करेला कई तरीके से डाइट में शामिल किया जा सकता है। कुछ लोग सब्जी, भरता, जूस काफी कुछ बनाकर अपनी डाइट में करेले को शामिल करते हैं। बता दें कि इसमें पाए जाने वाले हेल्थ बेनिफिट्स आपको कई शारीरिक समस्याओं से दूर रखने में मदद करते हैं। करेले में विटामिन ए, विटामिन-सी, जिंक, फाइबर, कार्ब्स, और आयरन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। हालांकि, बहुत कम लोगों को पता होगा कि करेले की तरह ही इसके बीज भी सेहत के लिए काफी फायदेमंद माने जाते हैं।

अक्सर देखा गया है कि जब भी लोग करेले से कोई भी पकवान बनाते हैं तो उसके बीजों को निकालकर फेंक देते हैं। जबकि आप चाहें तो इसके बीज को भी अपनी डाइट का हिस्सा बना सकती हैं। हालांकि, कुछ लोग बीज को भी अलग-अलग तरीके से उपयोग में लाते हैं। वहीं फैट टू स्लिम ग्रुप की सेलिब्रिटी इंटरनेशनल डाइटीशियन और न्यूट्रिशनिष्ट शिखा ए शर्मा ने करेले के बीज के कई फायदे बताए हैं। आइए जानते हैं-

कब्ज की समस्या से मिलेगी राहत

bitter gaurd seeds for stomach

करेले के साथ-साथ बीजों में भी फाइबर के गुण होते हैं जो पाचन क्रिया को बेहतर बनाते हैं। दरअसल यह एक तरह से रफेज का काम करता है, जो मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने में मदद करता है। अगर आपको कब्ज की समस्या बनी रहती है तो अपनी डाइट में करेले के बीजों को जरूर शामिल करें। इसके अलावा यह ब्लड शुगर को भी कंट्रोल में रखने का काम करते हैं। दरअसल करेले में इंसुलिन के गुण होते हैं जो ब्लड शुगर को बढ़ने से रोकता है और इसके बीज पाचन तंत्र को बेहतर बनाते हैं। ऐसे में यह ग्लूकोज को मसल्स, लिवर और अन्य हिस्सों में ट्रांसफर करने में मदद करता है। जिससे ब्लड शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है।

पेट में कीड़े होने पर सेवन करें

healthy children

बच्चों को ही नहीं बल्कि बड़ों को भी पेट में कीड़े होने की समस्याएं होती हैं। हालांकि, बच्चों में जब यह समस्या हो जाए तो उनमें कई तरह की समस्याएं शुरू हो जाती हैं। जैसे भूख नहीं लगना, चिड़चिड़ापन, कमजोरी आदि। ऐसे में इससे राहत पाने के लिए आप करेले के बीजों को पीसकर इसका सेवन कर सकती हैं। आप चाहें तो बच्चों के लिए इसे सुखाकर हल्का रोस्ट करके पाउडर बना लें। वहीं रोस्ट करके डायरेक्ट भी इसे चबाकर खाया जा सकता है। पेट में कीड़ों की समस्या से राहत पाने का यह बेहद आसान तरीका है।

इसे भी पढ़ें:पाइनएप्पल रायता खाने से सेहत को मिलते हैं 5 अद्भुत लाभ

बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को करें कंट्रोल

bitter gaurd seeds for cholestrol

उम्र के साथ डायबिटीज ही नहीं बल्कि कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी बढ़ने की समस्या अक्सर बनी रहती है। करेले के बीज खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं। बता दें कि कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने से दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। यही नहीं खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर लगातार बढ़ने से सीने में दर्द, हार्ट अटैक, डायबिटीज होने के जोखिम भी बढ़ जाते हैं। कोलेस्ट्रॉल को काबू पाने के लिए करेले के बीज के साथ-साथ डाइट में उन चीजों को भी शामिल करें जो आपके हृदय को स्वस्थ रखने में सहायक हैं।

Recommended Video

इम्यूनिटी को करता है बूस्ट

bitter gaurd seeds

स्ट्रांग इम्यूनिटी आपको कई बीमारियों से बचाने का काम करती है। कोरोना काल में जिन लोगों की इम्यूनिटी स्ट्रांग रही वह इस वायरस की चपेट में कम आए हैं। करेले की तरह इसके बीजों में भी पोटेशियम, विटामिन सी और फाइबर जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो आपकी इम्यूनिटी को स्ट्रांग बनाए रखने में मदद करते हैं। रोजाना करेले के बीजों का सेवन आप पाउडर के रूप में कर सकती हैं। इसके लिए करेले के बीज को अच्छी तरह सुखाकर रख दें। अब इसे कढ़ाई या फिर पैन में रोस्ट कर पाउडर बना लें और रोजाना एक चम्मच गर्म पानी के साथ सेवन करें।

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं पोटेशियम युक्त फूड्स, जानें फायदे

वजन को करेगा कंट्रोल

जब आप सब्जी या फिर अन्य तरीके से करेले का सेवन करती हैं तो उसके बीजों को भी साथ में खाएं, क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर होता है। इसके अलावा बीज रफेज होते हैं, जो शरीर में मौजूद वेस्ट को बाहर निकालने में मदद करते हैं। इसलिए जब भी करेले की कोई डिश तैयार करें, तो उसमें मौजूद बीजों को बाहर निकालकर नहीं फेंके बल्कि आप इसे अपनी डाइट में शामिल करें। करेले का भरता, चटनी, चिप्स कई ऐसे ऑप्शन हैं जिसमें बीजों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

करेले के बीज से जुड़ी यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। इसी तरह और भी सेहत से जुड़े आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।