एक अंग्रेजी कहावत है, 'अर्ली टु बेड ऐंड अर्ली टु राइज, मेक्स अ मैन, हेल्दी-वेल्दी ऐंड वाइज', यानि 'जल्दी सोने और जल्दी उठने वाली महिला हेल्‍दी, समझदार और धनवान बनती हैं।' सुबह का समय बहुत खास होता है। आप पूरा दिन कैसा महसूस करेंगी, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप अपने दिन की शुरुआत कैसे करती हैं। तो आइए जानें कि सुबह जल्दी उठना हमारी हेल्‍थ के लिए कैसे फायदेमंद हो सकता है।

मैंने आस्‍था चैनल पर योगाचार्य स्‍वामी रामदेव को यह कहते सुना था कि वह रोजाना सुबह 4 बजे उठ जाते हैं। इससे वह दिनभर एनर्जी से भरपूर महसूस करते हैं और उनका ज्‍यादातर काम जल्‍दी हो जाता है। स्‍वामी रामदेव की तरह कई सफल लोग इस दिनचर्या से चिपके रहते हैं। साइंस का कहना है कि जल्दी उठने से ना केवल आपकी प्रोडक्‍शन पर बल्कि आपकी पूरी बॉडी और इमोशनल स्थिति पर बहुत पॉजिटीव असर हो सकता हैं।

आपके पास पूरी तरह जागने का समय होगा

waking up early

आप लेट उठती हैं और पूरी तरह से नींद खुलती भी नहीं हैं कि आप ठंडे पानी से नहाने चली जाती हैं या जल्‍दी-जल्‍दी कॉफी पीती हैं और भागती हुई ऑफिस पहुंच जाती हैं। इससे आपकी बॉडी पर उल्‍टा असर पड़ सकता है। लेकिन अगर आप जल्‍दी उठती हैं तो आपको खुद के लिए बहुत ज्‍यादा समय मिल जाता है।

अच्‍छी नींद मिल सकती है आपको

वैज्ञानिकों ने पाया कि जल्‍दी उठने वाली महिलाएं देर से उठने वाली महिलाओं की तुलना में अच्‍छी नींद लेती हैं। जो महिलाएं देर तक सोना पसंद करती हैं, उनमें स्‍लीप डिसऑर्डर होने की संभावना अधिक होती है। इसके अलावा, उनकी बॉडी वास्‍तव में पर्याप्‍त रूप से सो नहीं पाती है, भले ही वे जल्‍दी उठने वाले महिलाओं की तुलना में ज्‍यादा लंबे समय तक बिस्‍तर पर रहती हैं।

इसे भी पढ़ें : बहुत कम या ज्‍यादा सोती हैं आप तो आपको हो सकती है ये बीमारी

जागने के बाद आपको प्रॉब्‍लम नहीं होगी

अलार्म बजने के बाद इसे बार-बार रीसेट करने के बजाय खुद को एक बार में ही उठने की आदत डालें। 5 मिनट में 5 बार सोना आपको लंबी नींद की अनुमति नहीं देता है, यह केवल स्‍लीप साइकिल को बाधित करता है। अंत में, आप जागने के बाद और अधिक फ्रेश महसूस नहीं करेंगी और आपको पूरा दिन नींद आती रहेगी।

स्लिप फिगर पा सकती हैं आप

waking up early exercise slim figure

आपकी अलार्म घड़ी को रीसेट करने की आदत ना केवल आपके नींद चक्र को बाधित करती है बल्कि यह आपके मेटाबॉलिज्‍म पर असर डालती है जो मोटापे का कारण बन सकती है। आप खुद को जल्‍दी उठाने के लिए इस तरह की प्रेरणा दे सकती है जैसे, बिस्तर में सोने की बजाय, खुद को शेप पर लाने में खर्च करें! जिससे आप स्लिम फिगर की मल्लिका बन सकती हैं।

देर करने की आदत से बचाव

वैज्ञानिक अध्ययनों से पता चलता है कि ज्यादातर महिलाएं जो देरी से जागती हैं उन्‍हें अपने कामों के लिए शाम की जरूरत होती है। लेकिन जो महिलाएं जल्‍दी जागती हैं, वे अपने रात के घंटों को विशेष रूप से सोने के लिए बिताती हैं, महत्वपूर्ण चीजों के लिए सुबह के समय को सुरक्षित रखती हैं। अगर आप जल्दी उठने के लिए खुद को प्रशिक्षित करती हैं, तो आप दोपहर से पहले अपने ज्‍यादार कामों को निपटा लेती हैं।

चीजों को करने के लिए आपको मिलती है ज्‍यादा प्रेरणा

देर से जागने वाली महिलाएं जल्‍दी जागने वाली की तुलना में अलग-अलग चीजों को करने के लिए प्रेरित नहीं होती है। वैज्ञानिक अध्ययन यह साबित करता है: सुबह जल्‍दी उठने से, आपके पास काम के लिए तैयार होने के लिए पर्याप्त समय होता है, अपने दीर्घकालिक और अल्पकालिक लक्ष्यों को परिभाषित करें, और समझें कि आपके काम क्या हैं।

इसे भी पढ़ें : गहरी नींद चाहती हैं तो अपनी टमी का रखें खास ख्‍याल, जरूर खाएं ये 3 फूड

सीखना होता है आसान

learn anything easily

जो महिलाएं जल्‍दी उठती हैं वे पढ़ते समय बेहतर परिणाम दिखाती हैं। वैज्ञानिकों ने समझाया कि क्योंकि आप जल्दी उठती हैं, आपके लिए स्कूल जाना या समय पर काम करना आसान होता है। आप अन्य चीजों के बारे में चिंता करती हैं और अधिक आसानी से स्‍टडी कर सकती हैं।

अच्छी आदतें होती है पैदा

अध्ययनों से पता चलता है कि देर से जागना आमतौर पर विभिन्न बुरी आदतों का कारण होता है। जल्दी उठने से आपको रात में वाइल्‍ड एक्टिविटी और इसके साथ आने वाले प्रलोभनों को नकारने की अनुमति मिलती है बल्कि यह आपको इसकी बजाय अधिक हेल्‍दी आदतें चुनने में हेल्‍प करता है।

Recommended Video

ज्‍यादा खुश रहती है आप

किसी भी महिला की साइकोलॉजी स्‍टेट और सामान्‍यखुशी इस बात पर निर्भर करती है कि उसके दिन की शुरूआत कैसे होती है अध्‍ययनों के मुताबिक, जो महिलाएं जल्‍दी उठती हैं, उनकी इमोशनल स्‍टेट ज्‍यादा स्‍टेबल होती है। जो महिलाएं देर से बिस्‍तर पर जाती हैं और देर से उठती हैं, उनमें मूड स्विंग्‍स और डिप्रेशन की संभावना बहुत ज्‍यादा रहती हैं।


आप किस समय उठती हैं? जागने के दौरान आप कैसा महसूस करती हैं? इस बारे में हमें जरूर बताएं। यह आर्टिकल पसंद आया तो इसे लाइक और शेयर करें। स्वास्थ्य से जुड़े ऐसे आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

Image Credit: freepik