किसी का चेहरा देखते वक्त सबसे पहले आपका ध्यान किसपर जाता है? कई लोगों का ध्यान सीधे आंखों की तरफ जाता है। आपने शायद ये नोटिस किया हो कि उम्र बढ़ने के साथ-साथ आंखों में बहुत ज्यादा पफीनेस आ जाती है। इसी के साथ, उम्र के लक्षण यानि झुर्रियां आदि तो दिखते ही हैं। आंखें हमारे चेहरे का आईना होती हैं और आंखों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए हम न जाने क्या-क्या करते हैं। पर क्या आपने कभी सोचा है कि कुछ नेचुरल चीज़ों से कैसे आंखों की खूबसूरती बढ़ाई जाए। 

यहां हम किसी देसी नुस्खे या होम रेमेडी या फिर किसी ब्यूटी प्रोडक्ट की बात नहीं कर रहे हैं। यहां हम बात कर रहे हैं कि किस तरह से अपनी लाइफस्टाइल में थोड़े बदलाव के साथ ही हमारी आंखों के नीचे की पफीनेस, काले घेरे, आंखों से पानी आने जैसी समस्याएं दूर हो जाएंगी और हमारी आंखों नेचुरल तरीके से खूबसूरत दिखेंगी। हो सकता है आपके पास कई अंडर आई क्रीम्स आदि हों, लेकिन उनका असर भी तब ही होगा जब आपकी आंखें नेचुरली खूबसूरत दिखेंगी। 

क्या कहती है रिसर्च-

आंखों की खूबसूरती इसलिए भी कम हो जाती है क्योंकि उनपर स्ट्रेन ज्यादा पड़ता है। National Center for Biotechnology Information (NCBI) की एक रिसर्च कहती है कि डिजिटल स्ट्रेन आजकल आंखों में पफीनेस और जल्दी झुर्रियों का अहम कारण है। 

ऐसे में आंखों के स्वास्थ्य और उनकी खूबसूरती को बरकरार रखने के लिए हम कुछ खास टिप्स अपना सकते हैं। 

eye beauty

इसे जरूर पढ़ें- Beauty Tips: 5 स्टेप्स अपनाएं और आंखों को बड़ा दिखाएं 

1. न्यूट्रिएंट्स का रखें ध्यान-

आंखों की खूबसूरती और उनके स्वास्थ्य को कम करने के लिए सही न्यूट्रिशन्स का न मिलना भी बहुत बड़ा कारण हो सकता है। चार खास न्यूट्रिएंट्स विटामिन सी, ई, ए और जिंक हमारे लिए बहुत जरूरी है और अगर ये हमारे शरीर में भरपूर मात्रा में रहेंगे तो 35% तक आंखों की समस्याएं कम हो सकती हैं। 

ऐसे में विटामिन सी से भरपूर फलों का सेवन जरूरी है। इसी के साथ ऐसी सब्जियां जिनमें विटामिन ए होता है वो भी अपनी डाइट में शामिल करें। इनमें गाजर, पीच, पपीता, पालक और आम आदि शामिल हैं। जिंक के लिए चिकन, दही आदि चीज़ें अपनी डाइट में शामिल करें और विटामिन ई के लिए बादाम, नट्स, सरसों के बीज आदि का सेवन किया जा सकता है। 

eye care tips

2. आंखों के नीचे मसाज-

ऐसा जरूरी नहीं कि आप आंखों के नीचे किसी अंडर आई क्रीम से ही मसाज करें। ये नॉर्मल तरीके से भी हो सकता है। आप एक विटामिन ई कैप्सूल का ऑयल थोड़े से नारियल के तेल के साथ मिलाकर भी मसाज कर सकती हैं या फिर सिर्फ बादाम के तेल से अंडर आई एरिया को मसाज कर सकती हैं। बस ध्यान रहे कि ये आंखों के अंदर न जाने पाए। 

मसाज से आंखों के आप-पास का ब्लड सर्कुलेशन सही होता है और इससे कोई एक्स्ट्रा फ्लूइड जो आंखों के पास जम गया हो वो निकल जाता है।  

eye rubbing

3. आंखों को मसलने की आदत छोड़ दें- 

चाहें एंटी-एजिंग समस्याएं हों या फिर आंखों की पफीनेस की समस्या हो या फिर आंखों में रेडनेस हो ये सब कुछ आंखों को मसलने की वजह से हो सकता है। ऐसी आदत को पूरी तरह से छोड़ देना चाहिए जिनमें आप आंखों को तेज़ी से मसल रही हों। इससे आंखों को डैमेज तो होता ही है साथ ही साथ उसके आस-पास की स्किन भी ढीली पड़ने लगती है।  

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- अगर पाना चाहती हैं आकर्षक आंखें तो आजमाएं ये 5 टिप्स 

4. सनग्लासेस का इस्तेमाल न भूलें- 

आंखों पर सूरज की रौशनी का बहुत असर पड़ता है और ये बहुत बुरा भी साबित हो सकता है। अपनी आंखों को सनग्लासेस से ढकें। अगर आप सूरज की बहुत ज्यादा तेज़ रौशनी में जा रही हैं तब तो सनस्क्रीन को अंडर आई एरिया में लगाने के साथ-साथ सनग्लासेस का उपयोग जरूर करें। अगर आपको लग रहा है कि सूरज की वजह से आंखों में परेशानी हो रही है तो घर आकर खीरे या आलू के स्लाइस अपनी आंखों पर जरूर रखें।  

5. नींद को न भूलें- 

ये सबसे जरूरी टिप है जिसे अधिकतर लोग नजरअंदाज़ कर देते हैं। आपकी आंखों को रेस्ट भी चाहिए और लगातार स्क्रीन देखने के कारण इनमें ज्यादा परेशानी होने लगती है। ऐसे में आप नींद को न भूलें और अपनी नींद का ध्यान रखें। 24 घंटे में से कम से कम 6-8 घंटे की नींद लें। इससे आंखों की कई समस्याएं अपने आप ही कम हो जाएंगी।  

आपकी आंखों में अगर कोई सीरियस समस्या हो रही है तो आंखों के डॉक्टर से मिलें और अपनी आंखों की केयर करें। ऐसी ही अन्य खबरों को पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।