आंखें हमारे शरीर के सबसे नाजुक हिस्सा होती हैं और उम्र जैसे-जैसे बढ़ने लगती है उसका असर आंखों पर सबसे पहले दिखना शुरू होता है। कई लोगों की ये शिकायत होती है कि उनकी उम्र बहुत ज्यादा नहीं होने के बाद भी उनकी आंखों के नीचे झुर्रियां आ गई हैं और साथ ही साथ आंखों की वजह से चेहरा बहुत डल लगने लगा है। आंखों के नीचे की स्किन कई बार हमारे स्किन केयर रूटीन, कई बार डाइट और कई बार एक्स्ट्रा फैट की वजह से खराब हो जाती है। 

आंखों की स्किन को ठीक करने के तरीके क्या हैं और किस तरह से उनमें रौनक वापस लाई जाए? ये जानने के लिए हमने सर्टिफाइड क्लीनिकल डायटीशियन, लेक्चरर, डायबिटीज एजुकेटर, मीट टेक्नोलॉजिस्ट और NUTR की फाउंडर लक्षिता जैन से बात की। उन्होंने हमें थकी हुई आंखों को रिलैक्स करने और उन्हें वापस जवां बनाने के लिए कुछ टिप्स बताए हैं। 

eye problems and solution

थकी हुई आंखों को कैसे करें रिलैक्स?

थकी हुई आंखों के लिए लैवेंडर ऑयल सबसे बेस्ट साबित हो सकता है। ये आंखों के स्ट्रेस को दूर कर सकता है। 2.5 कप पानी में एक-दो बूंद लैवेंडर ऑयल डालें (इससे ज्यादा बिल्कुल नहीं क्योंकि एसेंशियल ऑयल्स ज्यादा इस्तेमाल करने पर नुकसान पहुंचा सकते हैं।) और इस सॉल्यूशन को अच्छे से मिक्स कर लें। अब दो कॉटन पैड्स को इस लिक्विड में डालें। एक्स्ट्रा लिक्विड निकालें और इन्हें आंखों पर रख लें। 

इसे जरूर पढ़ें- बिना किसी ब्यूटी प्रोडक्ट और घरेलू नुस्खों के इन 5 तरीकों से बना सकती हैं अपनी आंखों को खूबसूरत

डार्क सर्कल्स को दूर करने के लिए क्या किया जाए?

आंखों में झुर्रियों के साथ-साथ डार्क सर्कल्स की समस्या भी बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। उसके लिए लक्षिता जी ने हमें एक नुस्खा बताया है। 

  • 1 चम्मच टमाटर का जूस
  • 1/2 छोटा चम्मच नींबू का जूस
  • चुटकी भर हल्दी पाउडर
  • थोड़ा सा बेसन

इन सभी चीज़ों को मिलाकर अच्छे से आंखों के नीचे और अन्य डार्क एरिया में लगाएं। इसे 10 मिनट छोड़ें और फिर धो लें। आप इसके अलावा, खीरे या आलू के रस में डूबा हुआ कॉटन पैड भी आंखों पर रख सकते हैं। आपको 2-3 हफ्ते में ही असर दिखने लगेगा। 

beautiful eyes

डाइट में इस तरह का बदलाव आएगा काम- 

लाइफस्टाइल में बदलाव हमारे लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके लिए लक्षिता जी ने हमें कुछ खास टिप्स बताए हैं- 

eye dark circle removal

इन ड्रिंक्स को करें अपनी रोज़ाना की डाइट में शामिल- 

  • टमाटर के जूस में पुदीने की पत्तियां, नींबू का रस, नमक मिलाकर पिएं।
  • रेड बेरीज, कीवी, लाल और हरी शिमला मिर्च, टमाटर, ब्रोकली, पालक आदि चीज़ों को अलग-अलग तरह के जूस के साथ क्लब करके पिया जा सकता है।
  • अमरूद, अंगूर और संतरे के जूस को ट्राई करें जो विटामिन-सी से भरपूर होता है।  

इसे जरूर पढ़ें- 1 हफ्ते में आंखों की सूजन और झुर्रियों से पाएं छुटकारा, जानें कैसे 

अपनी डाइट में विटामिन-ई से भरपूर खाना शामिल करें- 

वेजिटेबल ऑयल्स, नट्स, हरी पत्तेदार सब्जियां, मीठे आलू (शकरकंद), एवोकाडो, गेहूं के अंकुर, होल ग्रेन्स आदि फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करने से आपको बहुत फायदा मिल सकता है।  

eye swelling

फैटी एसिड्स से भरपूर फूड्स- 

सैल्मन, अलसी के बीज, सोयाबीन, अखरोट आदि अपनी डाइट में शामिल करें जो एजिंग प्रोसेस को धीमा करने में मदद करते हैं।  

इन फूड्स को भी कम न समझें- 

डुलसे (Dulse)- ये एक तरह की सूखी हुई सीवीड (समुद्री काई) होती है। आंखों के नीचे के डार्क सर्कल्स को हटाने के लिए इसे नेचुरल सोर्स माना जा सकता है। ये पफीनेस को कम करती है जो कम सोने, ज्यादा नमक वाला खाना खाने या फिर शरीर के बहुत ज्यादा पानी रिटेन करने की वजह से हुई होती है।  

पत्ता गोभी- पत्ता गोभी में जो एन्जाइम्स होते हैं वो आंखों के नीचे से झुर्रियों को कम करने के काम आ सकते हैं। इसमें विटामिन-ए और विटामिन-सी भी होते हैं जो फाइन लाइन्स और रिंकल्स को कम करते हैं। हफ्ते में 3-5 बार अपनी डाइट में पत्ता गोभी को शामिल करना चाहिए।  

जलकुंभी (Watercress) - जलकुंभी का सेवन कई कोस्टल इलाकों में किया जाता है और ये ब्लड सर्कुलेशन को सही करने के लिए बहुत अच्छी मानी जा सकती है। खराब ब्लड सर्कुलेशन के कारण आंखों के नीचे की सूजन आती है। इसे सलाद और स्मूदी आदि में शामिल किया जा सकता है।  

ग्रीन टी- ग्रीन टी में टैनिन होता है जो कूलिंग इफेक्ट देता है। ये ब्लड वेसल्स को रिलैक्स रखता है और इसलिए अंडर आई पफीनेस कम होती है।  

Recommended Video

आंखों को जवां बनाने के लिए योग- 

डाइट और ब्यूटी के साथ-साथ योगा भी बहुत जरूरी है जो आंखों को रिलैक्स करने का काम कर सकता है। ये योगा एक्सरसाइज दिन में एक बार जरूर करें- 

  • आराम से बैठ जाएं और आंखों को पूरा खोलें।
  • अब 10 बार जल्दी-जल्दी पलक झपकाएं। 
  • अब आंखों को बंद कर 20 तक गिनें और अपना ध्यान गहरी सांसों पर केंद्रित करें।
  • इस एक्सरसाइज को पांच बार करें। 

ये आंखों की पफीनेस और उसके नीचे की झुर्रियों को कम करने के लिए एक अच्छी एक्सरसाइज मानी जा सकती है।  

ये सभी टिप्स आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती हैं और अगर आपको आंखों से जुड़ी कोई आम समस्या है तो वो इनसे हल हो सकती है। पर अगर आपको कोई गंभीर समस्या है, आंखों की परेशानी है या फिर ऊपर दिए गए इंग्रीडिएंट्स में से किसी से एलर्जी है तो आप अपने डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही इन्हें अपनाएं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।