पिछले कुछ समय में कपल्स के बीच रिश्तों को देखने का नजररिया बदला है और यही कारण है कि आज के समय में लिव इन रिलेशन एक आम बात है। लेकिन फिर भी समाज का नजरिया अभी पूरी तरह बदलना बाकी है। कपल्स को भले ही लिव इन रिलेशन में किसी तरह की परेशानी नजर न आती हो लेकिन फिर भी ऐसे कपल्स को अक्सर लोगों की तरह-तरह की बातें सुननी पड़ती हैं। 

इसे भी पढ़ें: सोनम कपूर को नहीं पसंद लिव-इन-रिलेशनशिप, अगर आप को है, तो जाने कुछ जरूरी बातें

खासतौर से, भारत में आज भले ही यूथ के सोचने का तरीका बदल गया हो, लेकिन फिर भी लोग विवाह को ही प्राथमिकता देते हैं। ऐसे में अक्सर लोग लिव इन रिलेशन को एक संशय की नजर से देखते हैं और अक्सर कपल्स को कई तरह की सलाह देते हैं। अगर आप भी लिव इन रिलेशन में हैं तो यकीनन आपको भी लोगों की इन बातों को सुनना पड़ता ही होगा।

शादी क्यूं नहीं कर लेते

 people in live in hear often

जब एक कपल लिव इन रिलेशन में होता है और हैप्पी होता है तो अक्सर लोगों को यह परेशानी होती है कि अगर उनका आपसी तालमेल अच्छा है तो उन्हें शादी कर लेनी चाहिए। अगर आपको साथ रहते हुए लंबा वक्त हो जाए तो आस-पड़ोस के लोग अक्सर कह देते हैं कि तुम दोनों को अब शादी कर लेनी चाहिए। हालांकि लोगों की मंशा सही हो लेकिन यह पूरी तरह से कपल की इच्छा और उनकी भविष्य की प्लानिंग पर निर्भर करता है कि वह अपने रिश्ते को कब किस तरह आगे बढ़ाना चाहता है।

तुम्हें दोस्तों की क्या जरूरत

 people in live in hear often ()

अगर आप लिव इन रिलेशन में हैं तो यकीनन आपका अपने पार्टनर से दोस्ताना बिहेवियर होगा और इसलिए लोगों को किसी भी लिव इन कपल के फ्रेंडली रिलेशन को देखकर लगता है कि वह एक-दूसरे के लिए संपूर्ण है। यकीनन अगर पार्टनर अच्छा हो तो वह आपका पूरक बन जाता है, लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि उस रिश्ते से बाहर आपकी कोई दुनिया नहीं है।

लिव इन रिलेशन में होने का अर्थ यह तो कतई नहीं है कि आप अपनी एक अलग पहचान खो दें। किसी भी रिलेशन में आपका एक पर्सनल स्पेस होना बेहद जरूरी है।

लिव इन रिलेशन में है असली मजा

people in live in hear often ()

वैवाहिक जीवन यकीनन अपने साथ कई तरह की जिम्मेदारियां लेकर आता है और इसलिए कपल्स लिव इन रिलेशन का रास्ता चुनते हैं। लेकिन वास्तव में किसी भी रिश्ते को निभाने में उतनी ही मेहनत और कमिटमेंट की जरूरत होती है। अमूमन लोग सोचते हैं कि लिव इन रिलेशन वास्तव में एक फैटेंसी की तरह है, जिसमें कपल्स हमेशा ही हैप्पी व केयरिंग होते हैं। 

इसे भी पढ़ें: दीपिका ने खोला राज, रणवीर सिंह के साथ लिव इन रिलेशन में क्यों नहीं रही

लेकिन ऐसा सच में नहीं होता। इस रिश्ते में भी कई तरह की परेशानियां कपल्स को झेलनी पड़ती हैं। चूंकि इस रिश्ते में वैवाहिक रिश्ते की तरह सुरक्षा की भावना का अभाव होता है, इसलिए अक्सर पार्टनर ओवर प्रोटेक्टिव हो जाता है, जिससे रिश्ते में घुटन या परेशानी होती है। इतना ही नहीं, अन्य कपल्स की तरह उनके रिश्ते में भी कई तरह के इश्यू सामने आते हैं। इसलिए जो लोग लिव इन रिलेशन को एक फैंटेसी समझते हैं, वह वास्तव में गलत होते हैं।