्रॉल है तो यह उसे कम करेंगे। वहीं अगर हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या नहीं है, तो भी इसका सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल से जुड़ी समस्या आपको नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें: क्या है मेपल सिरप और इसके फायदे, आप भी जानें

इन बातों का भी रखें ख्याल

bad cholestrol

अपने शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए आपको कुछ टिप्स का ध्यान देना चाहिए। मसलन,

  • आपको हर दिन कोई ना कोई एक्टिविटी जरूर करनी चाहिए। फिजिकल एक्टिविटी के जरिए आप कोलेस्ट्रॉल लेवल को बेहद आसानी से मैनेज कर सकती हैं। 
  • अपनी कुकिंग प्रैक्टिस पर भी ध्यान दें, ताकि आपके शरीर को गुड कोलेस्ट्रॉल मिलें। जैसे कि आप किसी भी ऑयल को बार-बार गर्म करके इस्तेमाल ना करें।
  • कुकिंग के लिए बेकिंग, बॉयलिंग, व रोस्टिंग आदि तरीके को अपनाएं और खाने को डीप फ्राई करने से बचें। 
  • अपने ऑयल पर भी ध्यान दें। आप खाने में कैनोला ऑयल, एवोकाडो ऑयल व ऑलिव ऑयल आदि का इस्तेमाल कर सकती हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।