आज के समय में एक्सरसाइज ना करने और फिजिकल एक्टिविटी में कमी आने की वजह से लाइफस्टाइल डिजीज बढ़ रही हैं और इनमें डायबिटीज से पीड़ित मरीजों की संख्या काफी ज्यादा है। कई ऐसे मामले सामने आए हैं, जिनमें छोटे बच्चे भी डायबिटीज के शिकार हो रहे हैं। यह बीमारी कुछ लोगों में वंशानुगत भी होती है। यह समस्या होने पर शरीर में ब्लड शुगर का स्तर अनियमित हो जाता है और इससे पीड़ित मरीजों को मोटापा, किडनी फेलियर और हार्ट डिजीज होने की आशंका होती है। 

प्याज से ब्लड शुगर को काबू में रखें

diabetes management with onion inside

डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं को अक्सर सलाह दी जाती है कि वे पोषक तत्वों से युक्त डाइट लें और रोजाना एक्सरसाइज करें। डॉक्टर्स इस बीमारी में महिलाओं को ऐसी डाइट लेने की सलाह देते हैं जो फाइबर से भरपूर हो। अगर आप भी डायबिटीज से पीड़ित हैं तो आप अपने किचन में रोजाना इस्तेमाल होने वाले प्याज से अपने डायबिटीज को आसानी से मैनेज कर सकती हैं। कई स्टडीज में यह बात पाई गई है कि प्याज में पाया जाने वाले फ्लेवेनॉइड्स ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखते हैं। इससे डायबिटीज पर काबू पाने और कई तरह की बीमारियों से सुरक्षित रहने में मदद मिलती है। आइए जानते हैं कि डायबिटीज को  कंट्रोल करने में प्याज किस तरह से मदद करता है। 

इसे जरूर पढ़ें: ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिक की इस renewal diet से आप रहेंगी सेहतमंद

फाइबर से भरपूर

प्याज में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर खाने को बचाने में मदद करता है और डाइजेस्टिव सिस्टम को स्ट्रॉन्ग बनाता है। इससे शरीर में मौजूद शुगर की खून में मिलने की प्रक्रिया धीरे हो जाती है जिससे मरीज के ब्लड शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है। फाइबर खाने का एक बड़ा फायदा यह भी है कि यह शरीर को साफ करने में मदद करता है। इससे पेट आसानी से साफ हो जाता है, जिससे महिलाएं ऊर्जावान महसूस करती हैं। डायबिटीज से पीड़ित महिलाएं आमतौर पर कब्ज से परेशान रहती हैं, ऐसे में प्याज खाने से पेट को साफ रखने में मदद मिलती है। 

इसे जरूर पढ़ें: Seaweeds खाने से न्यूट्रिशन से लेकर वेट लॉस तक मिलते हैं कई फायदे

लो कार्बोहाइड्रेट्स से मिलता है फायदा

डायबिटीज में ज्यादा कार्बोहाइड्रेट्स वाले फूड प्रॉडक्ट्स सेहत के लिए अच्छे नहीं माने जाते, वहीं प्याज में कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा बहुत कम होता है। इसीलिए यह डायबिटीज के मरीजों के लिए काफी ज्यादा अच्छा माना जाता है। दरअसल कार्बोहाइड्रेट्स बहुत जल्दी मेटाबोलाइज हो जाता है, इसीलिए शरीर के लिए ऐसे फूड प्रॉडक्ट्स अच्छे रहते हैं, जिनमें कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा बहुत ज्यादा ना हो।

कम होता है ग्लाइसेमिक इंडेक्स

diabetes management onion full of fibre inside

फूड प्रॉडक्ट्स किस तरह से ब्लड शुगर को प्रभावित करते हैं, उसी के आधार पर उनकी ग्लाइसेमिक इंडेक्स की वैल्यू कम या ज्यादा होती है। प्याज का ग्लाइसेमिक इंडेक्स 10 है और इसीलिए यह डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं के लिए आदर्श डाइट मानी जाती है।   

इस तरह करें प्याज का सेवन

प्याज अगर रोजमर्रा की डाइट में शामिल किया जाए तो यह हमारे रोजमर्रा के खाने का स्वाद भी बढ़ा देता है। स्नैक्स में कच्चा प्याज काफी टेस्टी लगता है, वहीं ग्रेवी वाली डिशेज में भी प्याज का स्वाद बहुत उम्दा लगता है। टाइप 1 और टाइप 2 से पीड़ित महिलाएं प्याज को सूप, सलाद और सैंडविच आदि में आराम से ले सकती हैं, लेकिन अगर आप इस बारे में अपनी डॉक्टर से सलाह लेंगी तो यह आपके लिए और भी ज्यादा अच्छा रहेगा। 

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

डायटीशियन शिखा महाजन का कहना है, 

'जानवरों और इंसानों दोनों पर हुए अध्ययनों में यह पाया गया है कि लाल प्याज का सेवन करने से फास्टिंग ब्लड शुगर को तेजी से घटाया जा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि प्याज में क्वर्सेटिन और सल्फर कंपाउंड जैसे तत्व होते हैं, जो एंटी डायबिटिक इफेक्ट पैदा करते हैं। अगर आपको प्याज खाने में समस्या महसूस होती है तो इसके फायदे पाने के लिए आप onion extract pills का भी सेवन कर सकती हैं।'