• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

नया घर बनवाते समय वास्तु के इन नियमों का रखें ध्यान

अगर आप नया घर बनवाने जा रही हैं तो वास्तु के कुछ नियमों का विशेष रूप से ध्यान रखें।
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
Published -06 Aug 2022, 16:23 ISTUpdated -06 Aug 2022, 16:23 IST
Next
Article
vastu tips

एक खूबसूरत सा घर बनवाना हर किसी का सपना होता है। व्यक्ति की यही इच्छा होती है कि उसके नए मकान में किसी तरह की कोई कमी ना रह जाए। इसलिए, व्यक्ति मकान बनवाते समय हर छोटी-छोटी बात का ध्यान रखता है। एक घर व्यक्ति का आशियाना होता है और घर में संचारित होने वाली ऊर्जा व्यक्ति के संपूर्ण जीवन पर अपना असर डालती है। इसलिए, घर बनवाते समय सिर्फ अच्छी क्वालिटी का ही सामान लगवाना काफी नहीं होता है, बल्कि उसे वास्तु के नियमों का भी ख्याल रखना चाहिए।

expert anand bhardwaj

जी हां, एक बार घर बन जाने के बाद वास्तु के अनुसार उसमें फेर-बदल करना या फिर तोड़-फोड़ करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है, लेकिन अगर आप पहले ही वास्तु के कुछ छोटे-छोटे नियमों का ध्यान रखती हैं तो इससे आपके घर में हमेशा ही खुशहाली और सकारात्मकता का संचार होता है। तो चलिए आज इस लेख में वास्तुशास्त्री डॉ. आनंद भारद्वाज आपको बता रहे हैं कि नया घर बनवाते समय किन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखा जाना चाहिए-

यूं करें नींव की खुदाई

नए मकान में जब आप नींव की खुदाई करवा रहे हैं तो ध्यान रखें कि उत्तर व पूर्व की दिशा में सबसे पहले खुदाई करवाएं। वहीं, पश्चिम की दिशा को सबसे अंत में खोदें व दक्षिण की दिशा में आप नींव भरने का कार्य करें। वहीं मकान की चिनाई करते हुए आप दक्षिण की दीवार को सबसे पहले बनाएं। उसके बाद पश्चिम की दिशा की दीवार का निर्माण करें। अंत में, आप उत्तर व पूर्व दिशा में दीवार बनाएं।

इसे जरूर पढ़ें- Expert Tips : जानें वास्तु के हिसाब से कैसा होना चाहिए घर का गेस्ट रूम

ऐसी हो खिड़कियां

जब आप मकान बनवा रहे हैं तो उसकी खिड़कियों पर भी पर्याप्त ध्यान दें। अक्सर लोग इसे नजरअंदाज कर देते हैं। हमेशा उत्तर व पूर्व में बड़ी से बड़ी खिड़की बनाने का प्रयास करें। जबकि दक्षिण व पश्चिम की दिशा में आप खिड़की का साइज बेहद कम रखने की कोशिश करें। आप चाहें तो इसे स्किप भी कर सकती हैं।(Vastu Tips: दक्षिण दिशा में न रखें ये चीजें)

पानी के नल की दिशा

tap direction

घर बनवाते समय पानी के नल की दिशा का भी ध्यान रखा जाना आवश्यक है। पानी के नल को लगाने के लिए उत्तर या पूर्व की दिशा सबसे अच्छी मानी गई है। कभी भी भूल से भी किसी भी नल को दक्षिण या पश्चिम दिशा में ना लगाएं।

Recommended Video

दिशाओं के अनुसार हो कंसट्रक्शन

जब आप नया घर बनवा रही हैं तो हर चीज को उसके सही स्थान या दिशा के अनुसार ही डिजाइन करवाएं। मसलन, किचन के लिए दक्षिण पूर्व की दिशा सबसे अच्छी मानी जाती है। जबकि पूजा घर उत्तर पूर्व अर्थात् ईशान कोण में होना चाहिए।

ठीक इसी तरह, वायु कोण अर्थात् उत्तर पश्चिम दिशा में बच्चों का कमरा व गेस्ट रूम डिजाइन करवाया जा सकता है। वहीं, घर के मुखिया का स्थान या कमरा दक्षिण पश्चिम दिशा में बनवाना चाहिए। घर में शौचालय को पश्चिम की दिशा के मध्य में बनवाना अधिक उचित माना गया है। 

कलर का रखें ख्याल

colour

एक बार घर बन जाने के बाद उसे कलर करवाने की बारी आती है। ऐसे में ध्यान दें कि आप घर में हल्के रंगों का ही चयन करें। यह ना केवल आंखों को अच्छे लगते हैं, बल्कि घर में एक सकारात्मकता भी लेकर आते हैं। वहीं, घर की छतों के लिए सफेद कलर का इस्तेमाल करना सबसे अच्छा माना जाता है। छतें हमेशा आकाश तत्व को इंगित करती हैं, इसलिए व्हाइट कलर का इस्तेमाल करने से लाभ होता है।(वास्तु के अनुसार किचन कहां होना चाहिए)

इसे जरूर पढ़ें- Expert Tips : घर की सुख समृद्धि के लिए वास्तु के हिसाब से घर की किस दिशा में रखें ये 5 पौधे


तो अब आप भी इन वास्तु नियमों को ध्यान में रखते हुए अपना नया घर बनवाएं और अपने जीवन में खुशहाली लेकर आएं। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।