माइग्रेन जिसे आधे सिर का दर्द भी कहा जाता है, आम सिरदर्द से कहीं अधिक पेनफुल होता है। जब किसी को माइग्रेन अटैक होता है तो व्यक्ति बहुत अधिक बैचेन हो जाता है और बहुत तेज दर्द भी होता है। इस स्थिति में अक्सर लोग दवाईयों का सेवन करते हैं। हालांकि, माइग्रेन अटैक से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि इसके ट्रिगर्स को पहचानकर उससे बचा जाए। वैसे, जब भी माइग्रेन ट्रिगर्स भी बात होती है तो हम तनाव, नींद या अन्य कई कारकों को जिम्मेदार ठहराते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि आपका फूड भी इसके लिए जिम्मेदार हो सकता है। 

जी हां, ऐसे कई फूड्स होते हैं, जो आपके माइग्रेन की समस्या को बहुत अधिक बढ़ा सकते हैं। इतना ही नहीं, अगर आप इन फूड्स का सेवन करना जारी रखती हैं तो इससे आपको बार-बार  माइग्रेन अटैक होता है और आपको बहुत अधिक कष्ट सहना पड़ सकता है। तो चलिए आज इस लेख में सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डायटीशियन रितु पुरी आपको कुछ ऐसे ही फूड्स के बारे में बता रही हैं, जो आपके सिरदर्द या माइग्रेन की समस्या को बद से बदतर बना सकते हैं-

कैफीन

caffine

कैफीन को यूं तो सिरदर्द से राहत पाने के लिए जाना जाता है, लेकिन अगर आप एकदम से बहुत अधिक कैफीन का सेवन नियमित रूप से शुरू कर देती हैं तो यह आपके माइग्रेन की समस्या को बढ़ा सकता है। अगर आप कैफीन लेना ही चाहती हैं तो इसे सीमित मात्रा में लें। मसलन, आप दिन में दो कप से अधिक चाय या कॉफी का सेवन करने से बचें।

एज्ड चीज़ व मीट

cheeze meat

अगर आप एज्ड चीज़ या सलामी चिकन आदि का सेवन करती हैं तो यह भी आपके माइग्रेन की समस्या को बढ़ा सकता है। दरअसल, इन प्रॉडक्ट्स में नाइट्राइट या नाइट्रेट पाया जाता है, जो माइग्रेन को ट्रिगर करने के लिए जाना जाता है। इसके अलावा, इसमें नमक की मात्रा भी काफी अधिक होती है। अगर आप डेली रूटीन में आवश्यकता से अधिक नमक का सेवन करते हैं तो यह आपकी बॉडी को डिहाइड्रेट (डिहाइड्रेशन से बचाती हैं ये 5) करते हैं। जब शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो इससे आपको सिरदर्द तो होगा ही।

चॉकलेट

choclate

चॉकलेट खासतौर से डार्क चॉकलेट को भी आपको अवॉयड करना चाहिए। दरअसल, इनमें भी कैफीन कंटेट काफी अधिक होता है, जो आपके माइग्रेन को ट्रिगर कर सकता है।

इसे भी पढ़ें: क्या है अडूसा का पौधा और इसके फायदे, आप भी जानें

आर्टिफिशियल स्वीटनर्स

artificial sweetner

कई प्रोसेस्ड फूड्स में आर्टिफिशियल स्वीटनर्स को शामिल किया जाता है। यह वास्तव में शुगर अल्टरनेटिव होते हैं, जिसे फूड को मीठा करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन वास्तव में यह स्वीटनर्स माइग्रेन ट्रिगर की तरह काम करते हैं। इसलिए, जहां तक हो सके, आर्टिफिशियल स्वीटनर्स से आपको बचना चाहिए0964

अल्कोहल

expert qoute

अल्कोहल का सेवन भी स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना जाता है, क्योंकि यह कई तरह की समस्याएं खड़ी कर सकता है। विशेष रूप से, अगर आपको अक्सर सिरदर्द या माइग्रेन की शिकायत रहती है तो आपको अल्कोहल का सेवन करने से बचना चाहिए। अल्कोहल में भी रेड वाइन खासतौर से, माइग्रेन को ट्रिगर कर सकती हैं। ऐसा इसलिए भी होता है, क्योंकि अल्कोहल का सेवन करने से आपकी बॉडी डिहाइड्रेट होना शुरू हो जाती है और शरीर में पानी की कमी आपके सिरदर्द की समस्या को बढ़ा देती है।

इसे भी पढ़ें: इन लोगों के लिए दही का सेवन हो सकता है नुकसानदायक, कहीं आप भी तो लिस्ट में शामिल नहीं

Recommended Video

चाइनीज फूड

chinezed food

आपको शायद पता ना हो लेकिन चाइनीज फूड भी माइग्रेन के दर्द को बढ़ा सकता है। मार्केट में मिलने वाले चाइनीज फूड या सोया सॉस में एमएसजी अर्थात् मोनोसोडियम ग्लूटामेट होता है। अगर इनका अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो इससे बार-बार माइग्रेन का दर्द हो सकता है। इसलिए, जहां तक हो सके, आप चाइनीज फूड से बचें। अगर आप इनका सेवन कर भी रही हैं तो यह सुनिश्चित करें कि उसमें अतिरिक्त एमएसजी को एड ना किया जाए।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।