विवाह यकीनन एक रिश्ते को आधार व मजबूती प्रदान करता है, लेकिन सिर्फ सात फेरों को ही सफल रिश्ते की गारंटी नहीं माना जा सकता। खासतौर से, आज के समय में जब रिश्ते बेहद काम्पलिकेटिड और नाजुक बनते जा रहे हैं, ऐसे में सिर्फ विवाह कर लेने से ही रिश्ता सफल नहीं होता। बढ़ते तलाक के मामले तो कम से कम यही साबित करते हैं। कई बार ऐसा भी देखने में आता है कि विवाह के बाद रिश्ते कुछ इस कदर बिगड़ जाते हैं कि दो लोग एक रिश्ते में होकर भी एक-दूसरे से अनजान ही होते हैं। ऐसे में तलाक ना होकर भी उनके बीच तलाक जैसा ही सबकुछ होता है, बस एक कानूनी मुहर की कमी होती है। बदलते समय के साथ रिश्तों की परिभाषा भी बदलने लगी है और इसलिए अब रिश्तों को पहले से अधिक संभालने की जरूरत है। 

अगर आप भी चाहती हैं कि शादी के बाद आपका रिश्ता यूं ही प्यार भरा रहे और इसमें खुशियां व मुस्कुराहट बनी रहे, तो जरूरी है कि आप शुरूआती स्टेज में ही कुछ रिलेशनशिप गोल्स सेट कर लें। तो चलिए जानते हैं उन रिलेशनशिप गोल्स के बारे में, जो वैवाहिक रिश्ते को और भी अधिक मजबूती प्रदान करते हैं और उसे हमेशा खुशहाल बनाए रखते हैं-

इसे भी पढ़ें: अगर करती हैं किसी से प्यार तो ये 7 इशारे मिलने के बाद बना लें उसे अपना हमसफर

इसलिए जरूरी है मैरिज गोल्स

set marriage goals to make your relationship stronger inside four

मैरिज गोल्स का नाम सुनने के बाद अधिकतर कपल्स को यही लगता है कि इसकी क्या जरूरत है। लेकिन वास्तव में एक रिश्ते को बेहतर बनाने के लिए बेहद जरूरी है। दरअसल, जब आपकी शादी नहीं होती है तो आप अपने पार्टनर के लिए काफी कुछ सोचते हैं और उनके लिए करने का प्रयास करते हैं, लेकिन शादी के बाद इन प्रयासों में कमी आ जाती है। वहीं दूसरी ओर, अगर आप मैरिज गोल्स सेट करती हैं तो इससे आपको लगता है कि अपनी शादी को भी बेहतर बनाने के लिए आपको प्रयास करने होंगे। इस तरह, आप एक-दूसरे का अधिक ख्याल रखते हैं। एक-दूसरे के साथ अधिक समय बिताने की कोशिश करते हैं और सामने वाले की खुशी व इच्छाओं का सम्मान करते हैं। आसान शब्दों में, मैरिज गोल्स शादी के बाद दो लोगों को अपने रिश्ते में खुशियां तलाशने का और उन खुशियों को ताउम्र यूं ही बरकरार रखने का अवसर प्रदान करता है।

यूं सेट करें मैरिज गोल्स

set marriage goals to make your relationship stronger inside three

जब बात मैरिज गोल्स की होती है तो इसका अर्थ यह नहीं है कि आप सिर्फ एक-दूसरे की केयर या जरूरतों को ही ध्यान रखें। शादी के बाद आपको अपनी पूरी जिन्दगी एक-दूसरे के साथ बितानी है, इसलिए आपके गोल्स भी कुछ इस तरह के बनाने चाहिए। इसलिए आप इमोशनल से लेकर फिजिकल और फाइनेंशियल हर बात का ध्यान रखें। आपके मैरिज गोल्स में हर छोटी-बड़ी बात का ध्यान रखा जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: ये 3 गलतियां ब्रेकअप के बाद करने से बिखर जाती है जिंदगी

फाइनेंशियल गोल्स

set marriage goals to make your relationship stronger inside two

अधिकतर कपल्स के बीच लड़ाई या रिश्ता टूटने की मुख्य वजह पैसा होता है। इसलिए शुरूआत में ही कुछ फाइनेंशियल गोल्स सेट कर लेना अच्छा होता है। इसके लिए आप दोनों की आमदनी को जोड़कर उसमें अपने जरूरी खर्चे, सेविंग्स को तो शामिल करें ही, साथ ही एक-दूसरे की इच्छाओं का भी सम्मान करें। मसलन, आपके पार्टनर को घुमक्कड़ी का शौक है तो आप एक मासिक बजट अवश्य तय करें, जिसमें आप दोनों कहीं घूम आएं।

रिलेशनशिप गोल

set marriage goals to make your relationship stronger inside one

फाइनेंशियल गोल्स के बाद बारी आती है रिलेशनशिप गोल्स की। इस गोल्स को सेट करते समय आप यह सुनिश्चित करें कि चाहे आप दोनों कितने भी बिजी हों, लेकिन दिन का थोड़ा समय ऐसा जरूर निकालेंगे, जिसमें आप दोनों एक-दूसरे को क्वालिटी समय दे पाएं। इसके अलावा आपके रिलेशनशिप गोल्स सिर्फ आप दोनों तक ही सीमित नहीं होने चाहिए, बल्कि आप अपने सास-ससुर के लिए भी थोड़ा वक्त अवश्य निकालें। इससे आपका उनके साथ भी रिश्ता अच्छा बनेगा और आपके पार्टनर के साथ भी। साथ ही आप कुछ हेल्थ गोल्स भी सेट कर सकती हैं। जैसे हर दिन नियम से अपने पार्टनर के साथ सुबह वॉक करना। यह आपके रिश्ते और हेल्थ दोनों को बेहतर बनाएगा।