उल्‍टी आने के कई कारण हो सकते हैं। पेट में संक्रमण, फूड पॉइजनिंग, माइग्रेन, मोशन सिकनेस या फिर गैस की समस्‍या होने के कारण जी मिचलाना और उल्‍टी होना शुरू हो जाता है। कई बार 1 बार वॉमिटिंग होने के बाद ही राहत मिल जाती है तो कई बार लगातार वॉमिटिंग होती रहती है। 

आप वॉमिटिंग को रोकने के लिए दवाओं का सहारा ले सकती हैं, मगर इसके कुछ देसी इलाज भी हैं। इस आर्टिकल में हम आपको वॉमिटिंग रोकने के कुछ ऐसे सरल उपाय बताएंगे, जिसके लिए न तो आपको पैसे खर्च करने पड़ेंगे और न ही ज्‍यादा मेहनत करनी होगी। 

home remedies for vomiting

पुदीना 

फायदे- पुदीने को आयुर्वेद में औषधि माना गया है। यह पेट से जुड़ी दिक्‍कतों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यह एंटी एमेटिक भी होता है, इसका सेवन करने से पेट में ऐंठन, गैस और दर्द की समस्‍या में राहत मिलती है। साथ ही अगर आपको इनमें से किसी एक वजह के कारण उल्‍टी आ रही है तो आप पुदीने का 2 तरह से सेवन कर सकती हैं- 

1. पुदीने के पाउडर का सेवन- आप पुदीने की पत्तियों को सुखा कर उनका पाउडर बना लें और अगर कभी आपको पेट में दिक्‍कत की वजह से उल्‍टी आ रही हो तो एक चम्‍मच पुदीने का पाउडर गरम पानी के साथ फांक लें। इससे आपको तुरंत ही राहत मिल जाएगी। 

2. पुदीने की चाय- आप पुदीने की पत्तियों को पानी में उबाल कर उसे छान कर चाय की तरह पी लें। इससे भी आपकी वॉमिटिंग बंद हो जाएगी। 

इसे जरूर पढ़ें: Expert Tips: मुंह का स्‍वाद वापिस लाने के लिए अपनाएं ये 2 नुस्‍खे

stop vomiting remedies

चावल का पानी 

फायदा- अगर आपको लगातार उल्‍टी हो रही है तो आपको चावल का पानी पीना चाहिए। इससे भी आपको लाभ होगा। 

सामग्री 

  • 1 मुट्ठी चावल 
  • 1 कप पानी 

विधि 

  • चावल को पहले अच्‍छी तरह से 3 बार पानी बदल कर वॉश करें। 
  • अब चावल को 1 कप पानी में पका लें। 
  • चावल के पकने के बाद उसका पानी छान कर पी लीं। 
  • आप इसमें काला नमक और नींबू भी मिला सकती हैं। 
 
how to stop vomiting

एसेंशियल ऑयल की मदद लें 

फायदा- नींबू में भी एंटी एमेटिक गुण होते हैं। आप इसके एसेंशियल ऑयल की 1 ड्रॉप की मदद लेकर वॉमिटिंग को रोक सकती हैं। 

कैसे करें उपयोग- आप एक टॉवल में लेमन एसेंशियल ऑयल (लेमन एसेंशियल ऑयल का यूज) की 1 ड्रॉप डालें और उसे सूंघती रहें। ऐसा करने पर आपको उपकाई आना भी बंद हो जाएगी और आप काफी राहत महसूस करेंगी। 

food to stop vomiting

सौंफ 

फायदा- अगर आपका जी मिचला रहा है तो आप सौंफ का सेवन कर सकती हैं। इससे आपको राहत मिलेगी क्‍योंकि इसमें भी खाने को  पचाने की शक्ति होती है और यह एंटी-एमेटिक भी होती है। 

सौंफा का पानी- एक कप पानी में 1 बड़ा चम्‍मच सौंफ को उबाल कर छान लें। अब इस पानी का सेवन करें। आपकी वॉमिटिंग रुक जाएगी। 

सौंफ चबाएं- आप केवल एक छोटा चम्‍मच सौंफ को मुंह में चबाएं इससे भी पेट दर्द, गैस, उल्‍टी और मिचलाहट से राहत पा सकती हैं। 

reason of vomiting

अदरक 

फायदा- अदरक शरीर को कई तरह से लाभ पहुंचाती है। अगर आप अदरक का एक टुकड़ा मुंह के अंदर रख लें तो इससे आपकी खांसी की समस्‍या, जी मिचलाना और पेट दर्द की समस्‍या दूर हो जाएगी। 

अदरक की चाय- अगर आपको 1 से अधिक बार उल्‍टी हो चुकी है और जी मिचला रहा है तो आप अदरक को पानी में उबाल कर उसमें 1 चम्‍मच शहद डाल कर पी सकती हैं। इस बात का ध्‍यान रखें कि अदरक का पानी जब गुनगुना हो जाए तब ही आप उसमें शहद डालें। 

अगर आपको यह नुस्‍खे पसंद आए हों तो इन्‍हें आप भी आजमा कर देखें। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें साथ ही इसी तरह और भी हेल्‍थ टिप्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

Image Credit: Freepik