कांसे का इस्तेमाल भरतीय घरों में सदियों से होता आया है। ये अंग्रेजी में बेल मेटल (Bell metal) कहा जाता है और पीतल का एक मॉडिफाइड पॉर्म होता है। इसमें थोड़ा सा तांबा और टिन भी मिला होता है। कांसा एक ऐसा मेटल है जो बहुत ही आसानी से मिल जाता है, लेकिन इसकी लोकप्रियता इस बात से नहीं है कि ये आसानी से मिल जाता है बल्कि इस बात से है कि कांसा हमारे शरीर के लिए कितना महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। 

आयु्र्वेदिक डॉक्टर दीक्षा भावसार ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर कांसे से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी शेयर की है और ये भी बताया है कि आखिर क्यों कांसा बहुत ही उपयोगी साबित हो सकता है। कांसे के बर्तन में पानी पीने से लेकर कांसे की थाली में खाना खाने तक क्यों ये सही हो सकता है। तो चलिए जानते हैं कि क्यों कांसा बहुत ही अच्छा साबित होगा। तो चलिए जानते हैं कांसे के फायदे... कैसे कांसा हो सकता है बेस्ट। 

कांसे के इस्तेमाल से तेज़ होता है दिमाग-

आयुर्वेद में 'कांस्यम बुद्धीवर्धकम' कहा जाता है जिसका मतलब कै कि कांसे के इस्तेमाल से दिमाग तेज़ होता है। ऐसा माना जाता है कि कांसे का इस्तेमाल अगर खाने और पानी पीने के लिए रोज़ाना किया जाए तो ये हमारी इम्यूनिटी भी ठीक करता है क्योंकि कांसे से खाना प्यूरिफाई होता है। 

kansa glases

इसे जरूर पढ़ें- शरीर में हो रही है Vitamin D की कमी तो ये नेचुरल चीज़ें करेंगी पूरा, जानें एक्सपर्ट टिप्स 

कांसे से गर्म रहता है खाना-

कांसे के बर्तन लंबे समय तक गर्म रह सकते हैं। मेटल की प्रॉपर्टीज की बात करें तो ये हीट का अच्छा कंडक्टर है और इससे बहुत लंबे समय तक हीट रिटेन की जा सकती है। इससे खाना गर्म होता है और लंबे समय तक ये बर्तन खाने को एक जैसे तापमान पर बनाए रख सकता है। 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Dr Dixa Bhavsar (@drdixa_healingsouls)

कांसा के बर्तन खत्म करते हैं जर्म्स- 

डॉक्टर दीक्षा के मुताबिक कांसा के बर्तनों में जर्मिसाइडल खूबियां होती हैं जो कांसे के प्रकार पर निर्भर करती हैं। ये खाने से संपर्क में आते ही कुछ मिनटों से लेकर कुछ घंटों तक में ये खाने के बैक्टीरिया को मार सकता है।  

कांसे के बर्तन का पानी पीने से क्या है फायदा? 

आयु्र्वेद के मुताबिक कांसे से पॉजिटिव चार्ज पानी में जाता है। अगर आपने 8 घंटे तक कांसे के बर्तन में पानी रखा है और उसे पी रहे हैं तो इससे हमारे शरीर के कई दोष खत्म होते हैं। इसलिए ये कहा जाता है कि कांसे के बर्तन में पानी पीना ज्यादा फायदेमंद होता है।  

 

इसे जरूर पढ़ें- मेनोपॉज के पहले कैसी होनी चाहिए डाइट, 40-50 साल की महिलाओं के लिए ये है डाइट प्लान 

एसिडिक फूड्स भी किए जा सकते हैं स्टोर- 

कांसे में एसिडिक या कड़वे और खट्टे खाद्य पदार्थ भी स्टोर किए जा सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि एसिडिक फूड्स कांसे से रिएक्ट नहीं करते हैं। कांसा एक अल्कलाइन मेटल है जिससे ब्लड प्यूरिफिकेशन का काम होता है।  

रोज़ाना क्यों इस्तेमाल करने चाहिए कांसे के बर्तन? 

कांसा हमारे रोज़ाना के काम को आसान बना देता है और क्योंकि ये फायदेमंद है इसलिए हम इसे शरीर को बेहतर बनाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। कांसे के बर्तन न तो टूटते हैं और कई सालों तक बिना स्क्रैच के आसानी से चल सकते हैं। कांसे में कई औषधीय गुण भी होते हैं जिनका ध्यान रखना जरूरी है।  

कैसे पहचानें कांसे के बर्तन? 

कांसे के बर्तनों की आवाज़ इसकी तेज़ आवाज़ से होती है। साथ ही साथ जब इसे छुएं तो ये थोड़ा स्मूथ टच देता है। इसका रंग हल्का ग्रे होता है और आजकल बिलकुल गोल्डन रंग में भी कांसे के बर्तनों की आवक हो गई है। कांसे को अगर बहुत ज्यादा गर्म किया जाए तो ये लाल होने लगता है।  

कांसे के बर्तनों का उपाय तो हमने देख ही लिया है और कांसे के बर्तन अगर आप खाने-पीने के लिए इस्तेमाल करते हैं तो ये बहुत ही अच्छे साबित हो सकते हैं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से