बदलती लाइफस्‍टाइल और खान-पान में गड़बड़ी के कारण आज हर दूसरी महिला डायबिटीज से परेशान है और ऐसी महिलाओं को अपने डाइट का खास ख्‍याल रखना पड़ता है क्‍योंकि गलत डाइट से प्रॉब्‍लम और भी बढ़ सकती है। और अगर शुगर कंट्रोल से बाहर हो जाए तो आपके लिए खतरनाक हो सकता है और आपको शुगर कंट्रोल करने के लिए इंसुलिन लेना पड़ सकता है। लेकिन परेशान ना हो क्‍योंकि कुछ चीजों को अपनी डाइट में शामिल कर आप डायबिटीज की समस्‍या को आसानी से कंट्रोल कर सकती हैं। जी हां आज हम आपको ऐसे कुछ पौधों के बारे में बता रहे हैं जिन्‍हें किचन गार्डन में लगाकर आप इस समस्‍या को आसानी से कंट्रोल कर सकती हैं। विश्‍वास नहीं हो रहा तो आइए हमारे साथ आप भी इन पौधों के बारे में जानें।

करी पत्ता

kari patta diabetes health plants inside

आपने देखा होगा कि करी पत्ता साउथ इंडियन खाने की जान है। इसके बिना साउथ इंडियन खाना अधूरा है। जी हां करी पत्ते का इस्तेमाल ना सिर्फ खाने में स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है बल्कि इससे अनगिनत रोगों का इलाज भी किया जा सकता है। डायबिटीज के रोगियों के लिए करी पत्ता रामबाण का काम करता है। डायबिटीज को कंट्रोल में रखने के लिए आपको कुछ नहीं करना है, बस 5-6 करी पत्ता रोजाना खाना है।

Read more: आपके घर के गार्डन में ही छिपा है खूबसूरत त्‍वचा का खजाना

धनिया

भोजन में स्वाद व खूशबू बढ़ाने के साथ-साथ हरा धनिया थकान मिटाने में बेहद सहायक है। धनिया में विटामिन ए भरपूर मात्रा में होने के कारण डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। साथ ही इससे ब्‍लड में इंसुलिन की मात्रा भी कंट्रोल में रहती है। अगर आप भी डायबिटीज के मरीज हैं और कई जतन करने के बाद भी आपका शुगर लेवल कंट्रोल नही कर पा रही हैं तो ये धनिये से आपको बहुत फायदा होता है। इसे आप अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं।

तुलसी
tulsi diabetes health plants inside

हिंदु धर्म में तुलसी को पूज्‍यनीय माना जाता है और लगभग हर आंगन में यह आपको देखने को मिल जाएगी। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि यह पूज्‍यनीय पौधा आपकी सेहत के लिहाज से भी काफी फायदेमंद होता है। रोजाना तुलसी के 5-7 पत्ते खाने से ब्‍लड शुगर का लेवल सही रहता है। साथ ही यह आपको सर्दी-जुकाम से भी बचाती हैं और इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट आपकी इम्‍यूनिटी को मजबूत बनाते हैं। जिससे छोटी-मोटी बीमारियां तो आपको छू भी नहीं पाती है। 

सदाबहार

सदाबहार के कोमल ताजे 5 पत्ते सुबह सेवन करने से डायबिटीज में बहुत फायदा होता है। जी हां सदाबहार की 4-5 कोमल पत्तियां चबाकर रस चूसने से डायबिटीज राहत मिलती है। सदाबहार के पौधे के चार पत्तों को साफ़ धोकर सुबह खाली पेट चबाएं और ऊपर से दो घूंट पानी पी लें। इससे डायबिटीज कंट्रोल में रहता है। यह प्रयोग कम से कम तीन महीने तक करना चाहिए।

Read more: वेट लॉस के लिए बार-बार रखती हैं व्रत तो आज से ही बंद कर दें, हो सकता है डायबिटीज का खतरा

मेथी
methi diabetes health plants inside

वैसे तो इसका स्वाद थोड़ा कड़वा होता है, लेकिन इससे होने वाले फायदों को जानकर सारी कड़वाहट दूर हो जाती है। हरी मेथी डायबिटीज के रोगियों के लिए तो वरदान है। इसके सेवन से डायबिटीज को भी कंट्रोल  किया जा सकता है। ये हमारे ब्‍लड में शुगर की मात्रा को बैलेंस करती है। इसीलिए हाई बीपी, डायबिटीज, अपच जैसी बीमारियों में इसका उपयोग लाभकारी होता है। प्रतिदिन नियमित रूप से मेथी के दानों का रस पीने से डायबिटीज में लाभ होता है।

नीम और गिलोय

गिलोय और नीम शुगर के लिए एक रामबाण औषधि है। नीम व गिलोय की दातुन करें। दातुन करते समय जो पानी मुंह में आए उसे बाहर ना निकालें बल्कि अंदर ही गटक ले जाएं। इसे आप अपनी दिनचर्या में शामिल कीजिये। इससे भी शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। या प्रतिदिन नीम के गुलाबी कोमल कोपले चबाकर रस चूसने से मधुमेह रोग में बहुत लाभ होता है। यानि नीम और गिलोय भी डायबिटीज को कंट्रोल में रखती हैं। और इसे आप आसानी से अपने किचन गार्डन में लगा सकती हैं।
तो देर किस बात कि घर में इन पौधों को लगाएं और हरियाली के साथ-साथ सेहत भी पाएं।

Recommended Video