हेल्दी फूड खाने के लिए महिलाएं आज के समय में काफी अवेयर हैं। घर-परिवार को सेहतमंद खाना खिलाने के लिए वे अपनी तरफ से काफी मेहनत भी करती हैं। लेकिन बच्चों को हेल्दी खाना खिला पाना भी एक बड़ा चैलेंज है। बच्चे खाने के मामले में बहुत चूजी होते हैं और स्वाद के मामले में वे बिल्कुल समझौता नहीं करना चाहते। वहीं जो खाना उन्हें देखने में आकर्षक नहीं लगता, उससे भी वे किनारा कर लेते हैं। जब बच्चे लगातार जंक फूड खाने की जिद करते हैं और घर में बना खाना खाने से इनकार कर देते हैं तो उनकी हेल्थ पेरेंट्स के लिए चिंता का सबब बन जाती है। ऐसे में सवाल ये उठता है कि बच्चों को हेल्दी खाना कैसे खिलाया जाए। अगर आप भी इसी समस्या से परेशान हैं तो आइए जानते हैं कुछ ऐसे तरीके, जिनके जरिए बच्चों को हेल्दी फूड खाने के लिए इंस्पायर किया जा सकता है-

बच्चों को अपनी पसंद का खाना चुनने दें

healthy food habits in children

बच्चों को बताएं कि हेल्दी डाइट में कौन-कौन सी चीजें आती हैं और इसके बाद उनसे पूछें कि वे खाने में क्या खाना पसंद करेंगे। इस दौरान इस बात का ध्यान रखें कि बच्चों को सिर्फ हेल्दी डाइट वाले ऑप्शन दें। हालांकि रोजाना यह ऑप्शन नहीं दिया जा सकता, लेकिन हफ्ते में दो-तीन दिन इस तरीके से बच्चों को हेल्दी खाना खिलाने के लिए इंस्पायर किया जा सकता है। इस दौरान घर में जो भी अनहेल्दी फूड हों, उन्हें घर से बाहर कर दें, ताकि बच्चों को सिर्फ हेल्दी फूड वाले ऑप्शन नजर आएं।   

इसे जरूर पढ़ें: सर्दियों में healthy रहने के लिए अपनाएं ये 6 rules

बच्चों को शॉपिंग पर साथ ले जाने से पहले हेल्दी मील के बारे में बताएं

बच्चों को उन सभी तत्वों के बारे में बताएं, जो शरीर के लिए बहुत ज्यादा हेल्दी और बहुत ज्यादा नुकसानदेह हैं और इसके बाद उन्हें खुद फैसला करने दें कि वे क्या चुनना चाहते हैं। बाजार में शॉपिंग के दौरान बच्चों को फूड आइटम्स पर लगे लेबल दिखाएं और बताएं कि कौन स फूड आइटम ज्यादा हेल्दी है। साथ ही अगर आप बच्चों को यह बताएंगी कि कैसे कोई जंक फूड उनकी बॉडी को नुकसान पहुंचाता है तो निश्चित रूप से उनकी सोच बदलेगी और वे जंक फूड मांगने से पहले भी इस बारे में सोचेंगे। इसका नतीजा ये होगा कि फास्ट फूड को लेकर बच्चे जिद नहीं करेंगे।

घर के बगीचे में लगाएं हर्ब्स

बच्चों को हर्ब्स का महत्व बताने के लिए आप घर में भी छोटा सा किचन गार्डन बना सकती हैं। इसमें आप धनिया, मिर्च, टमाटर और दूसरी सब्जियां उगा सकती हैं। जब बच्चे ये पौधे उगते हुए देखते हैं तो आप उन्हें समझा सकती हैं कि सब्जियां कितनी मेहनत से उगाई जाती हैं। इस कॉन्सेप्ट के साथ अगर आप बच्चों को अपनी प्लेट का खाना खत्म करने के लिए कहेंगी तो निश्चित रूप से वे आपकी बात पर ज्यादा ध्यान देंगे। 

इसे जरूर पढ़ें: सर्दियों में अलसी और गोंद के लड्डू बनाकर खाएं

make children eat healthy food

किचन में छोटे-छोटे काम में लें बच्चों की मदद

ज्यादातर महिलाएं बच्चों को किचन में नहीं आने देतीं, लेकिन अगर आप बच्चों को किचन से जुड़े छोटे-छोटे काम दें, तो उनका खानपान में उनका इंट्रस्ट बढ़ जाता है। बच्चों को बेसन घोलने, अंडा फेंटने, सैंडविच बनाने, बर्तन धोने जैसे छोटे-छोटे काम दिए जा सकते हैं। बड़े बच्चों को सब्जी काटने, आंटा गूंथने और सब्जी फ्राई करने जैसे काम भी सिखाए जा सकते हैं। इस दौरान बच्चों को खानपान में इस्तेमाल होने वाली सामग्री का महत्व बताया जा सकता है। 

इस तरह खाने को लेकर बच्चों में बढ़ेगा patience 

आमतौर पर बच्चे अपने फेवरेट फूड खाने की जिद करते रहते हैं। खाने के वक्त में मैगी, कपकेक, पिज्जा या बर्गर की डिमांड बहुत आम है, लेकिन ये मांगे पूरी कर देने पर बच्चे हेल्दी फूड का महत्व नहीं जान पाते। ऐसे में बच्चों को उनकी पसंद की चीजें देने में थोड़ी होशियारी से पेश आएं। मसलन ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर में खाने में हेल्दी फूड रखें। शाम के स्नैक्स में उनकी पसंद की चीजें शामिल कर लें।