आप गर्म पानी से नहाते हैं या ठंडे पानी से? अजी ये सवाल बेतुका नहीं आपकी सेहत से जुड़ा हुआ है। क्या आपने कभी सोचा है कि सिर्फ नहाने के तरीके से ही आपकी बहुत सारी समस्याएं हल हो सकती हैं? नहीं-नहीं यहां हम पानी में नमक डालकर नहाने की बात नहीं कर रहे हैं। वो तो स्किन एक्सफोलिएशन और वास्तु शास्त्र से जुड़ा एक उपाय हो सकता है। हम यहां बात कर रहे हैं खास तौर पर आपकी हेल्थ की। दरअसल, लोगों के नहाने की आदतें अलग-अलग होती हैं और उसका शरीर पर असर भी अलग होता है। 

गर्म पानी से नहाने वाले लोगों के दिल की सेहत ज्यादा बेहतर होती है। ये हम नहीं कह रहे बल्कि एक रिसर्च के हिसाब से बातें सामने आई हैं। रिसर्च भी कोई ऐसी-वैसी नहीं बल्कि वो रिसर्च जो दो दशकों से चली आ रही है और जिसमें हज़ारों लोगों को स्टडी किया गया है। रिसर्च के हिसाब से हर रोज़ गर्म पानी से नहाने से दिल की बीमारी और स्ट्रोक का खतरा काफी कम हो जाता है। 

किस रिसर्च में सामने आए थे ये तथ्य?

जर्नल हार्ट (Journal Heart) में पब्लिश हुई एक स्टडी कहती है कि हमारी कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ को ठीक करने के लिए रोज़ाना गर्म पानी से नहाना ज्यादा बेहतर हो सकता है। अगर आप हफ्ते में 1-2 बार गर्म पानी से नहाते हैं तो उसकी तुलना में ये ज्यादा बेहतर हो सकता है। ये स्टडी जापान में की गई है। 

रिसर्चर्स के मुताबिक, 'ज्यादा समय के लिए हॉट टब बाथ हाइपरटेंशन का रिस्क कम कर सकता है और इससे कार्डियोवैस्कुलर डिजीज में राहत मिलती है। ऐसा इसलिए क्योंकि ये हाइपरटेंशन का काफी हद तक कम कर देता है।'

मैं आपको बता दूं कि जापानी Bathing तकनीक में नहाने के कई स्टेप्स होते हैं और उसमें हॉट टब बाथ अहम होता है। जापान में नहाना किसी रिवाज से कम नहीं है जो पूरे दिन की थकान को हटाया जाता है। 

hot water bath

इसे जरूर पढ़ें- क्या आप जानती हैं कि बाथटब में इस तरह नहाने से आपके चेहरे पर आएगा ग्लो

इस स्टडी में लिए गए इतने सैंपल-

ऐसा नहीं है कि इस स्टडी में कम लोगों पर टेस्ट किए गए हैं। जापान पब्लिक हेल्थ सेंटर द्वारा की गई इस स्टडी में 61000 मिडिल एज्ड एडल्ट्स के सैम्पल्स के आधार पर स्टडी की गई है। 

वैसे मैं आपको बता दूं कि इस स्टडी पर रिसर्चर्स ने दो दशक लगा दिए हैं। 1990 में 43000 पार्टिसिपेंट्स के साथ इस स्टडी की शुरुआत की गई है। सभी पेशंट्स को 2009 तक ट्रैक किया गया जिसमें से मरीज़ों की कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ का अंदाज़ा लगाया गया। इसके बाद 30, 076 लोगों को और शामिल किया गया। कुल मिलाकर इस मॉनिटरिंग पीरियड में सिर्फ 2097 ही दिल की बीमारी के केस सामने आए। 

ये स्टडी कुछ महीनों पहले ही जर्नल हार्ट में पब्लिश हुई है और इसके नतीजों ने ये साबित कर दिया है कि लोगों की लाइफस्टाइल, एक्सरसाइज, एल्कोहॉल इनटेक, बीएमआई और एवरेज नींद के साथ-साथ मेडिकल हिस्ट्री और नहाने की आदतों से भी फर्क पड़ता है। 

hot water bathing

इसे जरूर पढ़ें- खूबसूरत स्किन और मजबूत बालों के लिए नहाते वक्त ना करें ये 5 गलतियां 

गर्म पानी से नहाने से किन चीज़ों में मिलता है आराम? 

- ये कार्डियोवैस्कुलर डिजीज के रिस्क को 28 प्रतिशत तक कम कर सकता है

- इससे हाइपरटेंशन खत्म होता है

- इससे स्किन एक्सफोलिएशन सही तरह से होता है

- ये स्ट्रोक की गुंजाइश को कम करता है

- ये अच्छी नींद के लिए भी सहायक है

- ये मसल्स के तनाव को भी कम करता है

- इससे कोल्ड में भी राहत मिलती है 

Recommended Video

हालांकि, इसके कई फायदे बताए गए हैं, लेकिन ये साफ नहीं है कि पानी का तापमान कितना रखना होगा। बहुत गर्म पानी कई लोगों को नुकसान भी पहुंचा सकता है।  

वैसे भी आपने ये तो नोटिस किया ही होगा कि जब भी आप गर्म पानी से नहाते हैं तब नींद काफी बेहतर आती है। बस इसी को नया नियम मान लीजिए। वैसे भी सर्दियां आने को हैं और कई लोग गर्म पानी से नहाना शुरू कर चुके होंगे। अगर आपने भी ऐसा कोई एक्सपेरिमेंट किया है और गर्म पानी से नहाने के फायदों के बारे में जानती हैं तो हमें हरजिंदगी के फेसबुक पेज पर बताएं। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।