जब लजीज भोजन सामने हो तो उसे खाना कौन नहीं पसंद करेगा। कितना भी रोकने के बाद भी इंसान अपने आपको रोक नहीं पता खाने से। वही जब भोजन लजीज हो और साथ में गरमा-गरम हो तो उसे खाने में और भी स्वाद आता है। लेकिन, कभी आपने ये ध्यान दिया है कि खाने को लेकर हमे इतना जल्दी रहती है कि हमें लगता है की उस खाने को कितना जल्दी से खा के खत्म कर दे। लेकिन इसी खाने के जल्दी में हम और आप ऐसे कई बिमारियों को दावत दे देते है जो अमूमन हमें मालूम भी नहीं रहता है। आज इस लेख में आपको यही बताने आएं है की आपके जल्दी-जल्दी खाने से आपके शरीर पर क्या इफ्फेक्ट पड़ता है-    

इसे भी पढ़ें: कुछ इस तरह ख्याल रखें अपने हेल्थ का दावतों इस मौसम में

मोटापा

health risks eating fast heres why you need slow eat inside

अमूनन मोटापा होने का कारण अधिक खाने को भी लोग जिम्मेदार मानते हैं। लेकिन सच्चाई ये भी है की जल्दी-जल्दी खाने के चक्कर में हम अक्सर ये भू जाते हैं कि हमे उस खाने को चबा के खाना चाहिए। आप जितना अधिक खाने को चबाते है उतना ही मोटापा कम होने का अनुमान रहता है। इसलिए आप जब भी खान खाने बैठे तो खाने को अच्छे से चबाएं।

Recommended Video

अत्य अधिक भोजन-

health risks eating fast heres why you need slow eat inside

जब सामने बेहतरीन खान हो तो हम और आप ये भूल जाते हैं कि हमें कितना खाना चाहिए और कितना नहीं खाना चाहिए। आपको बता दे की ओवरईटिंग कई तरह से आपके शरीर को नुकसान पहुचता है। ओवरईटिंग हमारे और आपके शरीर के वजन को बढ़ता है। जब हम और आप तेजी से खाते है तो ये अमूमन भूल जाते हैं हमें कितना कैलोरी चाहिए और कितना नहीं। तो अगली बार अत्य अधिक भोजन से बचे।  

डायबिटीज-

health risks eating fast heres why you need slow eat inside

भारत में लगभग हर घर में एक डायबिटीज का मरीज मिल ही जाता है। हालांकि डायबिटीज होने के बहुत से कारण हो सकते है लेकिन इस्सके पीछे जल्दी-जल्दी भोजन करना भी एक प्रमुख कारण है। अगर आपको डायबिटीज हो और नहीं भी है तो भी जल्दी-जल्दी खाना कभी नहीं खाना चाहिए। आप हमेशा संतुलित आहार ही अपने खाने में शामिल करे।   

इसे भी पढ़ें: रोजाना 1 आंवला खाएं, सर्दी, खांसी और फ्लू को दूर भगाएं, रुजुता दिवेकर से 7 और फायदे जानें   

उपवास के बाद-  

health risks eating fast heres why you need slow eat inside

भारतीय समाज में उपवास एक बड़ा ही धार्मिक कार्य माना जाता है। लेकिन उस उपवास के बाद हम और आप अमूमन ये भूल जाते हैं कि उपवास के बाद किस तरह के खाने को खाना चाहिए और कितने मात्र में खाना चाहिए। कभी-कभी भोजन को तेजी से खत्म करने के लिए पानी के सहारे निगल लेते है जो शरीर के लिए हानिकारक होता है।  तो अगली बार जब आप भोजन करने बैठे तो इन बातों का विशेष कर ध्यान दे।