गर्मियों का मौसम चरम पर है। चटक धूप और पसीना निकलने से प्‍यास भी तेज लगती है। इस प्‍यास को बुझाने के लिए जाहिर आपलोग ठंडे पानी का सहारा ले रही होंगी। बाहर से घर में घुसते ही आप भी सीधे फ्रिज खोल कर ठंडे पानी की बोतल खाली कर देती होंगी मगर क्‍या आपको पता है आपका ऐसा करना आपकी सेहत के लिए कितना हानीकारक हो सकता है। भले ही ठंडा पानी पी कर आपको तुरंत राहत मिल जाती होगी मगर यही ठंडा पानी आपके शरीर को धीरे-धीरे बीमार बनाता चला जाता है। अगर हम आपसे कहें कि आप आज से ही ठंडा पानी पीना छोड़ दीजिए तो शायद आपको हमारी बात मजाक लगे मगर जब आपको ठंडे पानी पीने के नुकसान पता चलेंगे तो आप खुद ब खुद ठंडा पानी पीना छोड़ देंगी। 

इसे जरूर पढ़ें: पानी पीना हेल्‍थ के लिए अच्‍छा होता है लेकिन अगर पीती हैं बहुत ज्यादा पानी, तो संभल जाएं

Summer season cold water drinking habit cause dangerous diseases  ()

बढ़ सकता है वजन 

ऐसा कहा जाता है कि जितना अधिक ठंडा पानी पिया जाएगा शरीर में काम करने की उतनी ही क्षमता आएगी और शरीर जितना काम करेगा फैट उतना ही बर्न होगा। मगर यह पूरा सच नहीं है। ऐसा भी हो सकता है कि ज्‍यादा ठंडा पानी पीने से आपके पेट में जमा चर्बी सख्‍त हो जाए और शरीर से फैट रिलीज होने में दिक्‍कत हो। इसलिए कोशिश करें कि कम से कम ठंडा पानी पीएं और ज्‍यादा से जयादा गर्म पानी पीएं। गर्म पानी से आपकी बॉडी में मौजूद फैट आसानी से बाहर निकल सकता है।

 

एनर्जी हो जाती है खत्‍म 

हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि ठंडा पानी पीने से बॉडी में मेटाबॉलिज्‍म स्‍लो काम करने लगते हैं और शरीर में ज्‍यादा काम करने की क्षमता नहीं रह जाती है। इसकी एक बड़ी वजह यह भी है कि ठंडा पानी शरीर से फैट को रिलीज नहीं कर पाता है, जिस वजह से शरीर सुस्‍त रहता है और एनर्जी लेवल डाउन हो जाता है। 

Summer season cold water drinking habit cause dangerous diseases  ()

कब्‍ज की हो सकती हैं शिकायत 

अगर आपके कब्‍ज की समसया है तो आपको बिलकुल ही ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए। ठंडा पानी पीने से आपकी कब्‍ज की समस्‍या और भी बढ़ सकती है। दरअसल ठंडा पानी पेट में पहुंच कर मल को कठोर बनाता है और जब आप वॉशरूम में लू के लिए जाती हैं तो आपको दिक्‍कतों का सामना करना होता है। इसलिए अगर आपको कब्‍ज की समस्‍या पहले से है तो आप ठंडे पानी को हाथ भी न लगाएं और अगर आपको यह समस्‍या नहीं है तो कोशिश करें कि न ज्‍यादा ठंडा और न ज्‍यादा गर्म पानी पीएं। 

इसे जरूर पढ़ें: अगर शरीर में दिखने लगे ये 7 लक्षण तो समझ लें कि हो गई है पानी की कमी

खाना पचाने में होती है दिक्‍कत 

ठंडा पानी पीने से पाचन क्रिया भी ठीक से नहीं हो पाती है क्‍योंकि कोल्‍ड टेम्‍प्रेचर पेट को टाइट कर देता है, जिससे खाना पचाने में दिक्‍कत आती है। मैडिकली ऐसा भी पाया गया है कि जो व्‍याक्ति सदैव ठंडा पानी ही पीते हैं उनके पेअ से गार्गलिंग साउंड निकलता रहता और पेट में हमेशा दर्द बना रहा है। आपको शायाद यह भी न पता हो कि ठंडा पानी आपके हार्ट रेट को कम करता है क्‍योंकि इससे गर्दन के पीछे मौजूद एक नस प्रभावित होती है जो हार्ट रेट को धीमा कर देती है। 

Summer season cold water drinking habit cause dangerous diseases  ()

हो सकता है डीहाइड्रेशन 

जब तेज धूप से कोई छांव में आता है तो उसे प्‍यास लगना लाजमी है, मगर इस सिचुएशन में उसे ठंडा पानी पीने में बहुत अच्‍छा लगता है और दो-चार घूंट पीने के बाद ही उसकी प्‍यास शांत हो जाती है वहीं नॉर्मल पानी प्‍यासे आदमी की प्‍यास को और भी बढ़ाता है। अगर पूरे दिन नॉर्मल पानी से प्‍यास बुझाई जाए तो पेट में जरूरत भर पानी की मात्रा पहुंच जाती है और शरीर डीहाइड्रेटेड होने से बच जाता है वहीं अगर ठंडे पानी से ही पूरे दिन प्‍यास बुझाई जाए तो चाह कर भी पेट में पानी की उचित मात्रा नहीं पहुंच पाती है। 

गले में हो जाता है इनफैक्‍शन 

ठंडे पानी से आपकी आवाज भी खराब हो सकती है क्‍योंकि ठंडा पानी गले में इनफैक्‍शन कर देता है। इस इनफैक्‍शन से म्‍यूकस प्रोड्यूस होने लगते हैं, जिससे गला खराब होता जाता है। इसके साथ ही ज्‍यादा ठंडा पानी कफ का कारण भी बन सकता है। कफ से बुखार और खांसी भी हो सकती है। इस लिए ठंडे पानी की जगह नॉर्मल पानी ही पीया जाए तो अच्‍छा होगा। 

Summer season cold water drinking habit cause dangerous diseases  ()

सिर दर्द बढ़ जाती है समस्‍या 

ठंडा पानी सिर पर मौजूद क्रॉनियल नस को भी अफेक्‍ट करती है जिससे सिर में तेज दर्द होता है। हालाकि गर्मियों के मौसम में तेज सिर दर्द होने पर लोग यही सोचते हैं कि दर्द तेज धूप के कारण हो रहा होगा मगर दर्द का असली कारण तेज धूप से सीधे आकर पानी पीना होता है। इसलिए इस मौसम में जब भी तेज प्‍यास लगे तो नॉर्मल पानी ही पीएं। इससे आपकी न केवल प्‍यास बढ़ेगी बल्कि आप तमाम तरह की बीमारियों से भी बचेंगी।